भूलेख उत्तराखंड: खसरा खतौनी, भू अभिलेख/भू नक्शा, जमाबंदी नकल (Bhulekh Uttarakhand)

Uttarakhand Bhulekh: देवभूमि भूलेख उत्तराखंड, खसरा खतौनी,भू नक्शा/भू अभिलेख, जमाबंदी नकल, UK Land MAP, उत्तराखंड भूलेख ऑनलाइन पोर्टल पर दी जाने वाली सेवाओं की जानकारी आपको इस लेख में प्रदान की जाएगी। उत्तराखंड सरकार द्वारा आज के डिजिटल दौर में उत्तराखंड भूलेख, खसराखतौनी,देवभूमि भू-नक्शा/भू अभिलेख, जमाबंदी नकल की जानकारी को पूरी तरह से डिजिटल कर दिया गया है।

उत्तराखंड राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग ऑनलाइन devbhoomi.uk.gov.in/ आधिकारिक वेबसाइट के द्वारा भूमि के रिकॉर्ड जैसे:- जमाबंदी नक़ल, भूलेख नक्शा, खसरा, खतौनी संख्या, खतौनी की प्रतिलिपि तथा अन्य सुविधाएं प्रदान कर रहा है। इस Bhulekh Uttarakhand के माध्यम से सभी जिलों के भूमि रिकॉर्ड ऑनलाइन प्राप्त किये जा सकते है।

देवभूमि भूलेख उत्तराखंड, भू नक्शा, खसरा खतौनी

भूलेख शब्द दो शब्दों से मिलकर बना है भू+लेख=भूलेख, अर्थात जिसमे भूमि से सम्बंधित जानकारी लिखी जाती हो। यदि आप उत्तराखंड में कोई भूमि खरीदना अथवा बेचना चाहते है तो यह आवश्यक है की आप Uttarakhand Land Record Map/भू-नक्शा अवश्य देखे। पहले उत्तराखंड में भूमि के रिकॉर्ड की जानकारी के लिए सरकारी दफ्तरों के चक्कर लगाने पड़ते थे जिसमे  समय तथा धन व्यय होता था, परन्तु अब आप भूमि रिकॉर्ड/भू नक्शा की जानकारी Bhulekh Uttarakhand “देवभूमि पोर्टल” पर प्राप्त कर सकते है।

भूलेख उत्तराखंड पोर्टल की शुरुआत के फलस्वरूप कंप्यूटर या स्माटफोन पर कुछ ही क्लिक्स के द्वारा भूलेख,भू नक्शा की जानकारी तक पहुंच बनाई जा सकती है। इस पोर्टल का निर्माण भूलेख डाटा एपीआई के प्रयोग से भू-अभिलेख डाटा, भू-अभिलेख के मालिक की जानकारी को कम्पूटीकृत करने के उद्देश्य से किया गया है। जिससे जमीन के मालिक की जानकारी जिसे “खाता” भी कहते है आसानी से उपलब्ध हो सके।

Highlights of Bhulekh Uttarakhand

नामभूलेख उत्तराखंड, Bhulekh Uttarakhand
विभागराजस्व विभाग, उत्तराखंड
आरम्भ की गईउत्तराखंड सरकारी योजनाएं
लाभार्थीराज्य के लोग
भू अभिलेख देखने की प्रकियाऑनलाइन
उद्देश्यभूमि रिकॉर्ड ऑनलाइन उपलब्ध कराना
श्रेणीउत्तराखंड सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइटdevbhoomi.uk.gov.in/

भूलेख उत्तराखंड पोर्टल का उद्देश्य

हम जानते है कि इस ऑनलाइन सुविधा के शुरू होने से पहले उत्तराखंड राज्य के नागरिकों को अपनी ज़मीन से सम्बंधित जानकारी लेने के लिए कार्यालय के चक्कर लगाने पड़ते थे जिससे लोगो को कठिनाइयों का सामना करना पड़ता था और उनका काफी समय भी ख़राब होता था इसलिए डिजिटल इंडिया प्रोग्राम के तहत, देश के सभी राज्यों की भूमि की जानकारी को डिजिटल कर दिया गया है।

इस भूलेख उत्तराखंड पोर्टल का उद्देश्य यह है कि अब राज्य के नागरिक घर बैठे इंटरनेट के माध्यम से उत्तराखंड भूलेख ऑनलाइन पोर्टल पर जाकर आसानी से ऑनलाइन भूमि रिकॉर्ड देख सकते है और अब राज्य के नागरिकों को कही जाने कि आवश्यकता नहीं होगी। इस ऑनलाइन सुविधा के माध्यम से लोगो के समय कि भी बचत होगी, जो इस पोर्टल के उद्देश्य को पूरा करती है।

Uttarakhand Bhulekh ऑनलाइन सुविधा के लाभ

  • इस भूलेख उत्तराखंड ऑनलाइन पोर्टल की सहायता से उत्तराखंड राज्य के लोग घर बैठे इंटरनेट के ज़रिये आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन भूमि रिकॉर्ड की जानकारी ले सकते हैं।
  • इस Bhulekh Uttarakhand के माध्यम से राज्य के नागरिको की समय की भी बचत होगी।
  • उत्तराखंड राज्य के नागरिक देश के किसी भी कोने से Uttarakhand Bhulekh पोर्टल से ऑनलाइन मोड में अपने भूमि से जुड़ी पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते है।
  • अब राज्य के लोगो को किसी कार्यालय के चक्कर लगाने की आवश्यकता नहीं होगी और न ही किसी भी तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ेगा।
  • इस पोर्टल के माध्यम राज्य सरकार और लोगो के बीच पारदर्शिता आएगी और इससे भ्रष्टाचार कम होगा।
  • उत्तराखंड राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के द्वारा ऑनलाइन devbhoomi.uk.gov.in/ आधिकारिक वेबसाइट के द्वारा भूमि के रिकॉर्ड जैसे- जमाबंदी नक़ल, भूलेख नक्शा, खसरा, खतौनी संख्या, खतौनी की प्रतिलिपि तथा अन्य सुविधाएं प्रदान की जा रही है।

भूलेख उत्तराखंड: खसरा खतौनी नकल, जमाबंदी ऑनलाइन कैसे देखे?

देवभूमि पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन खसरा खतौनी की नक़ल देखने के लिए आपको दिए गए चरणों का पालन करना होगा-

  • सबसे पहले आपको देवभूमि पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जायेगा।
Bhulekh Uttarakhand
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको Public ROR का विकल्प दिखाई देगा। आपको इस विकल्प पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके सामने नया पेज खुल जायेगा।
Bhulekh Uttarakhand
  • इस पेज पर आपको अपने जनपद,तहसील व ग्राम का चयन कर लेना है। आप अपने ग्राम के पहले अक्षर के द्वारा भी अपने ग्राम के नाम की खोज कर सकते है।
  • अब आप अपने खाता संख्या,खसरा/गाटा संख्या तथा खातेदार के नाम से खतौनी नकल देख सकते है।
Uttarakhand Bhulekh Online Check
  • यदि आप खातेदार के नाम से खाते की नकल देखना चाहते हैं तो “खातेदार के नाम द्वारा”के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • अब आप अक्षर तालिका से अपने नाम के अक्षर लिखकर “खोजे” विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • अब आप पीडीऍफ़ फॉर्मेट में Bhulekh UK (ROR) विवरण ऑनलाइन देख पाएंगे जिसे आप डाउनलोड अथवा प्रिंट भी कर सकते है।

उत्तराखंड भू नक्शा | मैप नकल ऑनलाइन कैसे देखें?

आप में से अधिकतर लोगो के दिमाग में यह सवाल आता है की भू नक्शा क्या होता है वह इसकी क्या आवश्यकता है। दोस्तों भू नक्शा जमीन का नक्शा होता है जिसमें अन्य चीजें जैसे जमीन का प्रकार, खातेदार का विवरण आदि उपलब्ध होता है| यदि आप कोई जमीन खरीदने जा रहे है तो आप भू नक़्शे के द्वारा जमीन के असली मालिक की जानकारी प्राप्त कर सकते है। वह सभी लोग जो उत्तराखंड भू नक्शा देखना चाहते हैं तो आपको नीचे दिए गए चरणों का पालन करना होगा: –

  • सबसे पहले आपको भू नक्शा की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जायेगा।
Bhulekh Map UK
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको जिले, तहसील तथा पंचायत का चयन कर देना है।
  • इसके बाद आपको खसरा खतौनी नंबर अथवा नाम से जमीन का ब्यौरा प्रदर्शित हो जायेगा।

रिकॉर्ड ऑफ़ राइट्स (ROR) की अधिकृत प्रति कैसे प्राप्त करें?

उत्तराखंड के सभी निवासी Bhulekh Uttarakhand, जमीन के रिकॉर्ड की जानकारी, UK भू नक्शा, खसरा खतौनी नंबर की जाँच ऑनलाइन कर सकते है। वह सभी विवरण पीडीऍफ़ फॉर्मेट में डाउनलोड व प्रिंट भी कर सकते है पर यह भूमि रिकॉर्ड की अधिकृत प्रति नहीं है।

आरओआर की अधिकृत प्रति प्राप्त करने के लिए नागरिकों को संबंधित तहसील के भूमि रिकॉर्ड कंप्यूटर केंद्र का दौरा करना पड़ता है। यहाँ आप कुछ निर्धारित शुल्क का भुगतान कर भूमि रिकॉर्ड की अधिकृत कॉपी प्राप्त कर सकते है। अधिकृत शुल्क का विवरण इस प्रकार है-

  • भूमि रिकॉर्ड RoR के पहले पेज के लिए 15/ रू
  • भूमि रिकॉर्ड RoR बाद के पृष्ठों के लिए 5 / रू

भूलेख उत्तराखंड देवभूमि पोर्टल की आवश्यकता एवं लाभ

किसी  व्यक्ति के लिए उसकी भूमि एक बहुत ही महत्वपूर्ण और मूल्यवान संपत्ति होती है इसके द्वारा व्यक्ति की धन-सम्पदा के बारे में जानकारी मिलती है, अतः भूमि की खरीद-फरोख्त से सम्बंधित जानकारी का रिकार्ड रखना बहुत आवश्यक है। भूमि के अभिलेखों में विभिन्न भूमि विवरण शामिल हैं जैसे खसरा, खसरा नंबर, खतौनी, जमाबंदी, फर्द, जमाबंदी नकल आदि प्रमुख है।

भूमि अभिलेख वे दस्तावेज होते हैं, जिससे जमीन के रिकॉर्ड, उसके उत्परिवर्तन, बिक्री और उससे संबंधित अन्य विवरणों की जानकारी प्राप्त होती है। राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग द्वारा भूमि रिकॉर्ड कम्प्यूटरीकरण और डिजिटलीकरण से नागरिको को बहुत मदद पहुंचेगी। पहले इस प्रकिया में नागरिको को राजस्व कार्यालय या तहसील के चक्कर लगाने पड़ते थे परन्तु अब सभी प्रक्रिया ऑनलाइन हो गई है।

देवभूमि भूलेख उत्तराखंड पोर्टल राज्य के सभी नागरिकों को भूमि रिकॉर्ड की ऑनलाइन जांच करने के लिए एक साझा मंच प्रदान करता है। भूलेख उत्तराखंड पोर्टल के उपयोग तथा इससे नागरिको को पहुंचने वाले लाभ इस प्रकार है-

  • भूमि की खरीद-फ़रोख़्त के समय खतौनी की मदद से भूमि पर अपने स्वामित्व को सत्यापित किया जा सकता है।
  • किसी भी बैंक में ऋण के लिए आवेदन करते समय बैंक आपसे खसरा विवरण की मांग करता है।
  • चुनाव के समय उम्मीदवारों को अपनी हैसियत को प्रमाणित करने के लिए भूमि होने की स्थिति में भूलेख विवरण की आवश्यकता होती है।
  • इसके साथ ही सिविल मुकदमेबाजी या किसी अन्य कानूनी उद्देश्य के लिए अदालत में पेश करने के लिए भी भूमि विवरण की आवश्यकता हो सकती है।
  • यह पारदर्शी भूमि रिकॉर्ड प्रबंधन प्रणाली की सुविधा प्रदान करता है और भूमि से संबंधित अपराधों जैसे अवैध संपत्ति, धोखाधड़ी आदि को कम करता है।
  • अब कोई भी नागरिक अपने नाम, खसरा नंबर, खाता संख्या का उपयोग करके भूमि रिकार्ड आसानी से प्राप्त कर सकता है।

यह भी पढ़े – उत्तराखंड मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म

हम उम्मीद करते हैं की आपको भूलेख उत्तराखंड से सम्बंधित जानकारी जरूर लाभदायक लगी होंगी। इस लेख में हमने आपके द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालो के जवाब देने की कोशिश की है।

यदि अभी भी आपके पास इस योजना से सम्बंधित सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। इसके साथ ही आप हमारी वेबसाइट को बुकमार्क भी कर सकते हैं।

पूछे गए प्रश्नों के उत्तर

उत्तराखंड में भू अभिलेखों की ऑनलाइन जाँच कैसे की जा सकती है?

भूलेख उत्तराखंड खसरा खतौनी सेक्शन में सभी जानकारी दी गई है आप दिए गए चरणों का पालन कर आसानी से भूमि अभिलेख ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं।

भूलेख खतौनी (RoR) या भूमि रिकॉर्ड विवरण की अधिकृत प्रतिलिपि कैसे प्राप्त करें?

इसके लिए आपको तहसील के भूमि रिकॉर्ड कंप्यूटर केंद्र का दौरा करना पड़ेगा, यहाँ आप कुछ शुल्क का भुगतान कर भूमि रिकार्ड की अधिकृत प्रतिलिपि प्राप्त कर सकते है।

रिकार्ड ऑफ़ राइट (RoR) प्राप्त करने के लिए सरकार द्वारा निर्धारित शुल्क क्या है?

आप आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से रिकार्ड ऑफ़ राइट (RoR) के लिए निर्धारित किये गए शुल्क की जानकारी ले सकते हैं।

देवभूमि के नाम से कौन सा राज्य प्रसिद्ध है?

भारत में उत्तराखंड राज्य देवभूमि के नाम से प्रसिद्ध है।

Leave a Comment