बिहार प्रवासी मजदूर घर वापसी पंजीकरण: Bihar Pravasi Yatra Panjikaran, हेल्पलाइन नंबर

बिहार प्रवासी मजदूर घर वापसी रजिस्ट्रेशन (Bihar Pravasi Yatra Panjikaran) एवं हेल्पलाइन नंबर की जानकारी आपको इस लेख में प्रदान की जाएगी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लॉक-डाउन की स्थिति में दूसरे रसज्यो में फंसे हुए प्रवासियों को अपने प्रदेश में वापस लाने के लिए प्रवासी श्रमिक/मजदूर घर वापसी रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया की शुरुआत की है।

भारत में बढ़ते कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए केंद्र सरकार द्वारा लॉक-डाउन की अवधि को दो हफ्तों के लिए 17 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया है। ऐसे में दूसरे राज्यों में काम करने गए प्रवसि दैनिक मजदूर को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इस समस्या के समाधान के लिए बिहार की नीतीश कुमार सरकार द्वारा प्रवसि मजदूर की घर वापसी के लिए  बिहार प्रवासी मजदूर घर वापसी पंजीकरण पोर्टल शुरू किया है।

Bihar Pravasi Yatra Panjikaran

आप सभी जानते हैं कि भारत में कोरोना वैश्विक महामारी के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए केंद्र सरकार द्वारा लॉक-डाउन में तीसरी बार विस्तार किया गया है। अब लॉक-डाउन को कुछ रियायतों के साथ 17 मई तक के लिए बढ़ा दिया है। ऐसे में दूसरे राज्यों में काम करने गए प्रवासी मजदूरो की प्रदेश में वापसी के लिए covid19.bihar.gov.in/ पोर्टल  शुरुआत की है।

बिहार प्रवासी मजदूर घर वापसी

इस पोर्टल पर विदेशो में फंसे हुए, दुसरो राज्यों में फंसे हुए बिहार के स्टाहइ निवासी और बिहार में फंसे हुए दूसरे राज्यों के निवासी भी घर वापसी के लिए ऑनलाइन मोड में पंजीकरण करा सकेंगे। मुख्य्मंत्री नीतीश कुमार द्वारा इसके लिए नोडल अधिकारी की नियुक्ति के आदेश भी दिए जा चुके हैं। इसके आलावा टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया गए हैं।

कृषि इनपुट अनुदान योजना 2020 | DBT Bihar| ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म

यहाँ इस लेख में हम आपको उन सभी प्रवासी मजदूरो की घर वापसी के लिए पंजीकरण की प्रकिया के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे। हम आपको चरण-दर-चरण मग्दर्शिका प्रदान करेंगे जिसके द्वारा आप ऑनलाइन मोड में बिहार प्रवासी मजदूर घर वापसी पंजीकरण की प्रक्रिया को पूरा कर सकेंगे। इसके साथ ही हम आपको आवश्यक दस्तावेजों के बारे में भी जानकारी देंगे।

बिहार प्रवासी मजदूर घर वापसी योजना प्रमुख तथ्य

योजना का नामबिहार प्रवासी श्रमिक घर वापसी पंजीकरण
आरम्भ की गईमुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा
लाभार्थीप्रवासी मजदूर
पंजीकरण की प्रक्रियाऑनलाइन
उद्देश्यदूसरे राज्यों में फंसे हुए प्रवासी श्रमिकों की घर वापसी
श्रेणीबिहार सरकारी योजनाएँ
आधिकारिक वेबसाइटlabour.bih.nic.in/

बिहार प्रवासी मजदूर घर वापसी नोडल अधिकारी हेल्पलाइन नंबर

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा दूसरे राज्यों में फंसे हुए बिहार के स्थायी निवासियों को बाहर निकालने के लिए निढाल अधिकारियो की नियुक्ति की है। यदि आप भारत में किसी भी राज्य में फंसे हुए हैं तब आपको अपने गृह राज्य बिहार में आने के लिए  नोडल अधिकारी के मोबाइल नंबर पर फोन करना होगा और आपको नोडल अधिकारियों को यह बताना होगा कि आप कौन से राज्य में फंसे हुए हैं।

इसके बाद नोडल अधिकारी द्वारा आपको सभी आवश्यक जानकारी प्रदान की जाएगी। इसके साथ ही आपको निकालने के लिए बसों एवं ट्रेनों की व्यवस्था के सम्बन्ध में भी अपडेट दिया जायेगा। यहाँ हम आपको बिहार प्रवासी मजदूर घर वापसी पंजीकरण के लिए राज्य के अनुसार नोडल अधिकारियो की सूची प्रदान कर रहे हैं। इन नंबरों पर आप सभी आवश्यक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

राज्यनोडल अधिकारी का नाममोबाइल नंबर
दिल्ली हिमाचल प्रदेशपालिका सहानी आईएएस शैलेंद्र कुमार बी ए एस9599823200   9717691086
जम्मू कश्मीर लद्दाखशैलेंद्र कुमार बीए एस9717691086
पंजाबमनजीत सिंह आईपीएस9473191753
हरियाणादिवेश सेहरा आईएएस8544404189
राजस्थानप्रेम सिंह मीणा आईएएस9473191456
गुजरातबी कार्तिकेय आईएएस9810922727
उत्तराखंडविनोद सिंह आईएएस9473191491
उत्तर प्रदेशविनोद सिंह आईएएस अनिमेष पराशर आईएएस9473191491   6203149319
मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़मयंक कुमार आईएएस9473191429
उड़ीसाअनिरुद्ध कुमार आईएएस9473197815
झारखंडचंद्रशेखर आईएएस9661472483
वेस्ट बंगालकिम आईपीएस7739811111
असम मेघालय नागालैंड मणिपुर त्रिपुरा मिजोरम अरुणाचल प्रदेश और सिक्किमआनंद शर्मा आईपीएस8135900400
आंध्र प्रदेश तेलंगानाएम रामाचंदरूडू आईएएस7250687373

वह राज्य जहा से प्रवासी मजदूरों को बाहर लाया जायेगा

बिहार सरकार द्वारा अभी कुछ ही राज्यों में फंसे हुए प्रवासियों को बाहर निकालने के लिए नोडल अधिकारियो के नंबर जारी किये है। इन सभी राज्यों के मजदूर निढाल असधिअरी से संपर्क करके घर वापसी कर सकते हैं।

छत्तीसगढ़दिल्ली
ओरिसाहिमाचल प्रदेश
झारखंडआंध्र प्रदेश
पश्चिम बंगालजम्मू कश्मीर
असमपंजाब
मेघालयहरियाणा
नागालैंडराजस्थान
मणिपुरगुजरात
त्रिपुराउत्तराखंड
मिजोरमउत्तर प्रदेश
अरुणाचल प्रदेशमध्य प्रदेश
सिक्किमतमिलनाडु

बिहार प्रवासी मजदूर घर वापसी पंजीकरण की प्रक्रिया

आप दिए गए चरणों एक द्वारा ऑनलाइन मोड में बिहार प्रवासी मजदूर घर वापसी के लिए पंजीकरण करा सकते हैं। इसके लिए आपको दिए गए चरणों का पालन करना होगा।

  • सबसे पहले आपको COVID 19 बिहार सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुल जायेगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको “प्रवासी यात्रा हेतु पंजीकरण” के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • आपके द्वारा विकल्प पर क्लिक किये जाने के बाद आपके सामने स्क्रीन पर पंजीकरण फॉर्म खुल जायेगा।
  • इस प्रवासी मजदूर घर वापसी पंजीकरण फॉर्म में आपको कुछ जानकारी दर्ज करनी होगी। यहाँ आपको अपना नाम, आयु, वर्तमान स्थायी पता और मोबाइल नंबर की जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • इसके साथ ही आपको अपना ईमेल आईडी, परिवार के सदस्यों की संख्या की भी जानकारी साझा करनी होगी।
  • आपसे पंजीकरण फॉर्म में 14 दिन के क्वारंटाइन के लिए कमरे एवं टॉयलेट की व्यवस्था की जानकारी भी मांगी जाएगी।
  • इसके बाद आपको परिवार के सदस्यों की संख्या और उस राज्य की जानकारी जगह आप फंसे हुए हैं साझा करनी है।

सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आप “सुरक्षित करे” बटन पर क्लिक कर दे। इस प्रकार आपका ऑनलाइन मोड में पंजीकरण पूरा हो जायेगा। अब आपको आपके मोबाइल नंबर पर आगे के चरणों की जानकारी सम्बंधित अधिकारियो द्वारा प्रदान की जाएगी।

हम यहां आपको एक बात और बता दे कि बिहार सरकार ने अभी इसका ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू नहीं किया है हमने जो आपको नोडल अधिकारियों का नंबर दिए हैं आपको इन नंबरों पर कांटेक्ट करना है और अपना पंजीकरण करवाना है।

बिहार प्रवासी मजदूर घर वापसी पंजीकरण में किसी भी प्रकार की परेशानी होने की स्थिति में आप हमसे कमेंट करके सहायता प्राप्त कर सकते हैं।

यह भी पढ़े – बिहार प्रवासी मजदूर सहायता हेतु: ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन @ vipparty.in Majdur Sahayata

हम उम्मीद करते हैं की आपको बिहार प्रवासी मजदूर घर वापसी से सम्बंधित जानकारी जरूर लाभदायक लगी होंगी। इस लेख में हमने आपके द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालो के जवाब देने की कोशिश की है।

यदि अभी भी आपके पास इस योजना से सम्बंधित सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। इसके साथ ही आप हमारी वेबसाइट को बुकमार्क भी कर सकते हैं।

पूछे गए प्रश्नों के उत्तर

बिहार प्रवासी मजदूर घर वापसी कैसे करे?

इस समय तकनिकी खराबी के चलते ऑनलाइन मोड में पंजीकरण की प्रक्रिया रुकी हुई है। आप ऑफलाइन मोड में नोडल अधिकारी से संपर्क करे।

क्या प्रवासी मजदूर घर वापसी ट्रेनों के माध्यम की जाएगी?

केंद्र सरकार के दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए श्रेणिक स्पेशल ट्रैन चलायी जा रही हैं, जिनके माध्यम से दैनिक मजदूरों की घर वापसी का रास्ता साफ़ हुआ है।

क्या प्रवासी मजदूर को घर वापसी पर क्वारंटाइन रहना होगा?

हां, सभी प्रवासी मजदूरों को 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन रहना अनिवार्य होगा।

Leave a Comment