एक देश एक राशन कार्ड योजना: One Nation One Ration Card (ONORC) ऑनलाइन आवेदन

One Nation One Ration Card Apply, एक राष्ट्र एक राशन कार्ड योजना क्या है, One Nation Ration Card Scheme Online, एक देश एक राशन कार्ड स्कीम के लाभ और अन्य जानकारिया आपको इस लेख में दी जाएँगी। एक राष्ट्र एक राशन कार्ड स्कीम जिसे एक देश एक राशन कार्ड योजना के नाम से भी जाना जाता है की शुरुआत 01 जून से 17 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशो में की जा चुकी है। केंद्र सरकार की महत्वकांशी योजना एक राष्ट्र एक राशन कार्ड स्कीम के तहत किसी भी राज्य के नागरिक राशन कार्ड के माध्यम से देश के किसी भी दूसरे राज्य में उचित दर की दुकान से खाद्य सामग्री (राशन) प्राप्त कर सकेंगे।

केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री राम विलास पासवान द्वारा बताया जा रहा है कि इस योजनाके ज़रिये मार्च 2021 तक सभी लाभार्थियों को लाभ पहुंचाया जायेगा। एक देश एक राशन कार्ड योजना के अनुसार, राशन कार्ड धारक एक ही राशन कार्ड का प्रयोग करके देश भर में किसी भी एफपीएस दुकान से अपने हिस्से का राशन के प्राप्त कर सकते हैं।

Table of Contents

वन नेशन वन राशन कार्ड क्या है?

हमारे देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी द्वारा एक देश एक राशन कार्ड योजना (One Nation One Ration Card Yojana) के तहत नै घोषणा की गई है। कोरोना वायरस से हुए लॉक-डाउन के कारण देश के जो गरीब लोग परेशान हैं वे अलग-अलग राज्य में फंसे होने की वजह से उनको राशन ना मिल पाने की परेशानी को देखते हुए, यह योजना उन लोगो को बहुत रहत पहुचायेगी।

प्रधानमंत्री किसान ट्रैक्टर योजना

एक देश एक राशन कार्ड योजना

एक राष्ट्र एक राशन कार्ड स्कीम के माध्यम से देश के 23 राज्यों को 67 करोड़ लोगों को फायदा मिलेगा, और पीडीएस योजना के 83 फीसदी लाभार्थी भी इससे जोड़े जाएंगे। आंकड़ों के अनुसार बताया जा रहा है कि इस योजना के अंतर्गत मार्च 2021 तक इसमें 100 फीसदी लाभार्थी जुड़ जाएंगे। देश का कोई भी नागरिक किसी भी राज्य से अपने राशन कार्ड के माध्यम से राशन की दुकान से राशन ले सकेंगे।

One Nation One Ration Card Scheme

इस योजना को पायलट प्रोजेक्ट के रूप में दो क्लस्टर राज्यों जैसे- आंध्र प्रदेश -तेलंगाना और महाराष्ट्र -गुजरात में शुरू कर दी गयी है।  फिर आंध्र प्रदेश के लोग तेलंगाना में और तेलंगाना के लोग आंध्र प्रदेश में किसी भी राशन की दुकान से राशन ले सकेंगे। इसी प्रकार महाराष्ट्र के लोग गुजरात में और गुजरात के लोग महाराष्ट्र में जाकर वहाँ की राशन की दुकान से राशन ले सकेंगे।

कोरोना वायरस के कारण जो लोग परेशान है उन्हें इस योजना के तहत लाभ पहुंचाने का कार्य किया जायेगा। इस वन नेशन वन राशन कार्ड योजना के अंतर्गत देश के 23 राज्यों को 67 करोड़ लोगों को फायदा मिलेगा। देशभर में पीडीएस योजना के 83 फीसदी लाभार्थियों को इस योजना से जोड़ा जायेगा। केंद्र सरकार द्वारा इस योजना के तहत मार्च 2021 तक इसमें 100 फीसदी लाभार्थियों को जोड़ना का लक्ष्य रखा है।

 प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना हेल्पलाइन नंबर

सबसे पहले किन राज्यों में लागू हो गई योजना

अब तक 11 राज्यों में वन नेशन 1 राशन कार्ड योजना के तहत राशन कार्ड को आधार से लिंक किया जा चुका है। इस योजना के तहत प्राइवेट ऑफ सेल के जरिए राज्यों में राशन का वितरण किया जा रहा है। 1 जनवरी 2020 को आंध्र प्रदेश तेलंगना गुजरात महाराष्ट्र हरियाणा झारखंड पंजाब कर्नाटका अकेला त्रिपुरा राजस्थान आदि राज्यों में यह योजना लागू की जाएगी। इस योजना को बढ़ावा देते हुए खाद्य और सार्वजनिक वितरण विभाग एक बड़े पैमाने पर कार्य कर रहा है।

One nation one ration card योजना के तहत 86% लाभार्थी किए गए कवर

एक देश एक राशन कार्ड योजना के तहत लाभार्थी देश के किसी भी राशन की दुकान से राशन प्राप्त कर सकते हैं। सरकार ने 32 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में इस योजना को संचालित करने का निर्णय लिया है। अब तक लगभग 69 करोड़ लाभार्थी इस योजना का लाभ प्राप्त कर रहे हैं। इन लाभार्थियों में अधिकतम संख्या में श्रमिक शामिल है। अपने परिवार से दूर रह रहे काम करने वाले श्रमिक भी अपना राशन इस योजना के तहत आंशिक रूप से प्राप्त कर सकते हैं और जहां उनका परिवार रह रहा है वहां उनका परिवार भी इस योजना का लाभ ले सकता है। अर्थात श्रमिक एवं उनका परिवार अलग-अलग जगह पर आधा-आधा राशन अर्थात अपने हिस्से का राशन प्राप्त कर सकते हैं।

  • लगभग 86% लाभार्थियों को इस योजना के तहत किया गया है और जल्द ही शेष राज्यों को भी कवर कर लिया जाएगा।
  • वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट की घोषणा करते हुए कहा कि सरकार एक पोर्टल आरंभ करेंगी। इस पोर्टल पर सभी श्रमिकों की जानकारी उपलब्ध होगी जिसके माध्यम से सरकार के लिए सभी प्रकार के श्रमिकों के लिए योजनाएं बनाना एवं संचालित करना आसान होगा।

देश के 9 राज्यों में आरंभ हुई एक देश एक राशन कार्ड योजना

Covid-19 संक्रमण के चलते लोक डाउन के दौरान सरकार ने एक देश एक राशन कार्ड योजना का शुभारंभ किया था।इस योजना का लाभ यह है कि देश का कोई भी नागरिक किसी भी राज्य में किसी भी जगह पर किसी भी फेयर प्राइस शॉप से अपने राशन कार्ड के द्वारा राशन खरीद सकेगा। इस योजना का लाभ लेने के लिए उन्हें उस राज्य का राशन कार्ड बनवाने की आवश्यकता भी नहीं पड़ेगी। वह अपने पुराने स्थाई पते के राशन कार्ड से ही देश की किसी भी फेयर प्राइस शॉप से राशन खरीद सकेगा।

अब तक सरकार ने देश के 9 राज्यों में वन नेशन वन राशन कार्ड योजना को लागू कर दिया है। इन 9 राज्यों के नागरिक एक ही राशन कार्ड से किसी भी कोने से राशन प्राप्त कर सकते हैं। सरकार का कहना है कि यह वन नेशन वन राशन कार्ड योजना जल्द ही पूरे देश में लागू कर दी जाएगी। परंतु अभी हम आपको उन 9 राज्यों की जानकारी देने जा रहे हैं जहां यह रोज ना लागू कर दी गई है। इन राज्यों के नाम है आंध्र प्रदेश, गोवा, गुजरात, हरियाणा, कर्नाटका, केरला, तेलंगना, त्रिपुरा तथा उत्तर प्रदेश। मिनिस्ट्री आफ कंज्यूमर अफेयर्स, फूड एंड पब्लिक डिसटीब्यूशन की डिपार्टमेंट ऑफ फूड एंड पब्लिक डिसटीब्यूशन इस योजना के सफल कार्यक्रम के लिए नोडल एजेंसी रहेंगे।

Ek Desh Ek Ration Card Statistics

राज्य15
राशन कार्ड2,599
लाभार्थी18,053
टोटल ट्रांजैक्शन2,656
AAY ट्रांजैक्शन166
PHH ट्रांजैक्शन2,490
व्हाट डिस्ट्रीब्यूशन25,352.75
राइस डिस्ट्रीब्यूशन27,769.24

अब राशन कार्ड की फोटोकॉपी से भी मिलेगा राशन

खाद्य एवं आपूर्ति विभाग द्वारा हिमाचल प्रदेश में वन नेशन वन राशन कार्ड योजना की शुरुआत कर दी गई है एवं इसकी तैयारियां अंतिम चरण पर है। इसके साथ ही हिमाचल प्रदेश की 5000 सस्ते राशन की दुकानों पर केंद्रीय खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग के विशेषज्ञों ने वर्चुअल तरीके से प्रशिक्षण भी प्रदान किया है ऑनलाइन प्रशिक्षण में उन्होंने दुकानदारों को सॉफ्टवेयर के माध्यम से राशन का वितरण कर सकते हैं। अब कोई भी व्यक्ति राशन कार्ड दिखाए बिना भी राशन प्राप्त कर सकता है इसके लिए उन्हें केवल राशन कार्ड की फोटो कॉपी दिखानी होगी।इसके साथ ही यह दुकानदार अपने सॉफ्टवेयर में राशन कार्ड का नंबर दर्ज करेंगे और सभी जानकारी सामने आ जाएगी। ऑनलाइन सिस्टम राशन में गड़बड़ी को रोकने एवं जरूरतमंद व्यक्ति तक आसानी से राशन पहुंचाने के लिए शुरू किया गया है।

How does One Nation One Ration Card work?

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान द्वारा शुरू की गयी One Nation One Ration Card योजना के अनुसार यह राशन आपके मोबाइल नंबर की तरह ही काम करेगा। हम जानते हैं कि हमे देश के किसी भी कोने में जाकर अपना मोबाइल नंबर बदलने की आवश्यतकता नहीं पड़ती है और वह हर जगह काम करता है, ठीक इसी प्रकार इस राशन कार्ड को हम किसी भी राज्य में इस्तेमाल कर सकते है। दिनांक 01 अक्टूबर 2020 से सार्वजनिक वितरण प्रणाली-पीडीएस के लाभार्थी अपनी इच्छानुसार उचित मूल्य की दुकान (एफपीएस) से सस्ते मूल्य पर सब्सिडी वाले खाद्यान प्राप्त कर सकते हैं।

एक देश एक राशन कार्ड योजना का लाभ राशन कार्ड रखने वाले सभी नागरिको और परिवारों को प्रदान किया जायेगा। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, 2013 के तहत, देश में 81 करोड़ लोग जन वितरण प्रणाली (PDS) के माध्यम से राशन की दुकान से 3 रुपए प्रति किलोग्राम की दर से चावल और 2 रुपए प्रति किलो की दर से गेहूं और साथ ही 1 रुपए प्रति किलोग्राम की दर से मोटा अनाज खरीद सकते हैं।

एक देश एक राशन कार्ड योजना टोल फ्री नंबर

केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गयी वन नेशन वन राशन योजना के अंतर्गत देश के अगर किसी व्यक्ति को कोई भी परेशानी और असुविधा हो रही है तथा वह इस सम्बन्ध में कोई शिकायत दर्ज करना चाहते है, तो उन सभी के लिए केंद्र सरकार ने इस योजना के अनुसार टोल फ्री नंबर 14445 जारी किया है। जारी किये गए इस टोल फ्री नंबर पर One Nation One Ration Card सुविधा का उपभोग करने वाले राशन कार्ड के लाभार्थी संपर्क करके अपनी शिकायत व समस्या दर्ज करा सकते हैं, और अपनी समस्या का समाधान प्राप्त कर सकते है। इस योजना के अनुसार 31 मार्च 2021 तक पूरे देश में 81 करोड़ लाभार्थियों को इसका लाभ प्रदान किया जायेगा।

One Nation One Ration Card 2020

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का कहना है कि One Nation One Ration Card योजना को 1 जून 2020 तक पुरे भारत में लागू कर दिया जायेगा और केंद्रीय मंत्री ने कहा है कि वर्तमान समय में राशन कार्ड के लिए 14 राज्यों में पीओएस मशीन की सुविधा को जारी कर दिया है, अब जल्द ही अन्य राज्य में इस सुविधा को शुरू करने का प्रावधान किया जा रहा है। यदि देश का कोई व्यक्ति एक राज्य से किसी दूसरे राज्य में रहने लगता है, तो वह उस राज्य की किसी भी पीडीएस राशन की दुकान से अपने हिस्से का राशन ले सकता है।
भारत सरकार द्वारा शुरू की गयी एक देश एक राशन कार्ड योजना को लागू करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा सभी पीडीएस दुकानों पर पीओएस लगाया जायेगा। केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान जी द्वारा जून 2019 को सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशो को इस One Nation One Ration Card योजना को शुरू करने का 1 साल तक का समय दिया गया था, जिससे नागरिकों को जल्द-से-जल्द इस योजना का लाभ प्रदान किया जाये।

नई अपडेट एक देश एक राशन कार्ड योजना

एक देश एक राशन कार्ड योजना की घोषणा पिछले साल जून में केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान द्वारा की गई थी। इस वर्ष 1 जनवरी को 12 राज्य एक-दूसरे के बीच एकीकृत हो गए हैं और अब 17 राज्य सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) के एकीकृत प्रबंधन पर हैं। भारत के बाकी हिस्सों को इस साल जून तक इस One Nation One Ration Card योजना में शामिल कर लिया जायेगा। इससे खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत कवर किए गए 810 मिलियन में से 600 मिलियन लाभार्थियों को लाभ प्रदान किया जायेगा। इस योजना के माध्यम से यह इन राज्यों के प्रवासी कामगारों के लिए एक बड़ी सहायता साबित होगी, जो किसी से भी कही से भी सब्सिडी वाले खाद्यान्न प्राप्त कर सकते हैं।

एक देश एक राशन कार्ड योजना

बिहार और उत्तर प्रदेश के साथ-साथ पांच अन्य राज्यों को एक देश एक राशन कार्ड योजना के साथ शामिल किया गया है। केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान द्वारा कहा गया है कि 5 अन्य राज्यों जैसे- बिहार, यूपी, पंजाब, हिमाचल प्रदेश और दमन और दीव को One Nation One Ration Card सिस्टम के साथ शामिल किया गया है। इस राशन कार्ड की पहल के अनुसार, योग्य आवेदक देश में किसी भी उचित मूल्य की दुकान से राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (एनएफएसए) के अनुसार अपने योग्य होने के अनाज का लाभ उठा सकेंगे।

एक देश एक राशन कार्ड योजना का उद्देश्य

केंद्र सरकार महत्वकांशी एक देश एक राशन कार्ड योजना के माध्यम से निम्न उद्देश्यों को पूरा करने के लिए प्रयासरत है।

  • एक राष्ट्र एक राशन कार्ड स्कीम के द्वारा देश में फर्जी राशन कार्ड पर रोक लगाने का कार्य किया जायेगा।
  • यह योजना देशव्यापी पोर्टेबिलिटी प्रदान का कार्य करेगा जिससे पुरे भारत में कही भी आप राशन कार्ड के द्वारा लाभ ले सकते हैं।
  • केंद्र सरकार इस योजना को समय रहते ही पुरे देश के विभिन्न राज्यों में आरम्भ करना चाहती है जिससे अधिक से अधिक लोग इस योजना का लाभ उठा सके |
  • प्रारम्भ में इस योजना की शुरुआत 17 राज्य और केंद्र शासित प्रदेशो में की जा रही है इसके बाद इसी पुरे देश में लागु कर दिया जायेगा।
  • वन नेशन वन राशन कार्ड स्कीम के द्वारा प्रवासी मजदूरों को खाद्य सुरक्षा जैसे लाभ प्रदान किये जायेंगे।

एक राष्ट्र एक राशन कार्ड स्कीम 2020 नई अपडेट

हम जानते हैं कि कोरोना वायरस से हुए लॉक-डाउन के कारण रोज कमा कर खाने वाले लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। वे अपने खाने का गुज़ारा करने जितना भी नहीं कमा पा रहे हैं जिसकी वजह से वे लोग अपने परिवार का जीवन-यापन नहीं कर पा रहे हैं। इस समस्या का समाधान करने के लिए  सरकार ने 1 जून से वन नेशन वन राशन कार्ड योजना में तीन और राज्य ओडिशा , सिक्किम और मिजोरम को जोड़ दिया है।

इस योजना के अनुसार उन राज्यों की संख्या 20 हो गयी है जहा पर एक देश राशन योजना को लागू कर दिया गया है। सरकार द्वारा दावा किया जा रहा है कि यह योजना लॉक-डाउन के समय में देश के नागरिकों के लिए काफी लाभदायक होगी। दूसरे राज्यों में नौकरी करने वालो को इस  योजना का लाभ उठा सकते हैं। इस योजना के अनुसार 20 राज्य 1 जून तक जुड़ चुके हैं और मार्च 2021 तक ये योजना देशभर में लागू हो जाएगी।

एक देश एक राशन कार्ड लागू करने वाले राज्यों की सूची

  • आंध्र प्रदेश
  • बिहार
  • दमन एंड दुइ (UT)
  • गोवा
  • गुजरात
  • हरियाणा
  • हिमाचल प्रदेश
  • झारखंड
  • कर्नाटक
  • केरल
  • महाराष्ट्र
  • Madhya Pradesh
  • पंजाब
  • राजस्थान Rajasthan
  • तेलंगाना
  • त्रिपुरा
  • Uttar Pradesh

Overview of One Nation One Ration Card Scheme

योजना का नामवन नेशन वन राशन कार्ड योजना
आरम्भ की गईकेंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान द्वारा
लाभार्थीराशन कार्ड धारक
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन/ऑफलाइन
उद्देश्यराशन कार्ड की देशव्यापी पोर्टेबिलिटी प्रदान करना
लाभदेशभर राशन कार्ड के लाभों की प्राप्ति की सुविधा
श्रेणीकेंद्र सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइटmofpi.nic.in/

एक देश एक राशन कार्ड योजना के लाभ

  • देश का कोई भी नागरिक इस योजना का लाभ उठा सकता है।
  • जो लोग गरीब और रोजगार की  तलाश में एक राज्य से दूसरा राज्य में जाते है वे इस  योजना का लाभ उठा सकते है।
  • कोई भी उपभोक्ता अपने राशन कार्ड की सहायता से अपने हिस्से के अनाज को किसी भी पीडीएस दुकान से पारदर्शिता और बड़ी ही आसानी से खरीद पायेगा।
  • इस योजना के अनुसार देश के कई राज्यों में पीडीएस प्रणाली के एकीकृत प्रबंधन की शुरुआत बड़ी ही तेज़ी से चल रही है जिसके अंतर्गत आंध्र प्रदेश, गुजरात, कर्नाटक, राजस्थान, हरियाणा, झारखण्ड, केरल, त्रिपुरा, तेलंगाना, महाराष्ट्र आदि राज्य शामिल हैं।

One Nation One Ration Card Format

केंद्र सरकार के माध्यम से राष्ट्रीय पोटेबिलिटी प्राप्त करने के लिए विभिन्न राज्यों तथा केंद्र शासित राज्यों को केंद्र सरकार द्वारा राशन कार्ड जारी करने के लिए एक फॉर्मेट तैयार किया गया है। सभी राज्य को एक देश एक राशन कार्ड योजना के अनुसार इसी फॉर्मेट को फॉलो करके राशन कार्ड जारी किये जायेंगे। वन नेशन वन राशन कार्ड फॉर्मेट लागू करने की विशेषताएं निम्न चरणों द्वारा व्यक्त की गयी है-

  • इस नए राशन कार्ड में आवश्यक विवरण ही शामिल होंगे परन्तु राज्य सरकार द्वारा अपनी आवश्यकता के अनुसार अधिक विवरण को भी जोड़ा जा सकता है।
  • ये राशन कार्ड हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओँ में जारी किए जा सकते हैं। इसके अलावा स्थानीय भाषा में भी राशन कार्ड जारी करने की सम्भावना है।
  • एक देश एक राशन कार्ड ऑनलाइन फॉर्म में 10 अंकों का राशन कार्ड नंबर प्रदान किया जायेगा। इस 10 अंकों वाले राशन कार्ड नंबरों के अंतर्गत पहले 2 अंक का राज्य कोड शामिल होंगे और अगले 2 अंक राशन कार्ड नंबर होंगे।
  • इन सभी 4 अंकों के अतिरिक्त, घर के सदस्यों के लिए एक अद्वितीय आईडी बनाने के लिए राशन कार्ड नंबर के साथ राशन कार्ड में 2 अंकों का एक सेट जोड़ा जाएगा।

एक देश एक राशन कार्ड की चयन प्रक्रिया

हम जानते हैं कि हमारे देश में राशन कार्ड को सभी राज्य सरकार द्वारा दो प्रकार से जारी किये जाते है, जिसमे पहला एपीएल राशन कार्ड है और दूसरा बीपीएल राशन कार्ड है। देश के नागरिकों की आय के अनुसार पर एपीएल और बीपीएल राशन कार्ड जारी किये जाते है। इसी प्रकार One Nation One Ration Card की भी चयन प्रक्रिया इसी आधार पर ही की जाएगी। इस एपीएल राशन कार्ड केटेगरी में कौन से लोग आते है और बीपीएल केटेगरी में कौन से लोग आते है इसकी पूरी जानकारी निम्न प्रकार व्यक्त की गयी है-

एपीएल केटेगरी- इस एपीएल केटेगरी के अंतर्गत देश के उन परिवारों को शामिल किया जाता है, जो गरीबी रेखा से ऊपर जीवन यापन कर रहे है। उन परिवारों को एपीएल राशन कार्ड प्रदान किया जाता है। यदि आप आर्थिक रूप से सक्षम है तो आप एपीएल राशन कार्ड के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं।

बीपीएल केटेगरी- इस बीपीएल केटेगरी में देश के उन परिवारों को रखा जाता है जो गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहे है। उन परिवारों के लिए बीपीएल राशन कार्ड जारी किया जाता है। यदि आप गरीबी रेखा से नीचे आते है तो आप बीपीएल राशन कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं।

एक देश एक राशन कार्ड योजना का महत्त्व

केंद्र सरकार में खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के द्वारा एक देश एक राशन कार्ड योजना की शुरुआत की बात कही जा रही है। इस योजना के द्वारा राशन कार्ड के लाभार्थियों को देशव्यापी पोर्टेबिलिटी प्रदान की जाएगी। केंद्र सरकार की इस योजना के कई अन्य लाभ है, आप दिए गए विकल्पों के द्वारा ONORC योजना के सभी प्रमुख लाभों पर त्वरित नज़र डालें।

  • इस योजना का सबसे महत्वपूर्ण बिंदु अंतर-राज्यीय पोर्टेबिलिटी है अर्थात आप भारत के किसी भी राज्य में राशन कार्ड के द्वारा लाभ प्राप्त कर सकते हैं। आप किसी भी फपीएस दुकान से अपना हक पाने के लिए अपने कार्ड का उपयोग कर सकते हैं, चाहे वह उसी राज्य में हो अथवा न हो। आप किसी दूसरे राज्य की एफपीएस दुकान से भी खाद्यान की प्राप्ति कर सकते हैं। इस योजना की शरुआत से पहले एक राज्य का राशन कार्ड स्थानीय एफपीएस दुकान के अलावा अन्य राज्य या किसी भी एफपीएस दुकान में मान्य नहीं था।
  • देशभर में  प्रौद्योगिकी के माध्यम से इस योजना के कर्यान्वयन का कार्य किया जायेगा। इसके लिए प्रत्येक एफपीएस पर स्थापित किए जाने वाले इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के इलेक्ट्रॉनिक प्वाइंट के आधार पर डेटा को एकत्रित किया जायेगा। प्रौद्योगिकी के आधार पर जैव-मेट्रिक्स के द्वारा वास्तविक लाभार्थी की पहचान की जाएगी।
  • इस योजना के तहत आप अपने राशन राशन डीलर का भी चयन कर सकते हैं। यदि आप अपने मौजूदा एफपीएस डीलर से संतुष्ट नहीं हैं तब आप बिना किसी समस्या के अन्य डीलर के पास जा सकते हैं।
  • इस योजना के द्वारा सरकार हर भूखे तक राशन की उपलब्धता सुनिश्चत करने का कार्य करेगी। यह योजना देश भर में राशन की दुकानों (पीडीएस) के लिए प्रवासियों को सार्वभौमिक पहुंच प्रदान करती है।

एक देश एक राशन कार्ड योजना 2020 में आवेदन कैसे करे?

केंद्र सरकार द्वारा इस योजना की शुरुआत के बाद किसी भी राशन कार्ड धारक को इस योजना के अंतरगत किसी भी ऑनलाइन अथवा ऑफलाइन अवेदन की आवश्यकता नहीं है। सभी राज्य केंद्र सरकार के आदेशानुसार लाभार्थियों के राशन कार्ड फ़ोन पर आधार कार्ड से सत्यापित कर लिंक करने का कार्य करेंगे। इसके बाद इंटीग्रेटेड मैनेजमेंट पब्लिक डिस्टीब्यूशन सिस्टम के अंतर्गत आंकड़ों को एक राष्ट्र एक राशन कार्ड स्कीम के लिए उपलब्ध करा दिया जायेगा जिससे देश के किसी भी कोने में पात्र लाभार्थी को राशन कार्ड के लाभ प्रदान किये जा सकेंगे।

वन नेशन वन राशन कार्ड राज्यों की सूची कैसे देखे

भारत सरकार द्वारा आधार-राशन कार्ड लिंकिंग भी शुरू की जा रहा है, जिससे देश के लोग अब आधार का उपयोग करके ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया की जांच कर सकते हैं। इस योजना के अनुसार लागू की जाने वाली राज्यों की सूची, आधिकारिक वेबसाइट पर उपब्ध कराई जा चुकी है। आप इन सभी राज्यों की सूची ऑनलाइन देख सकते है और योजना के बारे में पूरी जानकारी के लिए लोग अब इक्कठे वितरण सार्वजनिक वितरण प्रणाली (IMPDS) पोर्टल की जाँच कर सकते हैं।जो इच्छुक लाभार्थी One Nation One Ration Card में राज्यों की सूची जांचना चाहते है तो उनको निम्न चरणों का पालन करना होगा-

One Nation One Ration Card States
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जायेगा।
  • वेबसाइट होम पेज पर ही आपको सभी राज्यों की सूची प्रदर्शित हो जाएगी।

One Nation One Ration Card के तहत ऑनलाइन ऐड्रेस अपडेट

केंद्र सरकार ने पिछले साल वन नेशन वन राशन कार्ड योजना शुरू की थी। इस योजना का उद्देश्य पूरे देश के लोगों के लिए एक राशन कार्ड उपलब्ध कराना था। इस योजना का लाभ यह था कि कोई भी व्यक्ति देश के किसी भी फेयर प्राइस शॉप से राशन प्राप्त कर सकता है। इस बार सरकार ने इस योजना के तहत एक नई घोषणा की है। इस घोषणा के अनुसार आप अपने राशन कार्ड में अपना एड्रेस बहुत आसानी से ऑनलाइन प्रक्रिया के माध्यम से बदल सकते हैं। जैसा कि आप जानते हैं राशन कार्ड केवल अनाज वितरण के लिए ही नहीं बल्कि अन्य भी बहुत से कामों के लिए जरूरी दस्तावेज के जैसे काम आता है। इसलिए अपना मौजूदा पता बदलने की स्थिति में बेहतर होगा कि यदि आप इसे अपने राशन कार्ड में भी अपडेट कर ले। राशन कार्ड को ऑनलाइन अपडेट करने के लिए आपको अब कहीं जाने की आवश्यकता नहीं है।

  • सबसे पहले आपको पीडीएस पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुल जायेगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको सभी राज्यों की एक लिस्ट मिलेगी | इस लिस्ट में अपने गृह राज्य के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपके सामने उस राज्य का पेज खुल जायेगा। इसके बाद आपको राशन कार्ड एड्रेस का फॉर्म बदलने या राशन कार्ड फॉर्म को बदलने के लिए सही लिंग का चयन करना होगा।
  • अब आपके सामने लॉगइन फॉर्म खुल जाएगा। इस फॉर्म मैं अपने यूजर आईडी और पासवर्ड को दर्ज करें और पोर्टल पर लॉगिन करें।
  • अब अन्य सभी जानकारी ध्यान पूर्वक फॉर्म में भरें एवं सम्मिट का बटन दबाएं। सम्मिट का बटन दबाते ही आपका एड्रेस चेंज आवेदन जमा हो जाएगा।
  • अब आप इस आवेदन का एक प्रिंट निकाल कर फ्यूचर रेफरेंस के लिए संभाल कर रख ले।

यह भी पढ़े – स्मार्ट राशन कार्ड 2021 कैसे बनाये – Smart Ration Card हेतु आवेदन पत्र

हम उम्मीद करते हैं की आपको एक देश एक राशन कार्ड योजना से सम्बंधित जानकारी जरूर लाभदायक लगी होंगी। इस लेख में हमने आपके द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालो के जवाब देने की कोशिश की है।

यदि अभी भी आपके पास इस योजना से सम्बंधित सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। इसके साथ ही आप हमारी वेबसाइट को बुकमार्क भी कर सकते हैं।

पूछे गए प्रश्नों के उत्तर

वन नेशन वन राशन कार्ड क्या है?

वन नेशन वन राशन कार्ड योजना एक तरह का डिजिटल रेवोलुशन है जिसके द्वारा खाद्य सुरक्षा लाभों की पोर्टेबिलिटी की का कार्य किया जायेगा। इस योजना के कार्यान्वयन से गरीब प्रवासी श्रमिक देश के किसी भी राशन की दुकान से रियायती कीमतों पर चावल और गेहूं की कर खरीद सकेंगे।

Leave a Comment