उत्तर प्रदेश कन्या सुमंगला योजना | Kanya Sumangala Yojana 2020 | ऑनलाइन आवेदन, पंजीकरण फॉर्म

दोस्तों उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कन्या सुमंगला योजना ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किये गए है। यहाँ इस लेख में हम आपको योगी कन्या सुमंगला योजना ऑनलाइन आवेदन पत्र भरने तथा पीडीऍफ़ डाउनलोड करने के विषय में जानकारी प्रदान करेंगे। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश में दम्पत्तियों में बेटियों के जन्म को प्रोत्साहित करने के लिए यूपी कन्या सुमंगला योजना की शुरुआत की गई है।

इस योजना में महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार के सहयोग से कन्या के जन्म पर आर्थिक सहायता प्रदान करता है। कन्या सुमंगला योजना की लाभार्थी छात्रा को प्रथम कक्षा से स्नातक स्तर और विवाह के दौरान भी आर्थिक मदद प्रदान की जाती है। यह योजना पूर्ण रूप से कन्याओ के उत्थान तथा उनके सर्वागीण विकास को ध्यान में रखकर तैयार की गई है। 

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 2019 के वित्तीय बजट में कन्या सुमंगला योजना की घोषणा की गई थी। यह योजना मुख्य रूप से दम्पत्तियों में कन्या के जन्म को प्रोत्साहित करके राज्य में लड़का-लड़की के जन्म अनुपात में बड़े अंतर को कम करने के उद्देश्य से शुरू की गई है। योगी सरकार कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत कन्या के जन्म से विवाहित होने तक अनेक चरणों में वित्तीय सहायता प्रदान करेगी।

कन्या सुमंगला योजना के कार्यान्वयन में उत्तर प्रदेश सरकार को 1200 करोड़ का अतिरिक्त भार वहन करना पड़ेगा। इस योजना का लाभ एक परिवार की केवल 2 बेटियां ही ले सकती हैं। महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा इस योजना के माध्यम से राज्य में 96 लाख परिवारों को लाभान्वित करने का लक्ष्य रखा गया है। इस योजना के सफल कार्यान्वयन से प्रदेश में किसी भी घर में बिटिया के जन्म पर दुःख का माहोल देखने को नहीं मिलेगा।

उत्तर प्रदेश कन्या सुमंगला योजना का लाभ कितने चरणों में दिया जायेगा?, कन्या सुमंगला योजना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया, पात्रता मानदण्ड क्या है?, यूपी कन्या सुमंगला योजना पीडीऍफ़ कैसे डाउनलोड करे? आदि सवालो के जवाब आपको इस लेख में दिए जायेंगे। यदि आप भी अपनी बिटिया के लिए कन्या सुमंगला योजना का लाभ लेना चाहते है तो आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़े।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना कार्यान्वयन की प्रक्रिया

महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा लाभार्थियों में कन्या सुमंगला योजना का कार्यान्वयन छः श्रेणियों में किया जायेंगे। प्रत्येक श्रेणी में सभी लाभार्थी कन्याओ को एक निश्चित सहायता राशि का वितरण सीधे बैंक खाते में किया जायेगा। आप यहाँ क्रमबद्ध तरीके से सभी श्रेणियों में लाभार्थियों को मिलने वाली सहायता राशि के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

प्रथम श्रेणी

नवजात बालिकाएं जिनका जन्म 1 अप्रैल 2020 के बाद हुआ है वह इस श्रेणी में आवेदन के लिए पात्र हैं। इस श्रेणी में कन्या को एकमुश्त 2,000 रु की राशि प्रदान की जाएगी। इसके श्रेणी के तहत कन्या के जन्म से छह महीने के भीतर योजना में आवेदन कराना अनिवार्य है।

द्वितीय श्रेणी

वह कन्याएं जो एक वर्ष की आयु पूर्ण कर चुकी हैं और जिनका पूर्ण टीकाकरण हो चूका है। वह बालिकाएं 1,000 रूपये एकमुश्त राशि प्राप्त कर सकेंगी। इसके लिए कन्या का जन्म 1 अप्रैल 2020 से पूर्व न हुआ हो।

कन्या सुमंगला योजना

तृतीय श्रेणी

चालू शैक्षणिक वर्ष के लिए प्रथम कक्षा में प्रवेश कर चुकी कन्या को 2,000 रूपये एकमुश्त सहायता राशि से लाभान्वित किया जायेगा। इसके लिए कन्या की आयु 3 वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए। इस श्रेणी के अंतर्गत आपको मान्यता प्राप्त विद्यालय में प्रवेश के 45 दिनों के भीतर अथवा उसी वर्ष 31 जुलाई तक प्रार्थना पत्र जमा कराना अनिवार्य है।

चतुर्थ श्रेणी

चालू शैक्षणिक वर्ष के लिए कक्षा 6 में प्रवेश कर चुकी कन्या को 2,000 रूपये एकमुश्त सहायता राशि से लाभान्वित किया जायेगा। इसके लिए कन्या की आयु 7 वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए। इस श्रेणी के अंतर्गत आपको मान्यता प्राप्त विद्यालय में प्रवेश के 45 दिनों के भीतर अथवा उसी वर्ष 31 जुलाई तक प्रार्थना पत्र जमा कराना अनिवार्य है।

कन्या सुमंगला योजना

पंचम श्रेणी

चालू शैक्षणिक वर्ष के लिए कक्षा 9 में प्रवेश कर चुकी कन्या को 3,000 रूपये एकमुश्त सहायता राशि से लाभान्वित किया जायेगा। इसके लिए कन्या की आयु 10 वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए। इस श्रेणी के अंतर्गत आपको मान्यता प्राप्त विद्यालय में प्रवेश के 45 दिनों के भीतर अथवा उसी वर्ष 31 सितम्बर तक प्रार्थना पत्र जमा कराना अनिवार्य है।

षष्टम श्रेणी वह कन्याएं जिन्होंने 10वी अथवा 12वी की कक्षा उत्तीर्ण की है और वर्तमान में स्नातक स्तरीय कम से कम दो वर्षीय पाठ्यक्रम में दाखिला लिया है। ऐसी स्थिति में कन्या को 5,000 रूपये एकमुश्त सहायता राशि से लाभान्वित किया जायेगा। इसके लिए कन्या की आयु 12 वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए। इस श्रेणी के अंतर्गत आपको स्नातक स्तरीय दो वर्षीय डिग्री कोर्स में प्रवेश के 45 दिनों के भीतर अथवा उसी वर्ष 31 सितम्बर तक प्रार्थना पत्र जमा कराना अनिवार्य है।

कन्या सुमंगला योजना

पात्रता मानदंड

  • उत्तर प्रदेश के स्थायी निवासी ही इस योजना के लिए ऑनलाइन तथा ऑफलाइन आवेदन हेतु पात्र है।
  • इस योजना का लाभ एक परिवार की केवल दो लड़कियों द्वारा ही प्राप्त किया सकता है।
  • यदि किसी महिला को प्रसव में जुड़वाँ बच्चे होते है तो तीसरे बच्चे के लड़की होने पर उसको लाभ अनुमन्य होगा।
  • यह योजना गरीब, अशिक्षित दम्पत्तियों में कन्या भूर्ण हत्या की दर में कमी लाने के लिए की गई है जिसके अंतर्गत आवेदक की वार्षिक आय 3 लाझ रूपये निर्धारित है।
  • अगर कोई परिवार अनाथ बालिका को गोद लेता है तो दंपत्ति की जैविक सन्तानो तथा गोद ली गयी बच्ची समेत केवल दो लड़किया ही लाभ लेने के लिए अनुमन्य है।

आवश्यक दस्तावेज

  • पहचान का प्रमाण (आधार कार्ड, स्कूल का पहचान पत्र)
  • राशन कार्ड (जिसमे बिटिया का नाम दर्ज हो)
  • निवास प्रमाण पत्र (निवास स्थान के सत्यापन के लिए)
  • आय प्रमाण पत्र (वार्षिक आय के निर्धारण हेतु)
  • गोद लेने का प्रमाण पत्र (गोद लिए हुए बच्चे की स्थिति में)
  • बैंक खाते की जानकारी (सहायता राशि के ट्रांसफर के लिए)

कन्या सुमंगला योजना | UP Kanya Sumangala Yojana 2020, Apply Online, Registration

महिला एवं बाल विकास विभाग, उत्तर प्रदेश आधिकारिक वेबसाइट पर कन्या सुमंगला योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन किये जा सकते है। यदि आप उपरोक्त पात्रता मानदंडो को पूरा करते है तो आप सभी आवश्यक दस्तावेजों की सहायता से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए आपको दिए गए आसान से चरणों का पालन करना होगा: –

पहला चरण: – सबसे पहले आपको महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, कन्या सुमंगला योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके लिए यहाँ क्लिक करे

कन्या सुमंगला योजना

दूसरा चरण: – वेबसाइट के डैशबोर्ड में आपको बाई और के सेक्शन में “नागरिक सेवा पोर्टल” विकल्प पर क्लिक करना है

तीसरा चरण: – अब आपके सामने एक नया पेज खुल जायेगा यहाँ आपको नए उपयोगकर्ता पंजीकरण हेतु कुछ नियम एवं शर्तो की जानकारी दी जाएगी। आप नियम एवं शर्तो को पढ़कर “में सहमत हु” बॉक्स में क्लिक कर आगे बढ़ जाए

कन्या सुमंगला योजना

चौथा चरण: – इसके बाद आवेदक के सामने एक नया पेज खुल जायेगा, यहाँ आवेदक को ऑनलाइन पंजीकरण के लिए अपनी कुछ जानकारी दर्ज कर अपने मोबाइल नंबर को OTP के द्वारा वेरीफाई कराना होगा

कन्या सुमंगला योजना

पांचवा चरण: – अब आपके द्वारा पंजीकरण में दर्ज कराए गए मोबाइल नंबर पर एक OTP आएगा जिसे दर्ज करने पर आपका पंजीकरण पूरा हो जायेगा।

छठा चरण: – अगले चरण में आपको प्राप्त हुई यूजर आईडी और चुने हुए पासवर्ड की सहायता से लॉगिन करना होगा, जिसके बाद आपको ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फॉर्म दिखाई देगा।

कन्या सुमंगला योजना

सातवा चरण: – यहाँ आपको सभी मांगी गई जानकारी दर्ज करके आवश्यक दस्तावजो को अपलोड करना होगा। अंत में आप अपने द्वारा दर्ज जानकारी की जांच कर आवेदन फॉर्म को सबमिट कर दे

इस प्रकार सभी चरणों के पूरा होने पर आपका ऑनलाइन उत्तर प्रदेश कन्या सुमंगला योजना आवेदन पूरा हो जायेगा।

जरूरी सुचना: आपको सलाह दी जाती है की आप अपने एप्लीकेशन नंबर को किसी पर्चे पर नोट कर ले।

कन्या सुमंगला योजना ऑफलाइन आवेदन | Kanya Sumangala Yojana, Apply Offline

मुख्य सचिव डॉ अनूप चंद्र पांडे ने बताया की आवेदक कन्या सुमंगला योजना के लिए ऑफलाइन माध्यम से भी आवेदन कर सकते हैं। आप खंड विकास अधिकारी, सडीएम, जिला परिवीक्षा अधिकारी, उप मुख्य परिवीक्षा अधिकारी के कार्यालय या कन्या सुमंगला पोर्टल की विभागीय वेबसाइट से आवेदन फॉर्म डाउनलोड कर आवेदन कर सकते है।

विभिन्न विभागों की आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध  सुमंगला योजना आवेदन फॉर्म को सभी जानकारी दर्ज करके आवश्यक दस्तावेजों के साथ जिला शिक्षा अधिकारी के कार्यालय में जमा कराए जा सकेंगे। सभी आवेदक एक ही आवेदन के द्वारा विभिन्न श्रेणियों में योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए पात्र होंगे।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना की विशेषताएं

कन्या के उत्थान के लिए शुरू की गई इस योजना की विशेषताओं का विवरण इस प्रकार है: –

  • इस योजना के अमल में आने से कन्या भ्रूण हत्याओं की दर में कमी आएगी।
  • अब किसी भी परिवार में बेटियों को बोझ नहीं समझा जायेगा। प्रदेश सरकार बिटिया के जन्म से उसकी उच्च शिक्षा तक सभी खर्चो को वहन करेगी।
  • कन्या योजना का लाभ एक परिवार की दो बेटियाँ प्राप्त कर सकेंगी। इसके साथ ही उन्हें अन्य कई लाभ प्रदान किये जायेंगे।
  • इस योजना में बिटिया के जन्म से उसके बड़े होने तक छः चरणों में लाभ प्रदान किया जायेगा।

हम आशा करते है की आपको मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना ऑनलाइन और ऑफलाइन आवेदन से सम्बंधित जानकारी जरूर उपयोगी लगी होगी। यदि इस आर्टिक्ल के सम्बन्ध में आपके कोई सवाल है तो आप हमें कमेंट के माध्यम से पूछ सकते है, हम आपको जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे।

यह भी पढ़े – उत्तर प्रदेश ग्राम प्रधान, पंचायत /सरपंच चुनाव 2020 कब है? पात्रता, योग्यता पूरी जानकारी

इसी प्रकार केंद्र तथा उत्तर प्रदेश राज्य सरकार से जुडी अन्य योजनाओं की जानकारी के लिए आप हमारी वेबसाइट WWW.INDIASCHEME.COM से जुड़े रहे। ऐसी ही अन्य कल्याणकारी योजनाओ की जानकारी के लिए आप हमारी वेबसाइट को बुकमार्क कर ले।

पूछे गए प्रश्नों के उत्तर

क्या है योगी कन्या सुमंगला योजना?

यह एक जन कल्याणकारी योजना है जो मुख्य रूप से कन्याओ को मदद पहचाने के उद्देश्य से शुरू की गई है। इस योजना में प्रदेश सरकार द्वारा कन्या के जन्म से उसकी शिक्षा पूरी होने तक आर्थिक मदद पहुंचाई जाती है।

इस योजना में कितनी वित्तीय सहायता राशि प्राप्त होती है?

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सभी लाभार्थी कन्याओ में जन्म से उसकी उच्च शिक्षा तक सात चरणों में सहायता राशि प्रदान की जाएगी।

यदि अनाथ बच्ची को गोद लिया जाए तब जैविक संताने किस प्रकार योजना का लाभ ले सकेंगी?

इस स्थिति में गोद ली हुई बच्ची समेत एक अन्य बच्ची कन्या सुमंगला योजना का लाभ लेने के लिए अनुमन्य है।

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना उत्तर प्रदेश के लिए आवेदन कैसे होगा?

आप ऑनलाइन था ऑफलाइन माध्यम से योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए सभी चरणों की जानकारी उपरोक्त लेख में दी गई है।

महिला को दूसरी डिलीवरी में जुड़वा बच्चे होने पर योजना का लाभ कैसे लिया जा सकेगा?

यदि महिला की पहली संतान लड़की तथा दूसरी संतान के रूप में जुड़वाँ लड़किया है तो वह तीनो योजना का लाभ ले सकेंगी।  इस स्थिति में कुल तीन लड़कियां योजना का लाभ ले सकेंगी।

Updated: January 28, 2020 — 3:17 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *