(पंजीकरण) कृषि इनपुट अनुदान योजना 2020 | DBT Bihar| ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म

कृषि इनपुट अनुदान योजना | DBT Bihar Official Website |Krishi Input Subsidy Scheme Form| कृषि इनपुट योजना बिहार | Krishi Input Subsidy Scheme Apply

बिहार सरकार ने कृषि इनपुट अनुदान योजना की शुरुआत की है। इस योजना के माध्यम से बिहार सरकार उन किसानो को सहायता राशि प्रदान करेगी जिनकी फैसले असमय वर्षा तथा ओलावृष्टि से नष्ट हो चुकी हैं। बिहार सरकार द्वारा किसानो को प्रति हेक्टेयर अधिकतम 13500 रूपये की अनुदान धनराशि प्रदान की जाएगी।

भारत में बिहार ऐसा पहला राज्य है जहा किसानो को असमय वर्षा अथवा ओलावृष्टि से फसलों के नुकसान की स्थिति में (Bihar is the first state in India where farmers get damaged in the event of unseasonal rains or hailstorms) सहायता राशि प्रदान की जाती है।  Krishi Input Subsidy Scheme 2020 के अंतर्गत राज्य के औरगाबाद, भागलपुर, बक्सर, गया, जहानाबाद, कैमूर, मुजफ्फरपुर, पटना, पूर्वी चंपारण, समस्तीपुर व वैशाली जिलों को शामिल किया गया है।

DBT Bihar Krishi Input Subsidy Scheme 2020

प्रत्यक्ष लाभ अंतरण कृषि विभाग, बिहार सरकार द्वारा कृषि इनपुट अनुदान योजना की शुरुआत की गयी है। इस योजना में कृषि विभाग द्वारा सम्बंधित विभागों के सहयोग से प्राकृतिक आपदाओं एवं राज्य सरकार द्वारा स्थानीय आपदाओं के अधीन निर्धारित सहायता राशि का प्रावधान है।

वर्तमान में Krishi Input Subsidy Scheme 2020 के अंतर्गत किसान को असमय वर्षा अथवा ओलावृष्टि से फसलों के नुकसान पर प्रति हेक्टयेर अधिकतम 13500 रूपये की अनुदान धनराशि प्रदान की जाती है। यह अनुदान राशि भूमि की सिंचित अथवा असिंचित होने की स्थिति में निर्धारित की जाती है।

कृषि इनपुट अनुदान योजना में वर्षाश्रित (असिंचित) फसल क्षेत्र के लिए 6,800 रूपये प्रति हेक्टेयर, सिंचित क्षेत्र के लिए 13,500 रूपये प्रति हेक्टेयर तथा कृषि योग्य भूमि जहाँ बालू / सिल्ट का जमाव 3 इंच से अधिक हो, के लिए 12,200 रु प्रति हेक्टेयर की दर से अनुदान दिया जाता है।

Overview of DBT Bihar Krishi Input Subsidy Scheme 2020

मुख्यमंत्री वृद्धजन पेंशन योजना बिहार 2020: ऑनलाइन आवेदन एप्लीकेशन फॉर्म

योजना का नाम कृषि अनुदान योजना
आरम्भ की गई बिहार सरकार द्वारा
लाभार्थी बिहार के किसान
आवेदन की प्रक्रिया ऑनलाइन
उद्देश्य फसलों के नुकसान पर प्रति हेक्टेयर सहायता मुहैया
लाभ किसानों को फसलों के नुकसान पर सहायता
श्रेणी बिहार सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइट dbtagriculture.bihar.gov.in/

कृषि इनपुट अनुदान/सब्सिडी योजना 2020 का उद्देश्य

बिहार सरकार द्वारा किसानो को असमय वर्षा तथा ओलावृष्टि की स्थिति में फसलों के नुकसान ओर आर्थिक सहायता प्रदान करने के उद्देश्य से कृषि इनपुट अनुदान योजना की शुरुआत की है। भारत एक कृषि प्रधान देश है यहाँ की अर्थव्यवस्था मुख्य रूप से कृषि पर आधारित है।

ऐसे में असमय वर्षा तथा ओलावृष्टि से फसलों के नुकसान से किसानो की आर्थिक स्थिति शोचनीय हो जाती है। इसी को ध्यान में रखते हुए इस योजना को शुरू किया गया है। इस योजना में बिहार सरकार किसानो को वर्षा तथा ओलावृष्टि से फसलों के नुकसान पर प्रति हेक्टयेर सहायता राशि प्रदान करेगी।

पात्रता मानदंड

कृषि विभाग, बिहार सरकार द्वारा कृषि इनपुट अनुदान योजना का लाभ लेने के लिए कुछ पात्रता मानदंड निर्धारित किये गए है। यहाँ हम आपको सभी आवश्यक पात्रता मानदंडों की जानकारी प्रदान कर रहे हैं।

  • केवल बिहार के स्थायी निवासी किसान भाई ही इस योजना का लाभ लेने के लिए पात्र हैं।
  • कृषि इनपुट अनुदान योजना का लाभ ओलावृष्टि अथवा असमय वर्षा से कृषि फसल को हुए नुकसान की स्थिति में लिया जा सकता है।
  • अपनी स्वयं की कृषि भूमि के लिए ही किसान द्वारा ओलावृष्टि अथवा असमय वर्षा से नुकसान के लिए इस योजना का लाभ लिया जा सकता है।
  • किसान के बटाईदार होने की स्थिति में खेतीहर+स्वयं भू-धरी की स्थिति में भूमि के दस्तावेज के साथ स्व घोषणा पत्र संलग्न करना अनिवार्य है।

आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • वोटर आईडी कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • कृषि भूमि के कागजात
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना 2020 प्रमुख विशेषताएं

  • भारत में किसी राज्य द्वारा फसलों की असमय वर्षा तथा ओलावृष्टि से होने वाले नुकसान के लिए सहायता राशि प्रदान करने वाली यह पहली योजना है।
  • इस योजना में ओलावृष्टि से फसलो के नुकसान पर असिंचित क्षेत्र में फसल के लिए 6800 रुपए प्रति हेक्टेयर और सिंचित क्षेत्र के किसान को प्रति हेक्टेयर 13500 रुपए दिए जाते हैं।
  • केवल ऑनलाइन आवेदन के माध्यम से ही कृषि इनपुट अनुदान योजना का लाभ लिया जा सकता है।
  • कृषि इनपुट सब्सिडी योजना का लाभ लेने के लिए आपके जिले को सूखाग्रस्त घोषित किया जाना आवश्यक है। इसकी जानकारी आप अपने ब्लॉक में जाकर ले सकते हैं।
  • बिहार में कृषि योग्य भूमि जहाँ बालू / सिल्ट का जमाव 3 इंच से अधिक हो, के लिए 12,200 रु प्रति हेक्टेयर की दर से अनुदान दिया जायेगा।
  • DBT Bihar Krishi Input Subsidy Scheme में प्रति हेक्टयेर न्यूनतम 1000 रूपये सहायता राशि देने का प्रावधान है।

कृषि इनपुट अनुदान योजना 2020 ऑनलाइन आवेदन |  DBT Bihar Registration

बिहार के सभी किसान भाई ऊपर दिए गए पात्रता मानदंडों को पूरा किये जाने की स्थिति में कृषि इनपुट अनुदान योजना (DBT Bihar) के लिए ऑनलाइन पंजीकरण करा सकेंगे।

  • सबसे पहले आवेदक किसान को प्रत्यक्ष लाभ अंतरण कृषि विभाग, बिहार सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। वेबसाइट का होमपेज कुछ इस तरह का दिखाई देगा।
कृषि इनपुट अनुदान योजना
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको “ऑनलाइन आवेदन करे” सेक्शन में  कृषि इनपुट अनुदान का ऑप्शन दिखाई देगा। आपको ड्राप डाउन मेन्यू में दिए गए इस लिंक पर क्लिक करना है।
  • कृषि इनपुट अनुदान योजना 2019-20 पर क्लिक करने के बाद बाद आपके सामने कंप्यूटर स्क्रीन पर एक नया पेज खुल जायेगा।
कृषि इनपुट अनुदान योजना
  • इस नए पेज पर किसानों को अपनी पंजीकरण संख्या दर्ज करनी है। अब आप दिए गए Search के विकल्प पर क्लिक कर दे।
  • अब अगले चरण में आपको कुछ दिशा-निर्देश दिए जायेंगे जिन्हे पढ़कर आप आगे बढे विकल्प पर क्लिक कर दे। नए पेज पर आपको आवेदन दिखाई देगा। 
  • आपको कृषि इनपुट अनुदान योजना (DBT Bihar) आवेदन फॉर्म में सभी पूछी गयी जानकारियां जैसे:- नाम, आयु, पता, आधार संख्या।, पंचायत, किसान की श्रेणी, डीओबी, पिता का नाम, आदि दर्ज करनी होंगी।

दूसरा भाग

  • इस भाग में किसान को अपनी कृषि भूमि से सम्बन्धित जानकारी दर्ज करनी है। यहा किसान को भूमि के क्षेत्रफल, किसान का प्रकार, और फसल के नुकसान का विवरण दर्ज करना है।
  • इसके बाद किसान को खेती योग्य भूमि से सम्बंधित सभी पूछी गयी जानकारी दर्ज करके घोषणा भाग को भरना है।
  • अगले चरण में आपको Send OTP विकल्प पर क्लिक कर देना है जिसके बाद आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक OTP भेजा जायेगा।
  • आपको आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर प्राप्त OTP को निर्धारित स्थान पर दर्ज करके सभी दर्ज जानकारी तथा अपलोड किये गए दस्तावेजों की जाँच कर लेनी है।

इसके बाद आपको अपना आवेदन फॉर्म ऑनलाइन जमा करना होगा ।और फिर आपको पंजीकरण संख्या मिल जाएगी इस संख्या को आपको सुरक्षित रखना होगा ।

यह भी पढ़े – बिहार मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना | Kanya Utthan Yojana Bihar Official Website | ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म

हम उम्मीद करते हैं की आपको कृषि अनुदान योजना से सम्बंधित जानकारी जरूर लाभदायक लगी होंगी। इस लेख में हमने आपके द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालो के जवाब देने की कोशिश की है।

यदि अभी भी आपके पास इस योजना से सम्बंधित सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। इसके साथ ही आप हमारी वेबसाइट को बुकमार्क भी कर सकते हैं।

Leave a Comment