यूपी गौशाला योजना 2022 : ऑनलाइन आवेदन लॉगिन व एप्लीकेशन स्टेटस

यूपी गौ ग्राम योजना 2022 | आवारा गायों के लिए यूपी गौ ग्राम योजना | उत्तर प्रदेश में गौशाला कैसे खोले | Uttar Pradesh Gaushala Yojana 2022

हमारे देश में गाय हिंदू धर्म की आस्था से जुड़ी हुई है। इसलिए सरकार द्वारा गायों को सुरक्षा प्रदान करने के लक्ष्य से गौशालाओं का निर्माण किया गया है। इस समय देशभर में अनेक गौशालाएं स्थापित है और सरकार द्वारा इन गौशालाओं को सहायता प्रदान करने के लिए समय-समय पर अनेक प्रकार की योजनाएं संचालित की जाती रहती है। आज हम आपको उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा अपने राज्य में स्थित गौशालाओं के हित में शुरू की गई एक योजना के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका नाम यूपी गौशाला योजना है। इस समय यूपी में कम से कम 498 गौशालाएं स्थित है। इस योजना के तहत इन सभी गौशालाओं का विकास करने के लिए इन्हें आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। यदि आप भी इस योजना के तहत लाभान्वित होना चाहते हैं तो हमारे इस लेख कोअंत तक अवश्य पढ़ें। क्योंकि आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से Uttar Pradesh Gaushala Yojana से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण बातों से अवगत कराने जा रहे हैं।

Uttar Pradesh Gaushala Yojana 2022

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं कि यूपी गौशाला योजना को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य में स्थित गौशालाओं का विकास करने के लिए शुरू किया गया है। इस योजना के तहत राज्य में स्थित गौशालाओं का विकास करने के लिए उन्हें आर्थिक सहायता मुहैया कराई जाएगी। इसके अलावा गौशालाओं में‌ कार्य करने वाले नागरिकों को गौशाला से संबंधित प्रशिक्षण भी प्रदान किया जाएगा। ताकि वह प्रशिक्षित होकर गौशाला का बेहतर तरीके से संचालन एवं प्रबंधन कर सकें। लेकिन इस योजना का लाभ केवल पंजीकृत गौशालाओं को ही प्रदान किया जाएगा। इसलिए इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए गौशाला का पंजीकरण करवाना अनिवार्य है। यह पंजीकरण आवेदक द्वारा स्वयं या अपने नजदीकी सीएससी केंद्र के माध्यम से किया जा सकता है।

प्रदेश सरकार द्वारा राज्य की गौशालाओं के बेहतर प्रबंधन के लिए उत्तर प्रदेश गौशाला अधिनियम 1964 शुरू किया गया है। यह अधिनियम संपूर्ण यूपी में लागू किया जाएगा। राज्य सरकार का इस अधिनियम को शुरू करने का निर्णय बहुत ही सराहनीय है क्योंकि इसके माध्यम से राज्य में गौशालाओं की स्थिति को बेहतर किया जा सकेगा।

यूपी गौशाला योजना का उद्देश्य

UP Gaushala Yojana 2022 को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य उत्तर प्रदेश में स्थित गौशालाओं को आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाना है ताकि गौशालाओं की स्थिति को बेहतर करके उनका विकास किया जा सके। साथ ही गौशालाओं में कार्य करने वाले नागरिकों को प्रशिक्षित भी किया जाएगा। जिससे वह उचित तरीके से प्रबंधन करने में सक्षम हो सके। यूपी गौशाला योजना के द्वारा गौशालाओं का विकास होने के साथ-साथ राज्य में रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे। इसके अलावा राज्य के अन्य नागरिक भी गौशाला स्थापित करने के लिए प्रेरित होंगे। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक को किसी भी सरकारी कार्यालय के चक्कर काटने की आवश्यकता नहीं है। क्योंकि आवेदक द्वारा स्वयं या अपने नजदीकी सीएससी केंद्र के माध्यम से आवेदन प्रस्तुत किया जा सकता है। जिससे आवेदक के समय और पैसे दोनों की बचत होती है।

Key Highlights Of UP Gaushala Yojana 2022

योजना का नामयूपी गौशाला योजना
शुरू की गईउत्तर प्रदेश सरकार द्वारा
लाभार्थीराज्य में स्थित पंजीकृत गौशालाएं
उद्देश्यगौशालाओं का विकास करना।
साल2022
राज्यउत्तर प्रदेश
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन
अधिकारिक वेबसाइटhttps://ahgoshalareg.up.gov.in/eDist/Home.aspx

यूपी गौशाला योजना 2022 के लाभ एवं विशेषताएं

  • उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य में गौशालाओं के बेहतर प्रबंधन के लिए उत्तर प्रदेश गौशाला अधिनियम 1964 शुरू किया है।
  • यह अधिनियम संपूर्ण उत्तर प्रदेश में लागू किया जाएगा।
  • इस समय यूपी में लगभग 498 गौशालाएं स्थित है।
  • Uttar Pradesh Gaushala Yojana 2022 के माध्यम से राज्य में स्थित गौशालाओं का विकास करने के लिए इन्हें आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के द्वारा गौशाला में काम करने वाले लोगों को प्रशिक्षण भी प्रदान किया जाएगा। ताकि वह उचित तरीके से प्रबंधन करने के लिए सक्षम हो सके।
  • लेकिन यूपी गौशाला योजना 2022 का लाभ केवल पंजीकृत गौशालाओं को ही प्रदान किया जाएगा।
  • आवेदक को इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए किसी भी सरकारी दफ्तर के चक्कर काटने की जरूरत नहीं है। क्योंकि वह स्वयं या अपने नजदीकी सीएससी केंद्र के माध्यम से योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदन प्रस्तुत कर सकता है।
  • इसके माध्यम से आवेदक के समय और पैसे दोनों की बचत होगी‌। साथ ही कार्यप्रणाली में पारदर्शिता आएगी।
  • प्रदेश सरकार के इस निर्णय से गौशालाओं का विकास होने के साथ-साथ राज्य में रोजगार के नए अवसर भी उत्पन्न होंगे।

यूपी गौशाला योजना के तहत पात्रता मापदंड एवं आवश्यक दस्तावेज

  • गौशाला उत्तर प्रदेश में स्थित होनी चाहिए।
  • इस योजना के तहत केवल पंजीकृत गौशालाएं ही लाभ प्राप्त करने की पात्र है।
  • गौशाला में रखे गए गौवंशो का विवरण प्रपत्र
  • भूमि के अभिलेखों की प्रति जिस पर गौशाला स्थापित है।
  • संस्था के सोसाइटी रजिस्ट्रेशन प्रमाण पत्र, उद्देश्य एवं नियम वाली की छाया प्रति
  • गौशाला के आय-व्यय का संपूर्ण विवरण।
  • गौशाला पंजीकरण हेतु संस्था की कार्यकारिणी द्वारा प्रस्ताव की प्रति
  • गौशाला स्थापित किए जाने संबंधी लेख/प्रस्ताव की प्रति
  • घोषणा पत्र पर समस्त अधिकारियों के हस्ताक्षर
  • आधार कार्ड एवं समिति पैन कार्ड की प्रति
  • समिति के बैंक खाते का विवरण
  • अभिलेखों के रखरखाव, पत्राचार आदि के लिए अधिकृत न्याय संबंधी लेख/प्रस्ताव की प्रति
  • गौशाला की वर्तमान प्रबंधन समिति में उत्तरी अधिकारी नियमित किए जाने संबंधी लेख या प्रस्ताव की प्रति

यूपी गौशाला योजना 2022 के तहत रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको प्रदेशिक गौशाला पंजीकरण प्रणाली, उत्तर प्रदेश की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुलकर आ जाएगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको रजिस्ट्रेशन के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • इसके बाद आपके सामने रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • इस फॉर्म में आपको निम्नलिखित जानकारियां दर्ज करनी है।
    • गौशाला का नाम
    • एस्टेब्लिशमेंट डेट
    • डिस्ट्रिक्ट
    • एप्लीकेंट नेम
    • फादर नेम
    • यूजरनेम
    • ईमेल
    • पासवर्ड
  • इसके बाद आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • अब आपको अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक यूजर आईडी एवं पासवर्ड प्राप्त होगा।
  • इसके बाद आपको यूजर आईडी एवं पासवर्ड का उपयोग करके लॉगइन करना है।
  • लॉगइन करने के बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • इस फॉर्म में आपको पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारियों को दर्ज कर देना है।
  • इसके बाद आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अपलोड करना है।
  • अब आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • इस प्रकार से आप यूपी गौशाला योजना के तहत रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

अपने सर्टिफिकेट का वेरिफिकेशन कैसे करें?

  • सबसे पहले आपको प्रदेशिक गौशाला पंजीकरण प्रणाली, उत्तर प्रदेश की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुलकर आ जाएगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको वेरिफिकेशन के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • इसके बाद आपको अपना जनपद एवं प्रमाण पत्र संख्या दर्ज करनी है।
  • अब आपको गेट स्टेटस के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • इस प्रकार से आप सर्टिफिकेट वेरीफिकेशन कर सकते हैं।

गौशालाओं की सूची देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको प्रदेशिक गौशाला पंजीकरण प्रणाली, उत्तर प्रदेश की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुलकर आ जाएगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको गौशाला के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुलकर आ जाएगा।
  • इस पेज पर आपको गौशालाओं की सूची देख सकते हैं।

लॉगिन कैसे करें?

  • सबसे पहले आपको प्रदेशिक गौशाला पंजीकरण प्रणाली, उत्तर प्रदेश की अधिकारिक वेबसाइट  पर जाना है।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुलकर आ जाएगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको लॉगइन के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुलकर आ जाएगा।
  • इस पेज पर आपको अपना यूजरनेम एवं पासवर्ड दर्ज कर देना है।
  • अब आपको लॉगइन के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • इस प्रकार से आप लॉगइन कर सकते हैं।

अथॉरिटी से अपील कैसे करें?

  • सबसे पहले आपको प्रदेशिक गौशाला पंजीकरण प्रणाली, उत्तर प्रदेश की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुलकर आ जाएगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको अपील टू अथॉरिटी के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुलकर आ जाएगा।
  • इस पेज पर आपको निम्नलिखित जानकारियां दर्ज करनी है।
  • फुल नेम
  • विलेज
  • थाना
  • डिस्ट्रिक्ट
  • ईमेल आईडी
  • फादर/हसबैंड नेम
  • पोस्ट
  • तहसील
  • मोबाइल नंबर आदि
  • इसके बाद आपको सेंडर अपील के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • इस प्रकार से आप अथॉरिटी से अपील कर सकते हैं।

अटैचमेंट की सूची कैसे देखें?

  • सबसे पहले आपको प्रदेशिक गौशाला पंजीकरण प्रणाली, उत्तर प्रदेश की अधिकारिक वेबसाइट  पर जाना है।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुलकर आ जाएगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको अटैचमेंट के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • अब आपके सामने एक पीडीएफ फाइल खुलकर आ जाएगी।
  • इस फाइल में आप अटैचमेंट की सूची देख सकते हैं।

अपने रजिस्ट्रेशन स्टेटस को देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको प्रदेशिक गौशाला पंजीकरण प्रणाली, उत्तर प्रदेश की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुलकर आ जाएगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको रजिस्ट्रेशन स्टेटस के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुलकर आ जाएगा।
  • इस पेज पर आपको अपने जनपद का चयन करना है।
  • अब आपको अपनी आवेदन क्रमांक संख्या दर्ज करनी है।
  • इसके बाद आपको गेट स्टेटस के विकल्प पर क्लिक देना है।
  • इस प्रकार से आप रजिस्ट्रेशन स्टेटस देख सकते हैं।

संपर्क विवरण

  • Phone- 0522-2740238, 0522- 2740482,
  • Fax – 0522-2740202,
  • Email – jdgoshala.up@gmail.com,
  • Address- Badshahbagh Lucknow Uttar Pradesh

1 thought on “यूपी गौशाला योजना 2022 : ऑनलाइन आवेदन लॉगिन व एप्लीकेशन स्टेटस”

Leave a Comment