उत्तर प्रदेश मातृभूमि योजना 2022 : ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, लाभ व कार्यान्वयन प्रक्रिया

Uttar Pradesh Mathrubhumi Yojana Apply Online | उत्तर प्रदेश मातृभूमि योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन | उत्तर प्रदेश मातृभूमि योजना कार्यान्वयन प्रक्रिया

सरकार द्वारा इस समय देश के ग्रामीण क्षेत्रों का विकास करना पर अत्याधिक ज़ोर दिया जा रहा है। जिसके लिए सरकार द्वारा समय-समय पर अनेक प्रकार की योजनाएं लांच की जा रही है। अब हाल ही में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा भी अपने राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों का विकास करने के लिए एक ऐसी योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना का नाम उत्तर प्रदेश मातृभूमि योजना है। इस योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों का इंफ्रास्ट्रक्चरल विकास किया जाएगा। जिसमें सरकार और नागरिक दोनों मिलकर अपना सहयोग प्रदान करेंगे। यदि आप इस योजना से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारियां प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें। क्योंकि आज हम आपको अपने इस लेख के द्वारा इस योजना से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारियों जैसे- उद्देश्य, लाभ एवं विशेषताएं, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि के बारे में बताने जा रहे हैं। यह सभी जानकारियां आपको Uttar Pradesh Mathrubhumi Yojana को विस्तार पूर्वक समझने में बहुत ही सहायता प्रदान करेंगी।

Uttar Pradesh Mathrubhumi Yojana 2022

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा  Mathrubhumi Yojana को आरंभ किया गया है। प्रदेश में 15 सितंबर 2021 को इस योजना को शुरू करने की घोषणा की गई थी। इस योजना के तहत ग्रामीण इलाकों में होने वाले अवस्थापना विकास के कार्यों में नागरिकों को भागीदार बनाया जाएगा। सरकार इस योजना के तहत परियोजना लागत का 50% खर्चा खुद वहन करेगी और बचा हुआ 50% योजना के तहत हिस्सेदारी लेने वाले इच्छुक नागरिक द्वारा वहन किया जाएगा। इस योजना की खास बात यह है कि परियोजना का नाम हिस्सेदार नागरिक द्वारा अपनी इच्छा अनुसार रखा जाएगा और योजना के तहत 50% खर्च करके इच्छुक नागरिक परियोजना का पूरा श्रेय प्राप्त कर सकेंगा। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश मातृभूमि योजना को औपचारिक रूप से शुरू करने के लिए ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग को कार्ययोजना प्रस्तुत करने के दिशा-निर्देश दिए जाएंगे। यह योजना राज्य में ग्रामीण क्षेत्रों का विकास करने के साथ-साथ नागरिकों का भी विकास करने में बहुत ही कारगर साबित होगी।

अब सरकार द्वारा पंचायत सहायकों को भी किया जाएगा नियुक्त

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं कि उत्तर प्रदेश मातृभूमि योजना को सरकार एवं नागरिकों के सहयोग से राज्य के गांवों का विकास करने के लिए शुरू किया गया है। अब सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत सहयोग करने वाले नागरिकों से बातचीत करने के लिए पंचायत सहायकों को नियुक्त करने का भी फैसला लिया गया है। इसके अलावा पंचायत सहायकों द्वारा योजना से जुड़ी जानकारी प्रशासन को भी उपलब्ध करवाई जाएगी। राज्य सरकार द्वारा पहली बार इस योजना के तहत पंचायत सहायकों की नियुक्ति की जा रही है। नियुक्त किए गए पंचायत सहायकों को सरकार और दानदाता द्वारा प्रदान की जाने वाली धनराशि में से लगभग ₹10000 का भुगतान किया जाएगा।

उत्तर प्रदेश मातृभूमि योजना के तहत सोसाइटी का किया जाएगा गठन

इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश मातृभूमि सोसाइटी गठित की जाएंगी। यह सोसाइटी गठित करने के बाद राज्य एवं जिला स्तर पर बैंक खाते खोले जाएंगे। इन खातों के माध्यम से सरकार द्वारा जरूरी राशि उपलब्ध करवाई जाएगी। इन खातों में राशि जमा करने की तारीख के 30 दिन के अंदर मुख्य विकास अधिकारी को प्रोजेक्ट शुरू करने की अनुमति प्रदान करनी होगी। परियोजना के सभी विकास कार्यो की रिपोर्ट मुख्य विकास अधिकारी द्वारा जिलाधिकारी को सौंपी जाएंगी। साथ ही योजना का सुचारू रूप से संचालन करने के लिए प्रोजेक्ट मैनेजमेंट यूनिट भी बनाए जाएंगे। अगर आपको इस योजना से जुड़ी कोई समस्या आती है तो इस दशा में कॉल सेंटर पर संपर्क करके अपनी समस्या का समाधान किया जा सकता है।

Uttar Pradesh Mathrubhumi Yojana 2022 key Highlights

योजना का नामउत्तर प्रदेश मातृभूमि योजना
शुरू की गईउत्तर प्रदेश सरकार द्वारा
लाभार्थीउत्तर प्रदेश के नागरिक
उद्देश्यनागरिकों के सहयोग से ग्रामीण इलाकों का विकास करना
साल2022
राज्यउत्तर प्रदेश
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन/ऑफलाइन
अधिकारिक वेबसाइटजल्द ही लांच की जाएगी।

उत्तर प्रदेश मातृभूमि योजना को आरंभ करने की गई घोषणा

15 सितंबर सन् 2021 को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के सरकारी आवास 5 कालिदास मार्ग में एक वर्चुअल कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इस कार्यक्रम के दौरान उत्तर प्रदेश मातृभूमि योजना को शुरू करने की घोषणा की गई थी। इसके अलावा कार्यक्रम के माध्यम से मुख्यमंत्री जी ने यह भी जानकारी प्रदान की है कि सरकार गांवों के सामाजिक विकास के लिए लगातार कार्यरत है। इसी बात को मद्देनजर रखते हुए मातृभूमि योजना की शुरुआत की गई है। उत्तर प्रदेश के गांवों में इस योजना के माध्यम से स्वास्थ्य केंद्र, आंगनवाडी, पुस्तकालय, स्टेडियम, व्यामशाला, ओपन जिम, फायर सर्विस स्टेशन एवं पशु नस्ल सुधार केंद्र आदि की स्थापना की जाएगी। नागरिकों की हिस्सेदारी स्मार्ट विलेज का निर्माण करने के लिए सीसीटीवी लगवाने, सोलर लाइट, सीवरेज के लिए एसटीपी प्लांट लगवाने में की जाएगी। सरकार की यह योजना गांव एवं उनमें रहने वाले निवासियों का विकास करने में बहुत ही कारगर साबित होगी।

उत्तर प्रदेश मातृभूमि योजना का उद्देश्य

इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश के गांव का नागरिकों के साथ मिलकर इन्फ्राट्रक्चरल विकास करना है। इस योजना के तहत परियोजना लागत का आधा खर्चा सरकार द्वारा और आधा खर्चा परियोजना में भागीदारी लेने वाले नागरिक द्वारा उठाया जाएगा। सहयोगी नागरिक द्वारा परियोजना का नाम अपनी इच्छा से रखा जा सकता है। इसके अलावा परियोजना की सफलता का पूरा श्रेय भी सहयोगी नागरिक को ही दिया जाएगा। Uttar Pradesh Mathrubhumi Yojana 2022 के माध्यम से नागरिक राज्य के ग्रामीण इलाकों के विकास कार्यों में वित्त सहायता प्रदान करने के लिए प्रोत्साहित होंगे। मुख्यमंत्री जी का इस योजना को शुरू करने का निर्णय बहुत ही सराहनीय है क्योंकि यह योजना राज्य के ग्रामीण इलाकों का सरकार और नागरिकों की निगरानी में बेहतर तरीके से इंफ्रास्ट्रक्चरल विकास करने में बहुत ही कारगर साबित होगी।

उत्तर प्रदेश मातृभूमि योजना के लाभ एवं विशेषताएं

  • उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा Mathrubhumi Yojana 2022 को शुरू किया गया है।
  • इस योजना के तहत राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में होने वाले अवस्थापना विकास के अनेक प्रकार के कार्यों में नागरिकों को हिस्सेदारी प्रदान की जाएगी।
  • सरकार द्वारा परियोजना लागत  का 50% खर्च स्वयं एवं 50% खर्च हिस्सेदारी लेने वाले नागरिक द्वारा वहन किया जाएगा।
  • 50% खर्च के बदले परियोजना का नाम सहयोग देने वाले नागरिक की इच्छानुसार रखा जाएगा।
  • इसके अलावा परियोजना की सफलता का पूरा श्रेय भी सहयोगी नागरिक को ही दिया जाएगा।
  • 15 सितंबर सन् 2021 को मुख्यमंत्री जी के सरकारी आवास 5 कालिदास मार्ग में एक वर्चुअल कार्यक्रम का आयोजन किया गया था।
  • इस कार्यक्रम के दौरान उत्तर प्रदेश मातृभूमि योजना को शुरू करने की घोषणा की गई थी।
  • गांवों में इस योजना के माध्यम से स्वास्थ्य केंद्र, आंगनवाडी, पुस्तकालय, स्टेडियम, व्यामशाला, ओपन जिम, फायर सर्विस स्टेशन एवं पशु नस्ल सुधार केंद्र आदि की स्थापना की जाएगी।
  • नागरिकों की हिस्सेदारी स्मार्ट विलेज का निर्माण करने के लिए सीसीटीवी लगवाने, सोलर लाइट, सीवरेज के लिए एसटीपी प्लांट लगवाने में की जाएगी।
  • यह योजना आने वाले समय में उत्तर प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों का विकास करने में अपना एक महत्वपूर्ण योगदान प्रदान करेगी।

उत्तर प्रदेश मातृभूमि योजना के तहत पात्रता एवं महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आवेदनकर्ता को उत्तर प्रदेश का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • आय का प्रमाण
  • आयु का प्रमाण
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ

उत्तर प्रदेश मातृभूमि योजना के तहत आवेदन कैसे करें?

जो इच्छुक नागरिक उत्तर प्रदेश मातृभूमि योजना के तहत अपना आवेदन करना चाहते हैं तो उन्हें अभी थोड़ा इंतजार करना होगा। क्योंकि सरकार द्वारा इस योजना को अभी केवल शुरू करने की घोषणा की गई है। जल्द ही इस योजना के तहत आवेदन से संबंधित जानकारी सरकार द्वारा सार्वजनिक की जाएगी। जैसे ही सरकार Uttar Pradesh Mathrubhumi Yojana 2022 के तहत आवेदन से जुड़ी कोई भी जानकारी साझा करेंगी। तो हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से सूचित कर देंगे। इसलिए आपसे निवेदन है कि हमारे इस लेख के साथ जुड़े रहे हैं।

Leave a Comment