उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन, पात्रता एवं लाभ

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना ऑनलाइन आवेदन | UP Mukhyamantri Bal Seva Yojana Apply Online | मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना एप्लीकेशन फॉर्म

उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने 29 मई 2021 को कोरोना वायरस महामारी से होने वाले अनाथ बच्चों के पालन-पोषण, रहने और शिक्षा के लिए योजना शुरू की है, जिसका नाम उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2021 के है। राज्य सरकार द्वारा इस योजना को शुरू करने का मुख्य उदेश्य यह है की इस बढ़ रहे कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण कई बच्चे अपने माता पिता को खो चुके है, जिसके कारण उन सभी बच्चो को अपना जीवन यापन करने में किसी तरह की समस्या का सामना नहीं करना पढ़े। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई Uttar Pradesh Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2021 के तहत जिन बच्चों ने अपने माता-पिता को कोविड -19 महामारी से खो दिया है, उनके लिए योगी सरकार ने देखभाल के लिए प्रति बच्चा प्रति माह 4000 रुपये की सहायता राशि प्रदान करने की घोषणा की है, तो दोस्तों यदि आप इस योजना का लाभ लेना चाहते है तो आपको हमारे इस आर्टिकल को पूरा अंत तक पढ़ना होगा।

Uttar Pradesh Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2021

हम सभी नागरिक इस बात को अच्छे से जानते है कि कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर आम आदमी के लिए ज्यादा खतरनाक/घातक साबित हुई है। इस कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर में, कई बच्चे अपने माता-पिता को खो चुके हैं और अनाथ हो गए हैं। उनकी देखभाल करने वाला कोई नहीं बचा है, हालांकि, कई बच्चों ने अपने माता-पिता में से एक को खो दिया है, और उनकी आर्थिक स्थिति इतनी कमजोर है कि वे अपनी देखभाल ठीक से नहीं कर सकते हैं। इसी समस्या को देखते हुए, उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री जी ने उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2021 को आरम्भ किया है, जिसके तहत कोरोना वायरस के कारण हुए अनाथ बच्चों के भरण-पोषण और शिक्षा के लिए इस योजना के तहत लाभ दिया जाएगा। यदि आप इस Uttar Pradesh Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2021 की अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आप इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जा सकते है।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना

शादी के लिए आर्थिक सहायता और बच्चों को टेबलेट दिए जाएगे

हम सभी लोग जानते है उत्तर प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2021 को कोरोना के कारण होने वाले अनाथ बच्चो को आर्थिक सहायता पहुचाने के उदेश्य से शुरू किया है, जिसके तहत उत्तर प्रदेश सरकार उन सभी बच्चो को आर्थिक सहायता से लेकर कई अन्य तरहट सुविधाएं भी दे रही है। इस योजना को शुरू करने का मुख्य उदेश्य यह है सरकार की अनाथ हुए बच्चे अपना जीवन यापन करने में किसी भी तरह की समस्या का सामना नहीं करे और साथ ही उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से उन सभी अनाथ पात्र बालिकाओं की शादी के लिए सहायता के रूप में ₹101000 की धनराशि दी जाएगी। इसी के साथ टैबलेट/लैपटॉप उन सभी बच्चो को जो स्कूल एवं कॉलेज में पढ़ते हैं मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के द्वारा दिए जाएगे। यदि आप भी उत्तर प्रदेश के नागरिक है और इस योजना के तहत सरकार द्वारा लाभ उठाना चाहते है तो आपको इस योजना के अंतगर्त आवेदन करना होगा।

Highlights of Uttar Pradesh Mukhyamantri Bal Seva Yojana

नामउत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना
आरम्भ की गईयोगी आदित्यनाथ जी द्वारा
वर्ष2021
लाभार्थीउत्तर प्रदेश के वह बच्चे जिनके माता-पिता या अभिभावक की मृत्यु कोविड-19 के कारण हो गई हो
आवेदन की प्रक्रिया————
उद्देश्यवे सभी बच्चे जिनके माता-पिता या अभिभावक की मृत्यु कोविड-19 के कारण हो गई हो उन को आर्थिक सहायता प्रदान करना।
लाभ 4000 रुपए प्रतिमा
श्रेणीबिहार सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइटhttp://up.gov.in/

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत 4000 की मिलेगी आर्थिक सहायता

कोरोना वायरस के कारण आरम्भ की गई मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के द्वारा राज्य के उन सभी को लाभ प्रदान किया जाएगा, जो इस महामारी के अपने माता पिता को खो चुके है। इस योजना के द्वारा सभी पात्र लाभार्थियों को ₹4000 की आर्थिक सहायता हर महीना दिए जाएगे। उत्तर प्रदेश सरकार ने बताया है की इस योजना तहत ₹4000 की सहायता बच्चे की देखभाल के लिए दी जाएगी। इस Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2021 के तहत सरकार के माध्यम से उन सभी अनाथ बच्चो को यह आर्थिक सहायता उनके वयस्क होने तक दी जाएगी। इसके साथ ही वह सभी राज्य के बच्चे जो 10 वर्ष या उससे कम है और उनका सभी बच्चो का कोई अभिभावक नहीं है तो उन सभी को मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के द्वारा सहायता प्रदान की जाएगी।

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत अवयस्क लड़कियों की देखभाल एवं उनकी शिक्षा

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के माध्यम से उन सभी लड़कियों को आवास और शिक्षा प्रदान करने की जिम्मेदारी भी ली जाएगी जो नाबालिग हैं। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से उन सभी पात्र बालिकाओं को केंद्र सरकार के माध्यम संचालित कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय, राजकीय बाल गृह एवं राज्य सरकार द्वारा संचालित अटल आवासीय विद्यालय के तहत शिक्षा एवं आवास दिए जायेगा। उत्तर प्रदेश राज्य में इस समय करीब 13 बाल गृह संचालित हैं और 17 अटल आवासीय विद्यालय चल रहे हैं। यह योजना सभी नाबालिग बच्चियों की देखभाल सुनिश्चित करने के लिए शुरू की गई है। राज्य सरकार ने बताया है की अब देश की लड़कियां इस योजना के माध्यम से लाभ उठाकर अपना जीवन यापन आसानी से कर सकेंगी।

यूपी मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का उदेश्य

उत्तर प्रदेश बाल सेवा योजना शुरू करने का मुख्य उद्देश्य यह है की राज्य के उन सभी बच्चों को वित्तीय सहायता प्रदान की जाए, जो इस कोरोना वायरस महामारी के कारण अपने माता पिता को खो दिए है, सरकार का उद्देश्य राज्य के इन बच्चों को विभिन्न सुविधाएं देकर आत्मनिर्भर बनाना है और सरकार को अधिक से अधिक बच्चों को लाभ पहुंचाना है। उत्तर प्रदेश राज्य के बच्चों को किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े इसलिए Uttar Pradesh Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2021 की शुरुआत की गई है। इसी के साथ इस योजना के माध्यम से राज्य के बच्चों की पढ़ाई के साथ साथ उनके विवाह का खर्च भी उत्तर प्रदेश सरकार उठाएगी, इनकी ऑनलाइन पढ़ाई के साथ सरकार लैपटॉप या टेबलेट भी प्रदान करेगी किए जाएंगे।

उत्तर प्रदेश बाल सेवा योजना 2021 का लाभ

  • UP Mukhyamantri Bal Seva Yojana का लाभ उन सभी राज्य के बच्चो को प्रदान किया जाएगा जिनके माता-पिता की मृत्यु कोविड-19 कोरोना वायरस के कारण हुई है।
  • इस योजना के तहत, राज्य सरकार हर महीने अनाथ बच्चों को 4000 रुपये की पेंशन राशि प्रदान करेगी।
  • उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई Uttar Pradesh Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2021 का लाभ उठाने के लिए आपको आवेदन पत्र प्राप्त करना होगा।
  • इस वित्तीय सहायता राशि से अनाथ बच्चों के रिश्तेदारों को शिक्षा, स्कूल की फीस आदि में लगाया जा सकता है।
  • उत्तर प्रदेश सरकार की यह योजना कई अनाथों का भविष्य बनाएगी, और इस योजना 2021 के तहत सहायता के रूप में उस अनाथ लड़की की शादी जब 18 साल बाद होगी, तो उसके परिजनों को बेटी की शादी पर 1,01,000 रुपये दिए जाएंगे।

Uttar Pradesh Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2021 के पात्रता

राज्य सरकार ने उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2021 में शामिल करने के लिए निम्नलिखित पात्रता मानदंड अनिवार्य किए हैं-

  • उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई UP Mukhyamantri Bal Seva Yojana का लाभ केवल वे अनाथ बच्चे ले सकते है जिन्होंने कोरोना महामारी के कारण अपने माता-पिता दोनों को खो दिया है।
  • इस योजना का लभ प्राप्त करने के लिए उस अनाथ बच्चे को उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना में अनाथ बच्चे भी शामिल होंगे जिनके माता-पिता पहले ही मर चुके हैं, लेकिन उनके कानूनी अभिभावक की भी महामारी के दौरान मृत्यु हो गई है।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना आवश्यक दस्तावेज

उत्तर प्रदेश के जो भी नागरिक उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2021 के लिए आवेदन करना चाहते हैं उन सभी निचे दिए गए दस्तावेजों पूरा करना होगा :-

  • आधार कार्ड
  • कोरोना से माता-पिता या अभिभावक की मृत्यु का मेडिकल बोर्ड प्रमाण पत्र।
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2021 के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया

यदि आप उत्तर प्रदेश राज्य के निवासी है और आप उत्तर प्रदेश बाल सेवा योजना के लिए आवेदन करना चाहते है तो आपको बता दे की, यही उत्तर प्रदेश सरकार ने Uttar Pradesh Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2021 के तहत अभी प्रक्रिया शुरू नहीं की है, जिसके लिए अभी आपको कुछ समय इंतजार करना होगा। क्योंकि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने अभी-अभी योजना का ऐलान किया है। जैसे ही राज्य सरकार आधिकारिक वेबसाइट पर आवेदन की प्रक्रिया लॉन्च करेगी। हम आपको अपनी वेबसाइट पर अपडेट करेंगे।

यह भी पढ़ेमुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म

हम उम्मीद करते हैं की आपको उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2021 से सम्बंधित जानकारी जरूर लाभदायक लगी होंगी। इस लेख में हमने आपके द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालो के जवाब देने की कोशिश की है।

यदि अभी भी आपके पास इस योजना से सम्बंधित सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। इसके साथ ही आप हमारी वेबसाइट को बुकमार्क भी कर सकते हैं।

Leave a Comment