हिमाचल प्रदेश मुख्यमंत्री की स्टार्टअप योजना – हिमाचल में 680 करोड़ रुपये की स्टार्ट-अप योजना की शुरुआत

Himachal Mukhyamantri Startup Yojana 2024:- हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के शिक्षित युवाओं को रोज़गार देने एवं उनको मार्गदर्शन दिखाने हेतु एक नई योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना का नाम “मुख्यमंत्री स्टार्टअप योजना”है इस योजना के माध्यम से राज्य के लोगों को अनेक सुविधाएं प्रदान की जाएगी। सरकार के तहत इस योजना के अंतर्गत प्रदेश में नए विचार, उत्पादों, युवाओं को नौकरी, व्यवसायीकरण और उद्योगों का विकास किया जाएगा। इसके साथ ही इस योजना के तहत राज्य में मेजबान संस्थान में कैपेसिटी को बनाने, नेटवर्किंग का विकास करने, महत्त्वपूर्ण बुनियादी ढांचा को जारी करने एवं ऊष्मायन केंद्रों के को शुरू करने का कार्य भी किया जाएगा। यदि आप भी इस योजना से संबंधित जानकारी प्राप्त करना है तो आपको हमारा यह लेख विस्तारपूर्वक अंत तक ज़रूर पढ़ना होगा।

Himachal Mukhyamantri Startup Yojana

Himachal Pradesh Mukhyamantri Startup Yojana 2023

हिमाचल प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री जी के द्वारा राज्य में Mukhyamantri Startup Yojana का संचालन किया जा रहा है। इस योजना के माध्यम से राज्य के शिक्षित एवं बेरोज़गार युवाओं को रोज़गार की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। राज्य के सूक्ष्म कारोबारी इस योजना का लाभ प्राप्त कर रहे है जिसकी मदद से राज्य में दर में गिरावट आएगी एवं अधिक से अधिक लोग एक बेहतर रोज़गार से जुड़ सकेंगे। इस योजना के माध्यम से उद्योग क्षेत्र में भी पारदर्शिता आएगी और सरकार पर ज़िम्मेदारियों का बोझ हल्का होगा। हिमाचल प्रदेश मुख्यमंत्री स्टार्टअप योजना के तहत तीन वर्ष तक प्रति इनक्यूबेटर संगठन को 30 लाख रुपये तक की उदार और वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।

Himachal e-Taxi Scheme 

हिमाचल मुख्यमंत्री स्टार्टअप योजना के बारे मे जानकारी

योजना का नामHimachal Mukhyamantri Startup Yojana
आरम्भ की गईराज्य सरकार द्वारा
राज्यहिमाचल प्रदेश।
वर्ष2023
लाभार्थीसूक्ष्म एंव लघु उद्योग व्यवसायी
उद्देश्यनए विचारो/उत्पादो और प्रक्रियाओं को बढ़ावा देना
लाभनई औद्योगिक इकाईयों को 3 साल तक निरिक्षण मे छुट

Himachal Mukhyamantri Startup Yojana का उद्देश्य

हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा Himachal Mukhyamantri Startup Yojana को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य राज्य के बेरोज़गार युवाओं को रोज़गार प्रदान करके उनके जीवन को विकसित करना एवं राज्य में ऊष्मायन केंद्र को स्थापित करना है। इस योजना के अंतर्गत प्रदेश सरकार द्वारा प्रशिक्षुओ को 1 वर्ष तक प्रतिमाह 25 हजार रूपए का आजिविका भत्ता उपलब्ध कराया जाएगा। मुख्यमंत्री स्टार्टअप योजना के माध्यम से राज्य के युवाओं के नए विचारों को बढ़ावा दिया जाएगा। इस योजना के जारी होने से राज्य में अधिकतम रोज़गार में बढ़ोत्तरी होगी।

हिमाचल मुख्यमंत्री स्टार्टअप योजना मे केन्द्र बिंदु के क्षेत्र

  • खुदरा
  • स्वच्छ तकनीकी
  • खाद्य प्रसंस्करण
  • जैव प्रोद्योगिकी
  • पर्यटन और आतिथ्य
  • हार्डवेयर सहित मोबाइल, आईटी
  • कृषि बागवानी और सम्बन्धित क्षेत्र
  • प्रोद्योगिकी किसी भी क्षेत्र मे नवाचार को संचालित करती है
  • ग्रामीण अवसंरचंना और सुविधाएं, शिल्प, कला, पानी और स्वच्छता, नवीकरणीय ऊर्जा, स्वास्थ्य सेवा आदि

मुख्यमंत्री स्टार्टअप के अन्तर्गत पुरस्कार

प्रथम स्थान के लिए1 लाख रूपेय।
द्वितीय स्थान के लिए75 हजार रूपेय।
तृतीय स्थान के लिए50 हजार रूपेय।

Himachal Pradesh Mukhyamantri Startup Yojana के लाभ

  • हिमाचल प्रदेश सरकार के माध्यम से मुख्यमंत्री स्टार्टअप योजना को शुरू किया गया है।
  • आवेदक को भूमि की खरीद करने पर महत्त्वपूर्ण स्टैंप ड्यूटी कोमात्र 3 फिसद तय किया गया है।
  • उद्योग विभाग ने उद्योग स्थापित करने के लिए भूखंडों पर ब्याज दर 50% निर्धारित की गई है।
  • इस योजना के अंतर्गत राज्य सरकार द्वारा औद्योगिक इलाकों एंव छोटी बस्तियों के निवासी उद्योगपति को कम दरों पर भूमि मुहैया कराई जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने पर राज्य प्रदूषण बोर्ड द्वारा लिया जा रहा शुल्क पर आवेदन फीस में रियायत दी जाएगी।

सीएम स्टार्टअप योजना के लिए पात्रता एंव मानदंड

  • आवेदक को हिमाचल प्रदेश का मूल निवासी होना आवश्यक है।
  • इस योजना के अंतर्गत सभी नए स्टार्टअप और नवाचार परियोजनाएं पात्र होंगे।
  • लाभार्थी की आयु 18 वर्ष से 40 वर्ष के मध्य होनी चाहिए।

औद्योगिक क्षेत्र योजना के अंतर्गत

  • क्लीनटेक
  • खुदरा व्यापार
  • जैव प्रौद्योगिकी
  • खाद्य प्रसंस्करण
  • कृषि और बागवानी
  • पर्यटन और आतिथ्य
  • हार्डवेयर सहित मोबाइल, आईटी और आईटी
  • किसी भी क्षेत्र में प्रौद्योगिकी संचालित नवाचार
  • ग्रामीण अवसंरचना और सुविधाएं, शिल्प, कला, पानी और स्वच्छता, नवीकरणीय ऊर्जा, स्वास्थ्य सेवा आदि।

हिमाचल प्रदेश मुख्यमंत्री स्टार्टअप योजना में कुल आवेदन

  • सर्वप्रथम इसमे से पात्र 334 आवेदन इन्क्यूबेशन में सेटंर को भेजे दिया जाएगा।
  • इसके पश्चात् 97 इन्क्यूबेटी को इन्क्यूबेशन सेंटर के माध्यम से चुना जाएगा।
  • इसमें 45 इन्क्यूबेटी अपना इन्क्यूबेशन सम्पूर्ण कर पूरा चुके है।
  • 25 इन्क्यूबेटी अपना स्टार्टअप वाणिज्यीकृत कर रहे है और 44 इन्क्यूबेटी इन्क्यूबेशन मे उपस्थित है।

Leave a Comment