प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान 2022: ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म

Pradhan Mantri Garib Kalyan Rojgar Yojana Online Apply | प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार योजना क्या है | Garib Kalyan Rojgar Abhiyan Form | पीएम गरीब कल्याण रोजगार अभियान रजिस्ट्रेशन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आगामी 20 जून को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान की शुरुआत करेंगे। कोरोना वायरस के संक्रमण के समय में दूसरे राज्यों से लोटे दैनिक श्रमिकों को अपने गांव/कस्बे में ही रोजगार के अवसर उप्लब्श कराने के उद्देश्य से वित मंत्री निर्मला सीतारमण जी के द्वारा Pradhanmantri Garib Kalyan Rojgar Yojana की घोषणा की गयी है। पीएम गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत देश के प्रधानंमत्री नरेंद्र मोदी के डी द्वारा 20 जून को लांच किया जायेगा। केंद्र सरकार द्वारा इस योजना की शुरुआत कोरोना वायरस के संक्रमण के समय में दूसरे राज्यों से लौटने वाले श्रमिकों को उनके निवास स्थान के करीब रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के उद्देश्य से की गयी है। इस योजना को समस्जिक कल्याण विभाग के सहयोग से 6 राज्यों के 116 जिलों में मिशन मोड में लागु किये जाने की तेयारिया पूरी कर ली गयी हैं।

Table of Contents

Pradhanmantri Garib Kalyan Rojgar Yojana

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण के समय में गरमी क्षेत्रों के प्रवसि मजदूरो को उनके गांव/कस्बे में रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान नाम से एक योजना की शुरुआत की है। इस योजना के तहत दूसरे राज्यों से लोटने वाले श्रमिक मजदूरो को आर्थिक लाभ प्रदान किया जायेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा आगामी 20 जून को वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान की शुरुआत (Pradhan Mantri Garib Kalyan Rozgar Abhiyan launched through video conferencing on 20 June) की जाएगी। प्रारम्भ में इस योजना को 6 राज्यों के 116 जिलों में में मिशन मोड में लागु किये जाने की बात कही गयी है।

Garib Kalyan Rojgar Yojana New Update

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना देश के सभी बेरोजगार नागरिकों को रोजगार देने के लिए शुरू की गई है। स्व-विश्वसनीय भारत अभियान 3.0 के तहत, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण घोषणाएँ निचे दी गयी हैं।

  • देश के कुल 116 जिलों में यह प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार योजना सक्रिय है।
  • अब तक 37,543 करोड़ रुपये इस योजना के तहत खर्च किए जा चुके हैं।
  • प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान को रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए मनरेगा, प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना आदि से जोड़ा गया है।
  • मनरेगा का बजट 2020-21 में 61,500 करोड़ था और जिसमे 40,000 करोड़ रुपये का अतिरिक्त बजट MGNREGA के लिए स्व-विश्वसनीय भारत अभियान 1.0 में प्रदान किया गया।
  • अब तक मनरेगा पर 73,504 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं, जिसके तहत 251 करोड़ लोगों को रोजगार मिला है।
  • प्रधान मंत्री गरीब कल्याण रोजगार योजना के लिए इस वित्तीय वर्ष में 10,000 करोड़ रुपये का अतिरिक्त बजट प्रदान किया जाएगा, ताकि ग्रामीण अर्थव्यवस्था बढ़े।

पीएम गरीब कल्याण रोजगार अभियान का क्रियान्वयन

प्रारम्भ में पीएम गरीब कल्याण रोजगार अभियान को  6 राज्यों के 116 जिलों में मिशन मोड में लागु किये जाने की बात कही गयी है। इस योजना को इन सभी 116 जिलों में 125 दिनों तक प्रवासी श्रमिकों की सहायता के लिए शुरू किया जायेगा, इन 125 दिनों में केंद्र सरकार द्वारा प्रवासी श्रमिकों के लिए 25 योजनाओ तक पहुंच को आसान बनाया जायेगा। वित्त मंत्री निर्मला सीताराम के द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार पीएम गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत 125 दिनों के भीतर सेचुरेशन लेवल पर योजनाओ का लाभ श्रमिकों तक पहुंचाया जायेगा। इस 125 दिनों के सेशन की अंतिम तिथि 22 अक्टूबर 2020 होगी। इस अभियान में सरकार 25 अलग अलग सेक्टर के कार्यो को किस तरह बढ़ाया जाए इस बात पर ध्यान दिया जायेगा।

गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत आने वाले राज्य

दैनिक श्रमिकों को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से शुरू की गयी इस योजना को 20 जून को प्रधानमंत्री के द्वारा शुरुआत के बाद 6 राज्यों के 116 जिलों में ही लागु किये जाने की बात कही जा रही है। इन सभी  6 राज्यों के 116 जिलों में इस योजना को 125 दिनों के लिए लागु किया जायेगा। यहाँ हम आपको राज्यों तथा जिलों के बारे में जानकारी प्रदान करे रहे हैं।

  • उत्तर प्रदेश
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • ओडिशा
  • झारखण्ड
  • बिहार

इस योजना के माध्यम से उरोक्त राज्यों के 25 हजार से अधिक श्रमिक मजदूरों को लाभ पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है। 6 राज्यों के 116 जिलों में 27 आकांक्षी जिले शामिल किये गए हैं। दैनिक श्रमिक प्रवासी मजदूरों की घर वापसी वाले जिलों में सबसे अधिक बिहार के 32 जिले हैं जिनमें से 12 आकांक्षी जिले हैं। इसके साथ ही उत्तर प्रदेश के 31 जिलों में पांच आकांक्षी जिलों, ध्यप्रदेश के 24 जिलों, राजस्थान के 22 जिलों, ओडिशा के चार जिले और झारखंड के तीन जिलों को शामिल किया गया है।

पीएम गरीब कल्याण रोजगार अभियान प्रमुख तथ्य

योजना का नामप्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान
आरम्भ की गईकेंद्र सरकार के द्वारा
लाभार्थीदूसरे राज्यों से लोटे श्रमिक
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन/ऑफलाइन
उद्देश्यप्रवासी श्रमिकों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराना
लाभआवास स्थान पर रोजगार की उपलब्धता
श्रेणीकेंद्र सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइटजल्द ही

पीएम गरीब कल्याण रोजगार योजना कृषि मंत्री की घोषणा 

जैसे कि पूरा देश कोरोना वायरस के कारण एक बड़े संकट से गुजर रहा है और इसे देखते हुए देश में लॉक डाउन की स्थिति है। इसके चलते कृषि मंत्री ने एक सम्मेलन में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोज़गार योजना के बारे में कहा है कि इस लॉक डाउन की स्थिति को देखते हुए, प्रधान मंत्री ने मजदूरों, गरीब किसानों आदि के लिए 70 हजार करोड़ रुपये का पैकेज शुरू किया है । देश के जो मजदूर और श्रमिक रोजगार के लिए दूसरे राज्यों में रह रहे थे, वे कोरोना काल के चलते अपने घरों में वापस आ गए हैं और अपने स्वयं के क्षेत्र में काम करना चाहते हैं, तो उनके पास अपने स्वयं के क्षेत्र में कौशल और रुचि के अनुसार गरीब कल्याण रोज़गार अभियान के तहत रोजगार प्रदान किया जाएगा, ताकि ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के अवसर मिल सकें।

पीएम गरीब रोजगार अभियान की नई घोषणा

प्रधानमंत्री  जी ने कहा है कि इस अभियान के तहत केंद्र सरकार द्वारा 50 हजार करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। यह अभियान 6 राज्यों के 116 जिलों में 125 दिनों के लिए चलाया जाएगा। इस योजना के तहत, 25 कार्यों को प्रमुख रूप से चुना गया है। इन चयनित 25 नौकरियों से रोजगार के अवसर जल्दी बनेंगे। इस 125-दिवसीय अभियान के तहत, अधिक से अधिक श्रमिकों को रोजगार प्रदान किया जाएगा। बिहार के मुख्यमंत्री का कहना है कि इस गरीब कल्याण रोजगार अभियान से बिहार में बाहर से आने वाले प्रवासी मजदूरों को बड़ी राहत मिलेगी।

गरीब कल्याण रोजगार योजना में राज्यों की सूची

क्रमांक संख्याराज्यों का नामजिलेआकांक्षात्मक जिले
1बिहार3212
2उत्तर प्रदेश315
3मध्य प्रदेश244
4राजस्थान222
5ओडिशा41
6झारखण्ड33
कुल जिले11627

पीएम गरीब रोजगार योजना 2021

बिहार के 38 जिलों में से 32 को इस अभियान के तहत चुना गया है। इस योजना के तहत, आंगनवाड़ी केंद्र, सामुदायिक केंद्र, कृषि, सड़क, आवास, बागवानी, जल संरक्षण आदि जैसे 25 विकास कार्यों पर विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों के विकास के उद्देश्य से जोर दिया जाएगा। गरीब कल्याण रोज़गार अभियान के तहत, प्रधान मंत्री जी ने  एक और घोषणा की है कि वहां पंचायत भवन का निर्माण किया जाएगा जहाँ कोई पंचायत भवन नहीं है और आधुनिक गाँवों को भी इस अभियान में जोड़ा जाएगा। इस अभियान के तहत, 6 राज्यों जैसे बिहार, राजस्थान, मध्य प्रदेश, ओडिशा, उत्तर प्रदेश, झारखंड आदि के 116 जिलों के मजदूरों, श्रमिकों और कामकाजी महिलाओं को घर के पास काम मुहैया कराया जाएगा, ताकि प्रवासी मजदूरों को उनकी आजीविका के लिए बिहार में ही  रोजगार

Garib Kalyan Rojgar Yojana का उद्देश्य

आप सभी जानते हैं की भारत में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (COVID 19) के संक्रमण को देखते हुए केंद्र की नरेंद्र मौसी सरकार के द्वारा लॉक-डाउन की घोषणा की गयी थी। इस लॉक-डाउन की अवधि में दूसरे राज्यों में काम कर रहे श्रमिकों ,की घर वापसी का सिलसिला लगातार जारी है। ऐसे में अपने गांव लोटे श्रमिकों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान की शुरुआत की गयी है। इस योजना की शुरुआत के बाद दूसरे राज्यों से घर लौटने वला श्रमिकों को उनके निवास स्थान के नजदीक ही रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने का कार्य किया जायेगा। आज की स्थिति को देखे तब लॉक-डाउन की वजह से श्रमिकों को काम मिलने में बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इस अभियान के माध्यम घर लोटे श्रमिकों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराकर उनकी आजीविका के साधनो में बढ़ोतरी की जाएगी।

नेशनल करियर सर्विस पोर्टल रजिस्ट्रेशन, लॉगिन

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत शामिल विभाग एवं कार्यो की सूची

अपने शुरुआती चरण में इस योजना के तहत गरीब कल्याण रोजगार अभियान में कुल 12 मंत्रालय और विभागों से जोड़ा जाएगा जिसकी सूची कुछ इस प्रकार है।

  • ग्रामीण विकास
  • सड़क परिवहन एवं राजमार्ग
  • पंचायतीराज
  • खाने (Mines)
  • पेयजल और स्वच्छता
  • पर्यावरण
  • रेलवे
  • पेट्रोलियमऔर प्राकृतिक गैस
  • नई और नवीकरणीय ऊर्जा
  • सीमा सड़क
  • दूरसंचार
  • कृषि

इस योजना की शुरआत के साथ ही 67 लाख प्रवासी मजदूरों को 125 दिनों तक आजीविका के साधन मुहैया कराने के लिए काम किया जायेगा। यहाँ हम आपको कुछ प्रमुख कार्यो के बारे में जानकारी प्रदान कर रहें हैं।

  • फाबर ऑप्टिक केबल बिछाना
  • जल जीवन मिशन के तहत कार्य
  • प्रधानमंत्री उर्जा गंगा परियोजना विकास
  • ठोस व तरल कचरा प्रबंधन कार्य
  • कृषि विज्ञान केंद्र के माध्यम से आजीविका के लिए प्रशिक्षण
  • जिला खनिज निधि के तहत कार्य
  • तालाब एवं कुओं की खुदाई
  • पशुशाला का निर्माण व रखरखाव
  • वर्मी कंपोस्ट से सम्बंधित कार्य

PM Garib Kalyan Rojgar Abhiyan के मुख्य तथ्य

  • केंद्र सरकार की इस योजना के माध्यम से लॉक-डाउन के समय में घर लोटे प्रवासी मजदूरों को काम मुहैया कराया जायेगा।
  • प्रारम्भ में इस योजना को 6 राज्यों के116 जिलों में 125 दिनों तक मिशन मोड में लागु किये जाने की बात कही गयी है।
  • इस योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों के प्रवासी मजदूरों को 125 दिनों के रोजगार के अवसर उपलब्ध कराए जायेंगे।
  • प्रधानम्नत्री नरेंद्र मोदी 6 राज्यों के मुख्यमंत्रियों की उपस्थिति में वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से इस योजना की शुरुआत करेंगे।
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए प्रवासी मजदूरों को (Pradhanmantri Garib Kalyan Rojgar Yojana) के तहत पंजीकरण कराना अनिवार्य होगा।
  • केंद्र सरकार द्वारा ‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ का बजट 50 हजार करोड़ रुपये रखा गया है जिसमे शुरूआती चरण में 6 राज्यों को ही शामिल किये जाने की बात कही गयी है।
  • इस योजना में 6 राज्यों के 116 जिलों में 27 आकांक्षी जिले शामिल किये गए हैं। पीएम गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत के 25 हजार से अधिक श्रमिक मजदूरों को लाभ पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है।
  • दैनिक श्रमिक प्रवासी मजदूरों की घर वापसी वाले जिलों में सबसे अधिक बिहार के 32 जिले हैं जिनमें से 12 आकांक्षी जिले हैं। इसके साथ ही उत्तर प्रदेश के 31 जिलों में पांच आकांक्षी जिलों, ध्यप्रदेश के 24 जिलों, राजस्थान के 22 जिलों, ओडिशा के चार जिले और झारखंड के तीन जिलों को शामिल किया गया है।
  • प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार योजना के तहत श्रमिकों को फाबर ऑप्टिक केबल बिछाना, जल जीवन मिशन के तहत कार्य, प्रधानमंत्री उर्जा गंगा परियोजना विकास, ठोस व तरल कचरा प्रबंधन कार्य, कृषि विज्ञान केंद्र के माध्यम से आजीविका के लिए प्रशिक्षण, जिला खनिज निधि के तहत कार्य, तालाब एवं कुओं की खुदाई, पशुशाला का निर्माण व रखरखाव, वर्मी कंपोस्ट से सम्बंधित कार्य में कार्य कराया जायेगा।

पीएम गरीब कल्याण रोजगार योजना का कवरेज 2021

जिन जिलों में लौटे हुए प्रवासी कामगारों की संख्या 25000 से अधिक है उन जिलों को प्रधान मंत्री गरीब कल्याण रोज़गार अभियान के तहत, शामिल किया गया है। इन राज्यों के नाम बिहार, झारखंड, ओडिशा, राजस्थान, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश है। इन 6 राज्यों के लगभग 116 जिलों को शामिल किया गया है और 20 जून 2020 से यह अभियान 125 दिनों की अवधि के लिए चलेगा।

योजना के कार्यों की सूची

निचे दी गयी तालिका 25 कार्यों और गतिविधियों को प्राथमिकता के अनुसार दर्शाती है।

क्रमांक संख्याकार्य / गतिविधि
1सामुदायिक स्वच्छता केंद्र (CSC) का निर्माण
2ग्राम पंचायत भवन का निर्माण
314 वें एफसी फंड के तहत काम करता है
4राष्ट्रीय राजमार्ग कार्यों का निर्माण
5जल संरक्षण और कटाई का काम करता है
6कुओं का निर्माण
7वृक्षारोपण का काम करता है
8बागवानी
9आंगनवाड़ी केंद्रों का निर्माण
10ग्रामीण आवास कार्यों का निर्माण
11ग्रामीण कनेक्टिविटी का काम करता है
12ठोस और तरल अपशिष्ट प्रबंधन कार्य करता है
13खेत तालाबों का निर्माण
14पशु शेड का निर्माण
15पोल्ट्री शेड का निर्माण
16बकरी शेड का निर्माण
17वर्मी-कम्पोस्ट संरचनाओं का निर्माण
18रेलवे
19रुर्बन
20पीएम कुसुम
21भारत नेट
22CAMPA का वृक्षारोपण
23पीएम उर्जा गंगा प्रोजेक्ट
24लाइवलीहुड के लिए केवीके प्रशिक्षण
25जिला खनिज फाउंडेशन ट्रस्ट (DMFT) काम करता है

नोडल मंत्रालय पीएम गरीब कल्याण रोज़गार अभियान

भारत सरकार के ग्रामीण विकास विभाग द्वारा प्रधान मंत्री गरीब कल्याण रोज़गार अभियान लागू किया जाएगा। इस अभियान के तहत, अभियान की समीक्षा के लिए सचिवों की एक समिति एक मंत्रिमंडल सचिव की अध्यक्षता में बनाई जाएगी। हर जिले में केंद्रीय नोडल अधिकारी निर्धारित किया जाएगा, जो प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोज़गार अभियान के ठीक से चलने का ध्यान रखेगा।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के लाभ

  • देश के प्रवासी मजदूर  इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकेंगे।
  • इस योजना के शुभारंभ के दौरान, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि स्व-निर्भर भारत योजना के तहत क्षेत्रीय उद्योगों को बढ़ावा दिया जायेगा। प्रत्येक राज्य जिले में कई स्थानीय उत्पाद हैं, जिन्हें बढ़ावा देने पर क्षेत्रीय उद्योगों को लाभ होगा।
  • ग्रामीण विकास, पंचायती राज, सड़क परिवहन सहित योजना के अनुरूप सभी को रखने के लिए 12 मंत्रालय मिलकर काम कर रहे हैं।
  • पीएम गरीब कल्याण योजना में एक मजदूर को उसकी दक्षता के आधार पर ही काम दिया जाएगा।
  • यह योजना प्रवासी श्रमिकों की आर्थिक स्थिति सुधार करेगी।
  • इस योजना के द्वारा राज्यों में बेरोजगारी कम होगी और लोगों को रोजगार मिलेगा, जिससे ग्रामीण क्षेत्रों के विकास की गति में बढ़ोतरी होगी ।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान योजनाओं की सूची

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना अभियान के अंतर्गत सरकार द्वारा चलाई जाने वाली 25 योजनाओं को लोगों तक पहुंचाया जाएगा। यह काम 125 दिन के अंदर अंदर किया जाएगा। सरकार द्वारा चलाई जाने वाली इन 25 योजनाओं में से कुछ योजनाएं कुछ इस प्रकार है।

मंत्रालययोजनाएं
कृषि अनुसंधान और शिक्षा विभागप्रशिक्षण/कौशल विकास
रक्षा मंत्रालयसीमावर्ती सड़कें
दूरसंचार विभागभारत नेट
नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा विभागपीएम कुसुम
पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालयप्रधानमंत्री ऊर्जा गंगा परियोजना
पर्यावरण और वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालयसी ए ए एम पी ए निधियां
पेयजल और स्वच्छता विभागस्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण
रेलवे मंत्रालयरेलवे कार्य
खान मंत्रालयजिला खनिज निधि
सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालयभारतमाला और अन्य योजनाएं
पंचायती राज मंत्रालयवित्त आयोग अनुदान
ग्रामीण विकास विभागश्याम प्रसाद मुखर्जी रूब्रन मिशन
ग्रामीण विकास विभागमहात्मा गांधी नरेगा
ग्रामीण विकास विभागप्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना
ग्रामीण विकास विभागप्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण
प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान:

अभियान के संगठित 12 मंत्रालयों/विभागों के नाम

  • ग्रामीण विकास मंत्रालय।
  • पंचायती राज मंत्रालय।
  • सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय।
  • खान मंत्रालय।
  • पेयजल और स्वच्छता मंत्रालय।
  • पर्यावरण मंत्रालय।
  • रेलवे मंत्रालय।
  • पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय।
  • नई और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय।
  • सीमा सड़क विभाग।
  • दूरसंचार विभाग।
  • कृषि मंत्रालय।

योजना की पात्रता एवं आवश्यक दस्तावेज 

  • केवल भारत का स्थाई निवासी ही योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकता है ।
  • आवेदक की आयु 18 वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए, इससे कम आयु वाला व्यक्ति योजना के लिए पात्र नहीं होगा।
  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • बैंक अकाउंट पासबुक
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर
  • आयु प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र

गरीब  कल्याण रोजगार योजना आवेदन 

दिल्ली में 26 जून को एक वीडियो कॉन्फ्रेंस में,  केंद्रीय ग्रामीण विकास और पंचायती राज्य मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने इस योजना के तहत, प्रवासी मजदूरों के ऑनलाइन आवेदन के लिए,  गरीब कल्याण रोज़गार ऑनलाइन वेब पोर्टल लॉन्च किया है।  तोमर जी ने यह भी कहा है कि कोविद -19 लॉकडाउन की वजह से अपने मूल स्थानों पर लौट आए लाखों प्रवासी श्रमिकों को सरकार द्वारा चलाये इस अभियान के तहत चार महीने के अंदर रोजगार प्रदान किया जाएगा। इस वेब पोर्टल पर प्रवासी मजदूरों को इस अभियान के विभिन्न जिला-वार और योजना-वार घटकों के बारे में जानकारी मिलेगी और इसके अलावा, 6 राज्यों के 116 जिलों में 50,000 करोड़ रुपये के साथ शुरू किए गए कार्यों को पूरा करने के लिए प्रगति की निगरानी में मदद मिलेगी।

पीएम गरीब कल्याण रोजगार अभियान का कार्यान्वयन

  • केंद्रीय डैश बोर्ड और मोबाइल ऐप के माध्यम से इस अभियान की प्रगति ट्रैक की जाएगी।
  • मोबाइल ऐप जल्द ही गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध होगा और आप इसके जरिए फीडबैक भी अपलोड कर सकेंगे।
  • केंद्रीय नोडल अधिकारी को आधिकारिक वेबसाइट पर अपना पंजीकरण करना होगा।
  • राज्य के नोडल अधिकारी और जिले के नोडल अधिकारी को भी आधिकारिक वेबसाइट पर अपना पंजीकरण कराना होगा और इस अभियान से जुड़े प्रत्येक अधिकारी को अपना पंजीकरण कराने की आवश्यकता होगी ।
  • सभी विभागों को आधिकारिक वेबसाइट पर अपना प्रगति डेटा अपलोड करना होगा।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान ऑनलाइन आवेदन कैसे करे?

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान के ऑनलाइन  पंजीकरण की प्रक्रिया निचे दी गयी है:

  • सबसे पहले आपको Pradhanmantri Garib Kalyan Rojgar अभियान की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुल जायेगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको मेन्यू में “Apply Now” के विकल्प पर क्लिक करना है। इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जायेगा।
  • इस पेज पर आप आवेदन फॉर्म देख सकते है, इस फॉर्म में मांगी गयी सभी डिटेल्स ध्यानपूर्वक भरे। 
  • फॉर्म भरने के बाद आवश्यक दस्तावेज अपलोड करे और अंत में सबमिट का बटन दबाकर अपना आवेदन जमा करें।

Pradhanmantri Garib Kalyan Rojgar ऑफलाइन एप्लीकेशन 

आप प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान के लिए ऑफलाइन भी अप्लाई कर सकते है, ऑफलाइन एप्लीकेशन के लिए आप नीचे दिए गए चरणों को फॉलो कर सकते हैं:

  • सबसे पहले आपको अपने सम्बंधित जिले के क्षेत्रीय श्रमिक विभाग में जाना होगा।
  • अब कार्यालय से आप प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान के लिए आवेदन फॉर्म प्राप्त कर सकते है।
  • इस आवेदन फॉर्म में मांगी गयी सभी डिटेल्स ध्यानपूर्वक भरे और जानकारी भरने के बाद आवश्यक दस्तावेजों को एप्लीकेशन फॉर्म के साथ आत्ताच करें। 
  • आवदेन फॉर्म को पूरा करने के बबाद आप इसे उसी ऑफिस में जमा करा सकते है जहसे आपने इसे प्राप्त किया था। 
  • आवेदन जमा होने के बाद आपको एक रिफरेन्स नंबर दिया जायेगा जिसके माध्यम से आप अपने आवेदन की स्थिति भी देख  सकते है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान – PM Garib Kalyan Rojgar Yojana ऑनलाइन आवेदन

देश के विभिन्न  राज्यों से लौटने वाले प्रवसि मजदूर जो इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं उन्हें 20 जून तक का इंतज़ार करना होगा। प्रधानम्नत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा दूसरे राज्यों से अपने गांव लोट चुके श्रमिकों को वही पर रोजगार के अवसर उपलब्ध कराये जायेंगे। इस योजना की घोषणा वित्त मंत्री के द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस को सम्बोधित करते हुए की गयी है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान (Pradhanmantri Garib Kalyan Rojgar Abhiyan) के लिए आवेदन की प्रकिया की जानकारी 20 जून को प्रधनमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा योजना की शुरूआत के बाद जारी की जाएगी। इस योजना के आवेदन के लिए संभवतः एक अलग पोर्टल की शुरुआत किये जाने की सम्भावना जताई जा रही है। हम आपसे अनुरोध करते हैं की आप इस योजना से सम्बंधित अपडेट के लिए हमारी वेबसाइट से जुड़े रहें।

यह भी पढ़े – राष्ट्रीय वयोश्री योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन, रजिस्ट्रेशन फॉर्म

हम उम्मीद करते हैं की आपको प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान (Pradhanmantri Garib Kalyan Rojgar Yojana) से सम्बंधित जानकारी जरूर लाभदायक लगी होंगी। इस लेख में हमने आपके द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालो के जवाब देने की कोशिश की है।

यदि अभी भी आपके पास इस योजना से सम्बंधित सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। इसके साथ ही आप हमारी वेबसाइट को बुकमार्क भी कर सकते हैं।

Leave a Comment