मध्य प्रदेश प्रसूति सहायता योजना | Prasuti Sahayata Yojana | ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म

प्रसूति सहायता योजना, Prasuti Sahayata Yojana, मध्य प्रदेश प्रसूति सहायता योजना एप्लीकेशन फॉर्म, प्रसूति सहायता योजना ऑनलाइन आवेदन

मध्य प्रदेश प्रसूति सहायता योजना की शुरुआत प्रदेश सरकार ने असंगठित क्षेत्र में काम करने वाली आर्थिक रूप से कमजोर श्रमिक वर्ग की गर्भवती महिलाओ को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए की गयी थी। मध्य प्रदेश सरकार द्वारा 01 अप्रैल, 2018 को शुरू की गई श्रमिक सेवा प्रसूति सहायता योजना में श्रमिक वर्ग की गर्भवती महिलाओ को विशेष सहायता प्रदान की जाएगी। 

इस योजना में प्रदेश सरकार मजदूर महिला के गर्भवती होने की स्थिति में प्रसूति के दौरान कार्य से अनुपस्थित रहने के कारण होने वाले आर्थिक नुकसान की प्रतिपूर्ति उपलब्ध कराएगी। इसके अंतर्गत गर्भवती महिला को गर्भधारण के अंतिम तीन महीने में वेतन का 50% आर्थिक लाभ के रूप में दिया जाता है। इसके साथ ही महिला को प्रसव के बाद चिकित्सा खर्च के लिए 1,000 रूपये सहायता राशि भी दी जाएगी।

मध्य प्रदेश प्रसूति सहायता योजना में गर्भवती महिला को मातृत्व योजना का लाभ प्राप्त होने की स्थिति में महिला कार्यकर्त्ता के पति को भी 15 दिनों का पितृत्व प्रसव लाभ प्रदान किया जाता है। इसके साथ ही महिला को प्रसूति के समय  16 हजार रुपये की धनराशि तीन किश्तों में दी जाएगी। इस योजना का लाभ लेने के लिए गर्भवती महिला तथा उसके पति का पंजीकृत मजदूर/निर्माण कार्यकर्ता होना अनिवार्य है।

गर्भवती महिला को पहली किश्त में गर्भावस्था में 4,000 हजार रुपये की सहायता राशि प्रदान की जाएगी। यह सहायता राशि एएनएम आशा अथवा चिकित्सक के प्रसव जाँच के बाद जारी की जाएगी। इसके बाद 12,000 रूपये की दूसरी किश्त शासकीय चिकित्सालय में प्रसव होने व नवजात शिशु का संस्थागत जन्म उपरांत पंजीयन कराने और शिशु को जीरो डोज, वीसीजी, ओपीडी और एचबीवी टीकाकरण के पश्चात् जारी की जाएगी।

इस योजना की शुरुआत के द्वारा प्रदेश सरकार मजदूर गर्भवती महिलाओं के लिए उच्च जोखिम गर्भावस्था की शीघ्र पहचान, सुरक्षित प्रसव, गर्भवती एवं शिशु का जन्म के बाद टीकाकरण, महिला एवं शिशु स्वास्थ्य के लिये नगद प्रोत्साहन राशि और अनुकूल वातावरण उपलब्ध कराएगी। इस आर्टिकल में हम आपको ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया, पात्रता मानदंड तथा आवश्यक दस्तावेजों की जानकारी उपलब्ध कराएँगे।

मध्य प्रदेश श्रमिक सेवा प्रसूति सहायता योजना का उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर गर्भवती महिला को प्रसूति के समय मजदूरी न कर पाने की स्थिति में आर्थिक सहायता प्रदान करना है। गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था में खान-पान में उचित भोजन नहीं मिल पाता तथा वह अपनी स्वास्थ्य सम्बन्धी जरूरतो को भी पूरा नहीं कर पाती हैं।

इन सभी समस्याओ के निवारण के लिए प्रसूति सहायता योजना को आरंभ करने की घोषणा की गयी है। इस योजना के माध्यम से मजदूर वर्ग में पंजीकृत गर्भवती महिला को गर्भ धारण के उपरांत अनेको प्रकार की सहायता प्रदान की जाएगी, जिससे उसे आर्थिक कठिनाइयों का सामना नहीं करना पड़ेगा।

पात्रता मानदंड

यदि आप मध्य प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गयी श्रमिक सेवा प्रसूति सहायता योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो आपको दिए गए पात्रता मानदंडों को पूरा करना होगा: –

  • मध्य प्रदेश श्रमिक सेवा प्रसूति सहायता योजना का लाभ लेने के लिए गर्भवती महिला का मजदूर वर्ग में पंजीकरण कार्यकर्ता होना अनिवार्य है।
  • इस योजना के आवेदन के लिए निर्माणकारी श्रमिक महिला के पास पहचान पत्र (ID) होना आवश्यक है।
  • केवल मध्य प्रदेश में स्थायी रूप से निवास करने वाली गर्भवती महिलाएं ही इस योजना का लाभ ले सकती हैं।
  • प्रसूति सहायता योजना का लाभ केवल उन गर्भवती महिलाओं को दिया जायेगा जो असंगठित क्षेत्र में काम करती हैं तथा जिनकी आयु 18 वर्ष से अधिक है।
  • इसके साथ ही गर्भवती महिला तथा उसके पति दोनों का निर्माण क्षेत्र में कार्य करने के लिए पंजीकृत कार्यकर्ता होना आवश्यक है।

इस योजना का लाभ लेने के लिए महिला प्रसव के 60 दिन बाद  आवेदन करने के लिए पात्र है। इस स्थिति में उसे बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र उपलब्ध कराना होगा।

आवश्यक दस्तावेज

इस योजना में ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया पूर्ण करने के लिए महिला को कुछ दस्तावेजों की भी आवश्यकता होगी। यहाँ हम आपको कुछ आवश्यक दस्तावेजों की जानकारी उपलब्ध करा रहे है: –

  • आधार कार्ड की कॉपी
  • आयु प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • गर्भवती होने के सम्बन्ध में प्रमाण
  • प्रसव पंजीकरण फॉर्म की कॉपी
  • बैंक खाते की जानकारी
  • श्रमिक पंजीकरण कार्ड
  • बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र (60 दिनो के बाद आवेदन की स्थिति में)

इस योजना के ऑनलाइन आवेदन करते समय आपसे कुछ अन्य दस्तावेजों की भी मांग की जा सकती है। आपसे अनुरोध है की ऑनलाइन आवेदन करते समय आप सभी दस्तावेजों की स्कैन प्रति अपने पास रखे।

मध्य प्रदेश श्रमिक सेवा प्रसूति सहायता योजना, ऑनलाइन आवेदन

यदि आप उपरोक्त सभी पात्रता मानदंडों को पूरा करते हैं तब आप दिए गए चरणों के द्वारा आसानी से मध्य प्रदेश प्रसूति सहायता योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

पहला चरण: – सबसे पहले आपको मध्य प्रदेश ई डिस्ट्रिक्ट लोक सेवा प्रबंधन आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा, इसके लिए यहाँ क्लिक करे

प्रसूति सहायता योजना

दूसरा चरण: – वेबसाइट के होमपेज पर आपको मेन्यू में लोक सेवा अभिकरण सेक्शन में ऑनलाइन – सेवाएं लिंक पर क्लिक करना होगा।

प्रसूति सहायता योजना

तीसरा चरण: – इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जायेगा। यहाँ आपको बाये और के सेक्शन में डाउनलोड विकल्प में “आवेदन पत्र” सेक्शन पर क्लिक करना होगा।

चौथा चरण: – अब अन्य पेज पर आपको सम्बंधित विभाग का चुनाव करके सेवा सेक्शन में “गर्भवती महिला प्रसूति सहायता योजना” विकल्प पर क्लिक करना होगा।

प्रसूति सहायता योजना

पांचवा चरण: – इसके बाद आपके सामने आवेदन पत्र खुल जायेगा। आपको इस आवेदन फॉर्म को डाउनलोड करके सभी सम्बंधित जानकारी दर्ज करके तथा आवश्यक दस्तावेजों के साथ निकटतम लोक स्वास्थ्य केंद्र एवं परिवार कल्याण विभाग में जमा कराना होगा।

यदि आपको आवेदन पत्र डाउनलोड करने का विकल्प नहीं मिलता तब आ निकटतम स्वास्थ्य केंद्र से भी इस आवेदन पत्र को डाउनलोड कर सकते हैं।

इस प्रकार आपके द्वारा आवेदन पत्र में दर्ज की गयी जानकारी तथा सभी सम्बंधित दस्तावेजों के सही पाए जाने पर आपको सहायता राशि का वितरण कर दिया जायेगा।

मध्य प्रदेश प्रसूति स्वास्थ्य सहायता योजना की विशेषताएं

  • इस योजना के द्वारा मध्य प्रदेश में पंजीकृत मजदूर क्षेत्र की सभी गर्भवती महिलाओं को स्वास्थ्य लाभ प्रदान किया जायेगा।
  • मध्य प्रदेश प्रसूति सहायता योजना में गर्भवती महिला को गर्भधारण के पश्चात् प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत प्रथम और द्वितीय किश्त के रूप में 3000 हजार रुपये का भुगतान किया जायेगा।
  • इसके साथ ही शेष बची हुई 1000 हजार रुपये की राशि लाभकारी महिला को मुख्यमंत्री श्रमिक सेवा प्रसूति सहायता योजना के रूप में प्रदान की जाएगी।
  • मध्य प्रदेश प्रसूति सहायता योजना का लाभ जननी सुरक्षा योजना के तहत लाभ प्राप्त कर रही सभी महिलाएं भी ले सकती है।
  • इसके आलावा गर्भवती महिला को प्रदेश सरकार द्वारा गर्भावस्था में 16000 रूपये की वित्तीय सहायता भी प्रदान की जाएगी |

इस योजना का लाभ मध्य प्रदेश की ग्रामीण तथा शहरी दोनों क्षेत्रो में काम करने वाली असंगठित क्षेत्र की श्रमिक महिलाएं भी उठा सकती है। इसके लिए महिला का बैंक खाता आधार से लिंक होना अनिवार्य है।

यह भी पढ़े – MP E Uparjan | गेहूं, धान खरीद के लिए किसानों का पंजीकरण प्रारम्भ 2019-20 @mpeuparjan.nic.in/

हम उम्मीद करते हैं की आपको मध्य प्रदेश प्रसूति सहायता योजना से सम्बंधित जानकारी जरूर लाभदायक लगी होंगी। इस लेख में हमने आपके द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालो के जवाब देने की कोशिश की है।

यदि अभी भी आपके पास इस योजना सम्बंधित सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। इसके साथ ही आप हमारी वेबसाइट WWW.INDIASCHEME.COM को बुकमार्क भी कर सकते हैं।

पूछे गए प्रश्नों के उत्तर

मध्य प्रदेश प्रसूति सहायता योजना क्या है?

इस योजना में आर्थिक रूप से कमजोर गर्भवती महिलाओ को प्रसूति के समय मजदूरी न कर पाने की स्थिति में आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है।

क्या प्रसव के 2 महीने बाद भी इस योजना में आवेदन किया जा सकता है?

मजदूर श्रेणी में पंजीकृत क्षेत्र की महिलाएं प्रसव के 60 दिनों भीतर इस योजना का लाभ ले सकती हैं।

मध्य प्रदेश प्रसूति सहायता योजना में आवेदन के लिए क्या पात्रता निर्धारित की गई है?

इससे सम्बंधित जानकारी लेख में दी गयी है अतः आप इस लेख को पूरा ध्यान से पढ़े।

1 thought on “मध्य प्रदेश प्रसूति सहायता योजना | Prasuti Sahayata Yojana | ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म”

  1. Kya sir kesh shilpi ka card chalega ya fir wo shramik card ab ban sakta he aur kya is yojna ka labh lene k liye samagra id me patni ka naam hona avashyak he please reply

    Reply

Leave a Comment