दीनदयाल उपाध्याय अंत्योदय योजना | राष्ट्रीय आजीविका मिशन ऑनलाइन आवेदन एप्लीकेशन फॉर्म

दीनदयाल अंत्योदय योजना की शुरुआत ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्रों में रहने वाले नागरिको के लिए की गयी है। इस योजना के तहत केंद्र सरकार ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्रों में रहने वाले गरीबो की आय में वृद्धि के लिए कौशल प्रशिक्षण के माध्यम से रोजगार के अवसर उपलब्ध कराएंगी। दीनदयाल अंत्योदय योजना में ग्रामीणों में कौशल प्रशिक्षण को महत्त्व दिया जायेगा।

केंद्र द्वारा शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले नागरिको को गरीबी से निकालने के लिए लिए प्रयास किये जा रहे हैं। इसी क्रम में आगे बढ़ते हुए दीनदयाल अंत्योदय योजना की शुरुआत की गयी है। इस योजना में केंद्र सरकार मेक इन इंडिया के तहत शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले नागरिको की आय में वृद्धि के लिए कौशल प्रशिक्षण प्रदान करने का कार्य करेगी।

Deendayal Antyodaya Yojana 2020

शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों के ग्रामीणों में कौशल प्रशिक्षण के द्वारा उनकी आय में वृद्धि करने के उद्देश्य से शरू की गयी दीनदयाल अंत्योदय योजना को दो घटको में बता जा सकता है। इसका पहला घटक ग्रामीण भारत के लिए है जबकि दूसरा घटक शहरी भारत के लिए है।

NPR Full Form: क्या है National Population Register, जिसे मोदी कैबिनेट ने मंजूरी दी है!

दीनदयाल अंत्योदय योजना के रूप में नामित शहरी घटक को आवास और शहरी गरीबी उपशमन मंत्रालय (एच।यू।पी।ए।) द्वारा कार्यन्वयन किया जाएगा और दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल  योजना में  ग्रामीण घटक का कार्यन्वयन  ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा  किया जाएगा।

इस योजना में शहरी घटक को राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन जबकि ग्रामीण घटक को राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन का नाम दिया गया है जिसे अलग-अलग मंत्रालयों द्वारा कार्यान्वित किया जायेगा। इस योजना में 29 राज्‍यों और 5 केन्‍द्र शासित प्रदेशों के लगभग सभी क्षेत्रों को कवर किया जायेगा।

राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन

इस घटक के अंतर्गत केंद्र सरकार शहरी क्षेत्रों में SHG संवर्धन, प्रशिक्षण केन्द्रो तथा बेघर लोगो के लिए स्थायी आश्रमों की व्यवस्था करेगी। इसके साथ ही सड़क पर सामान बेचने वालो, कूड़ा बीनने वालों तथा बेघर लोगो के लिए रोज़गार के अवसर तथा इनकम बढ़ाने के उपायों पर ध्यान दिया जायेगा। केंद्र सरकार द्वारा इस घटक के अंतर्गत 4041 शहरों और कस्बों को कवर कर पूरे शहरी आबादी को लाभ पहुंचाने का लक्ष्ण रखा गया है।

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन

इस घटक के अंतर्गत केंद्र सरकार ग्रामीण क्षेत्रों में भी नागरिको को आय में वृद्धि करने के लिए कौशल प्रशिक्षण की व्यवस्था करेगी। दीनदयाल अंत्योदय योजना के इस घटक में ग्रामीण क्षेत्रों के 10 लाख से अधिक व्यक्तियों को प्रशिक्षित करके आजीविका के विभिन्न स्रोतों से अवगत कराया जायेगा। यह राष्टीय आजीविका मिशन 2011 से  29 राज्‍यों और 5 केन्‍द्र शासित प्रदेशों के 586 जिलों के अंतर्गत 4,459 प्रखंडों में राज्यों के सहयोग से लागु किया गया है।

Overview of Deendayal Antyodaya Yojana

योजना का नाम दीनदयाल उपाध्याय अंत्योदय योजना
आरम्भ की गई वर्ष 2011 में
लाभार्थी शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के नागरिक
आवेदन की प्रक्रिया ऑनलाइन
उद्देश्य कौशल प्रशिक्षण के माध्यम से आय में वृद्धि
लाभ मुफ्त कौशल प्रशिक्षण
श्रेणी केंद्र सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइट aajeevika.gov.in/

दीनदयाल अंत्योदय योजना का उद्देश्य

केंद्र सरकार वर्ष 2022 तक ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में रहने वाले गरीब परिवारों की आय को दोगुना करने के लिए काम कर रही है। इसी को ध्यान में रखते हुए इस योजना को गति दी जा रही है। आज के समय में भारत में अधिकतर आबादी के पास कृषि के अतिरिक्त आय का कोई अन्य साधन उपलब्ध नहीं है। इसी समस्या के समाधान के लिए केंद्र सरकार द्वारा वर्ष 2011 में दीनदयाल अंत्योदय योजना की शुरुआत की गयी थी। इस योजना में शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों के नागरिको को कौशल प्रशिक्षण के माध्यम से रोजगार के अवसर उपलब्ध कराये जाते हैं।

राष्ट्रीय ग्रामीण/शहरी आजीविका मिशन की वरीयताएँ

दीनदयाल अंत्योदय योजना के प्रमुख घटकों राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन और राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन की वरीयताएं इस प्रकार हैं।

  • कृषि माध्यम से आजीविका को प्रोत्‍साहन
  • ग्रामीण स्‍वयं रोजगार प्रशिक्षण संस्‍थानो की स्थापना
  • गैर-कृषि आजीविका को प्रोत्‍साहन देना
  • ग्रामीण क्षेत्रों में ग्रामीण हाट की स्‍थापना
  • औपचारिक वित्‍तीय संस्‍थान तक ग्रामीण गरीबों की पहुंच सुनिश्चित करना

Deendayal Antyodaya Yojana – पात्रता एवं आवश्यक दस्तावेज

आपको इस योजना का लाभ लेने के लिए कुछ पात्रता मानदंडों को भी अनिवार्य रूप से पूरा करना है। यहाँ हम आपको कुछ पातर्ता मानदंडों की जानकारी प्रदान कर रहे हैं।

  • केवल भारत के स्थायी निवासी ही इस योजना का लाभ ले सकते हैं।
  • आवेदक का बीपीएल अर्थात गरीबी रेखा से नीचे जीवन-यापन करने वाला होना चाहिए।
  • आधार कार्ड
  • वोटर आईडी कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर
  • निवास प्रमाण पत्र

दीनदयाल अंत्योदय योजना 2020 ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

आपके द्वारा ऊपर दिए गए पात्रता मानदंडों को पूरा किये जाने की स्थिति में आप दिए गए चरणों के द्वारा ऑनलाइन माध्यम से इस योजना का लाभ ले सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको दीनदयाल अंत्योदय योजना (NRLM) की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। वेबसाइट का होमपेज कुछ इस तरह का दिखयी देगा।
दीनदयाल अंत्योदय योजना
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको Login सेक्शन पर क्लिक करना है जिसके बाद आपके सामने कंप्यूटर स्क्रीन पर एक नया पेज खुल जायेगा।
  • इस पेज पर आपको वेबसाइट में पंजीकरण के लिए फॉर्म दिखयी देगा। यहाँ आपको नए उपयोगकर्ता होने की स्थिति में Register पर क्लिक कर देना है।
दीनदयाल अंत्योदय योजना
  • इसके बाद आपके सामने ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जायेगा। यहाँ आपको कुछ जानकारी जैसे:- नाम, ईमेल आईडी तथा पासवर्ड दर्ज करके सिक्योर कोड भरते हुए Create New Account  बटन पर क्लिक कर दे।

अब आप वेबसाइट में लॉगिन आईडी और पासवर्ड की सहायता से लॉगिन करके नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके साथ ही आप आजीविका ग्रामीण एक्सप्रेस (Aajeevika Grameen Express) का भी लाभ ले सकते हैं।

दीनदयाल उपाध्याय अंत्योदय शहरी/ग्रामीण योजना के प्रमुख तथ्य

  • ग्रामीण तथा शहरी शहरी क्षेत्रों में रहने वाले नागरिको को उनकी आय में वृद्धि के लिए आजीविका के स्रोतों की जानकारी उपलब्ध कराना।
  • ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में रहने वाले गरीब परिवारों की आय को दोगुना करने के लिए प्रशिक्षण की व्यवस्था करना।
  • केंद्र  सरकार द्वारा इस योजना के तहत जम्मू & कश्मीर तथा पूर्वोत्तर में इसके लिए  सभी गरीब शहरियों को 18 हज़ार रूपये मिलते है।
  • इस योजना के द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में नागरिको को आय के अन्य स्त्रोतों की जानकारी प्रदान करने का कार्य किया जायेगा।
  • दीनदयाल अंत्योदय योजना-राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (डीएवाई-एनआरएलएम) महिला स्‍वयं सहायता समूहों को ब्‍याज भुगतान में आर्थिक सहायता उपलब्‍ध कराता है।
  • सरकार की तरफ से  प्रत्येक समूह को 10,000 रुपये का प्रारंभिक समर्थन दिया जायेगा और  पंजीकृत क्षेत्रों के स्तर महासंघों को 50, 000 रुपये की सहायता प्रदान की जाएगी ।
  • केंद्र सरकार ने दीनदयाल उपाध्याय  शहरी/ग्रामीण अंत्योदय योजना के लिए  500 करोड़ रुपये के बजट का प्रावधान किया है।

यह भी पढ़ेप्रधानमंत्री जन धन योजना 2020 (PMJDY Scheme) बैंक खाता कैसे खोलें, पूरी जानकारी

हम उम्मीद करते हैं की आपको दीनदयाल उपाध्याय अंत्योदय योजना से सम्बंधित जानकारी जरूर लाभदायक लगी होंगी। इस लेख में हमने आपके द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालो के जवाब देने की कोशिश की है।

यदि अभी भी आपके पास इस योजना से सम्बंधित सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। इसके साथ ही आप हमारी वेबसाइट को बुकमार्क भी कर सकते हैं।

Leave a Comment