पीएम किसान FPO योजना 2020: ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, एप्लीकेशन फॉर्म

किसान एफपीओ योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, PM Kisan FPO Yojana Apply Online, पीएम किसान FPO योजना एप्लीकेशन फॉर्म, PM Kisan FPO Yojana In Hindi, रजिस्ट्रेशन पात्रता मानदंड एवं आवश्यक दस्तावेजों की जानकारी आपको इस लेख में दी जाएगी। केंद्र सरकार द्वारा देश के किसानो को आर्थिक राहत पहुंचाने के लिए पीएम किसान FPO योजना को लांच किया है। इस योजना के अनुसार देश के FPO (किसान उत्पादक संगठनो ) किसानो को केंद्र सरकार द्वारा 15 -15 लाख रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान किये जाने का प्रावधान किया गया है।

PM Kisan FPO Yojana

इस योजना के माध्यम से देश के किसानो को काफी लाभ प्राप्त होगा, जिसके अंतर्गत देश के किसानो को खेती में भी कारोबार की तरह फायदा प्राप्त होगा। इस योजना का लाभ उठाने के लिए कम से कम 11 किसानों को संगठित होकर अपनी कृषि कंपनी या संगठन बनाना आवश्यक है। इस लेख में हम आपको पीएम किसान FPO योजना शर्ते के ऑनलाइन आवेदन, विशेषताएं एवं आवश्यक लाभ के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे।

पीएम किसान FPO योजना क्या है?

केंद्र सरकार की PM किसान FPO योजना का मतलब है, किसान उत्पादक संगठन यानी किसानो का एक ऐसा समूह जो किसानों के हित में कार्य करता है और जो कंपनी एक्ट के अंतर्गत रेजिस्टर्ड होता है तथा कृषि उत्पादकों को आगे बढ़ाता है, उन्हें FPO कहते है। केंद्र सरकार द्वारा इन्हीं संगठन को 15-15 लाख रु की धनराशि  आर्थिक सहायता के रूप में प्रदान की जाएगी। देश के किसानों के इन संगठनों को वही लाभ दिए जायेंगे जो किसी कंपनी को मिलते हैं।

इस पीएम किसान एफपीओ योजना (PM Kisan FPO Yojana 2020) के अनुसार  देश में 10000 नए किसानो के उत्पादक संगठन बनेगे जो कंपनी एक्ट के अंतर्गत रेजिस्ट्रेड होंगे। इस योजना के अनुसार केंद्र सरकार की तरफ से संगठन के काम को देखने के बाद 15 लाख रु की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। केंद्र सरकार के माध्यम से किसान संगठनों को दी जाने वाली धनराशि तीन सालो के भीतर प्रदान कर दी जाएगी।

Highlights of Pradhan Mantri Kisan FPO Yojana

योजना का नामपीएम किसान FPO योजना
आरम्भ की गईकेंद्र सरकार द्वारा
लाभार्थीकिसान, उत्पादक संगठन
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन/ऑफलाइन
उद्देश्यआर्थिक सहायता उपलब्ध कराना
श्रेणीकेंद्र सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइटwww.india.gov.in/

PM Kisan FPO Yojana 2020

इस योजना के अनुसार यदि संगठन मैदानी क्षेत्र में काम करता है, तो उसमें कम से कम 300 किसान का जुड़े होना आवश्यक है। इसी तरह यह संगठन पहाड़ी क्षेत्र में काम करता है, तो 100 किसानो का इससे जुड़े होना आवश्यक है, तभी वह इस योजना का लाभ उठाने में सक्षम होंगे। इस पीएम किसान FPO योजना का लाभ उठाने के लिए देश के किसानो को योजना के अंतर्गत आवेदन करना आवश्यक है।

पीएम किसान FPO योजना के अनुसार देश के किसानो अन्य प्रकार के भी लाभ होंगे जैसे बने संगठनों से जुड़े किसानों को अपनी उपज के लिए बाजार मिलेगा,और उनके लिए खाद, बीज, दवाई और कृषि उपकरण जैसे जरूरी सामान खरीदना बेहद आसान हो जायेगा। एक और बड़ा फायदा होगा कि किसान बिचौलियों से मुक्ति हो जाएंगे, जिससे की एफपीओ सिस्टम में किसानों को अपनी फसल के लिए अच्छा रेट मिल पायेगा।

प्रधानमंत्री किसान एफपीओ योजना 2020 का उद्देश्य

हम जानते हैं कि हमारे देश में अभी-भी ऐसे किसान हैं, जो आर्थिक रूप से बहुत कमज़ोर हैं, जिन्हे खेती करने से ज्यादा लाभ नहीं मिल पा रहा है। देश में फैले कोरोना वायरस के कारण किसानो के हालात और भी ज्यादा गंभीर होते जा रहे हैं। इसी समस्या को देखते हुए केंद्र सरकार द्वारा पीएम किसान एफपीओ योजना (PM Kisan FPO Yojana 2020) की शुरुआत की गयी है।

पीएम किसान FPO योजना का मुख्य उद्देश्य यह है कि किसान उत्पादक संगठनों यानी FPO को केंद्र सरकार द्वारा 15 -15 लाख रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान  करना है, जिससे कि कृषि सेक्टर को आगे बढ़ाया जा सकेगा। इस योजना के माध्यम से किसानो की आय में वृद्धि और किसानो के हित में कार्य किया जायेगा और किसानो को उसी तरह फायदा होगा जैसे कारोबार में होता है।

PM Kisan FPO का लाभ लेने के लिए शर्तें

अगर आप एक किसानो के समूह के रूप में कार्य करते हैं तथा अपना FPO बनाना चाहते हैं तब आपको कुछ शर्तो को अनिवार्य रूप से पूरा करना होगा। किसानो के FPO समूह को करोड़ों रुपए का आवंटन किया जाता है जिससे किसानों को मदद मिलती है। इसके साथ ही पंजीकृत किसानो को समय-समय पर वित्तीय सहायता भी प्रदान की जाती है तथा इनकी समस्याओ को सर्वोपरि रखा जाता है।

आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान

  • मैदानी क्षेत्र के किसानों के लिए – अगर किसान 10 बोर्ड मेंबर बनाते हैं तो एक बोर्ड मेंबर पर कम से कम 30 किसान के समूह होने चाहिए ।
  • पहाड़ी क्षेत्र के किसानों के लिए – पहाड़ी क्षेत्र के किसानों को पीएम किसान FPO योजना का लाभ लेने के लिए कम से कम 100 किसानो का जुड़ा होना अनिवार्य है।
  • नाबार्ड कंसल्टेंसी सर्विसेज की रेटिंग – पीएम किसान एफपीओ योजना का लाभ लेने के लिए Kisan FPO को नाबार्ड कंसल्टेंसी रेटिंग की भी जरूरत होगी। आपकी कंपनी के काम के आधार  नाबार्ड कंसलटेंसी सर्विसेज आपको रेट किया जायेगा। आपकी कंपनी के रेटिंग के आधार पर ही आपको लाभ प्रदान किया जायेगा।
  • कंपनी का बिज़नेस प्लान की जानकारीपीएम किसान FPO योजना 2020 के तहत लाभ प्रदान करने के लिए आपको बिज़नेस प्लान की जानकारी देनी होगी। आपके बिज़नेस प्लान की जांच के बाद यह जाना जायेगा की इसके द्वारा किसान को कितना लाभ मिल रहा है। यह भी देखा जायेगा की आप किसानों के हित में कितने कार्य कर रहे हो और उनके उत्पादों को उचित बाजार उपलब्ध करवा रहे हो या नहीं।
  • कंपनी की गवर्नेंस कैसे हैPM Kisan FPO Yojana 2020 के तहत जिस कंपनी को रजिस्टर्ड करवाते हैं उसके गवर्नेंस को भी देखा जाएगा। बोर्ड ऑफ डायरेक्टर के द्वारा किसानों की बाजार में पहुंच आसान बनाने के लिए क्या काम किया जा रहा है इसके भी ध्यान रखा जायेगा।

PM किसान FPO योजना के लाभ व विशेषताएं

  • इस योजना का लाभ केंद्र सरकार द्वारा देश के किसानो को प्रदान किया जायेगा।
  • देश के किसान उत्पादक संगठनो को केंद्र सरकार द्वारा 15 लाख रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी, और सरकार द्वारा यह धनराशि तीन साल के भीतर प्रदान कर दी जाएगी।
  • पीएम किसान एफपीओ योजना 2020 के अनुसार यदि संगठन मैदानी क्षेत्र में काम करता है, तो उसमें कम-से-कम 300 किसान जुड़े होने चाहिए। इसी प्रकार यह संगठन पहाड़ी क्षेत्र में काम करता है तो 100 किसानो को इससे जुड़े होने चाहिए, तभी वह इस योजना का लाभ उठा पायेंगे।
  • देश के किसानो को अन्य प्रकार के भी लाभ होंगे जैसे बने संगठनों से जुड़े किसानों को अपनी उपज के लिए बाजार मिलेगा। साथ ही उनके लिए खाद, बीज, दवाई और कृषि उपकरण जैसा जरूरी सामान खरीदना बेहद आसान हो जायेगा।
  • देश के वे  इच्छुक लाभार्थी इस योजना का लाभ उठाना चाहते है तो उन्हें इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना आवश्यक है।

पात्रता मानदंड

प्रधानमंत्री किसान एफपीओ योजना का लाभ लेने के लिए किसानो को निम्न पात्रता मानदंडों को पूरा करना होगा।

  • किसान FPO योजना का लाभ किसानो के द्वारा कम से कम 11 किसानों को मिल कर एक ऑर्गेनाइजेशन के रूप में ही लिया जा सकता है।
  • केंद सरकार के द्वारा पीएम किसान FPO योजना 2020 किसानो की ऑर्गेनाइजेशन के कार्य का अवलोकन किया जायेगा और इसकी रिपोर्ट के आधार पर 3 साल में 1500000 रुपए इस ऑर्गेनाइजेशन को दिए जाएंगे।
  • किसानो की ऑर्गेनाइजेशन का मैदानी क्षेत्रों में कार्य किये जाने पर 300 किसानो का जुड़ा होना अनिवार्य है।
  • इसके साथ ही पहाड़ी क्षेत्रों में ऑर्गेनाइजेशन के काम करने पर 100 किसानो का जुड़ा होना अनिवार्य है।
  • पीएम किसान एफपीओ योजना में मैदानी स्तर पर विभाग द्वारा कुछ अन्य पात्रता मानदंड जल्द स्वयं घोषित की जाएंगी।

आवश्यक दस्तावेज

  • सभी किसानो के पास पहचान के प्रमाण के रूप में वोटर आईडी होनी आवश्यक है।
  • किसानो के पास कंपनी रजिस्ट्रेशन संबंधी सभी दस्तावेज होना जरुरी हैं।

बताते चले की इस योजना के तहत केंद्र सरकार  4496 करोड़ रुपए का निवेश करेगी जिसके अनुसार ऑर्गेनाइजेशन को 1500000 रुपए नगद सहायता सरकार के द्वारा दी जाएगी।

पीएम किसान FPO योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करे?

देश के वे इच्छुक लाभार्थी जो इस योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन करना चाहते है तो उन्हें अभी थोड़ा इंतज़ार करना होगा, क्योकि अभी इस योजना की हाल ही में घोषणा की गयी है ,अभी किसी भी विभाग के द्वारा पीएम किसान एफपीओ योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन करने के लिए कोई आधिकारिक सूचना जारी नहीं की गयी है। 

केंद्र सरकार के द्वारा पीएम किसान FPO योजना के तहत ऑनलाइन अथवा ऑफलाइन मोड में आवेदन शुरू किये जाने अथवा अन्य किसी प्रकार की जानकारी के साझा किये जाने पर हम आपको अपनी वेबसाइट  के माध्यम से सूचित कर दिया जायेगा, जिसके बाद देश के किसान भाई इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर पाएंगे, और केंद्र सरकार द्वारा लाभ भी प्राप्त कर पाएंगे।

यह भी पढ़े – प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन पेंशन योजना ऑनलाइन आवेदन

हम उम्मीद करते हैं की आपको पीएम किसान FPO योजना से सम्बंधित जानकारी जरूर लाभदायक लगी होंगी। इस लेख में हमने आपके द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालो के जवाब देने की कोशिश की है।

यदि अभी भी आपके पास इस योजना से सम्बंधित सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। इसके साथ ही आप हमारी वेबसाइट को बुकमार्क भी कर सकते हैं।

पूछे गए प्रश्नों के उत्तर

PM KISAN FPO में कितनी कंपनियां हैं?

पीएम Kisan FPO Yojana आज की योजना नहीं है, हालांकि इस योजना की घोषणा मोदी सरकार के द्वारा हाल ही में की गयी है। आपको बता दे की कृषि को लाभ देने के लिए कृषि उत्पादक कंपनी चल रही हैं। पीएम किसान FPO का गठन और विकास के लिए लघु कृषक कृषि व्यापार संघ और राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक के द्वारा काम किया जा रहा है।

क्या किसान एफपीओ के लिए सभी किसान पात्र हैं?

हां, किसान एफपीओ योजना का लाभ लेने के लिए सभी किसान भाई पात्र हैं।

पीएम किसान केसीसी कार्ड की लिमिट कितनी है?

पीएम किसान केसीसी कार्ड समयावधि (Limit) आपकी फसल और जमीन पर निर्भर करती है। केसीसी लिमिट फसल के प्रकार और जमीन की किस्म के अनुसार निर्धारित की जाती है।

Leave a Comment