(PMFBY) प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना: PM Fasal Bima Yojana, ऑनलाइन आवेदन

PM Fasal Bima Yojana Apply Online | प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना लिस्ट 2021 | Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana in hindi | पीएम फसल बीमा योजना ऑनलाइन फॉर्म | Fasal Bima Yojana Application Form Download

जैसे की हम सब जानते है की प्राकृतिक आपदाओं के कारन किसानो की फसलों का काफी नुकसान होता है। जिसकी वजह से किसानो को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। प्राकृतिक आपदाओं के कारण होने वाले नुकसान के कारण किसानो की आर्थिक स्थिति भी ख़राब हो जाती है। इन सब परेशानियों को देखते हुए केंद्र सरकार के द्वारा इस समस्य को दूर करने के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से किसानो को किसी प्रकार की आपदा के कारण हुए फसल के नुकसान पर बीमा कवर प्रदान किया जायेगा। आज आपको हम अपने इस लेख के माध्यम से इस Pradhan mantri fasal Bima Yojana online aavedan से संबंधित संपूर्ण जानकारी प्रदान करने जा रहे है। इसके अलावा भी आप पीएम फसल बीमा योजना की पात्रता एवं महत्वपूर्ण दस्तावेजों से संबंधित जानकारी को आसानी से प्राप्त कर सकते हो। जो इच्छुक नागरिक इस प्रधानमंत्री फसल बीमा स्कीम का लाभ प्राप्त करना चाहते है तो आपको हमारे इस आर्टिकल को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़ना होगा।

Table of Contents

PM Fasal Bima Yojana

भारतीय कृषि बीमा कम्पनी (LIC) द्वारा शुरू की गयी प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PM Fasal Bima Yojana) के तहत किसानो के फसलों के नुकसान की स्थिति में बीमा की राशि सीधे उनके बैंक खाते में ट्रांसफर कर दी जाएगी। कई बार ऐसा देखा जाता है की किसानो द्वारा फसलों के नुकसान की स्थिति में आत्महत्या का कदम उठा लिया जाता है ऐसे में केंद्र सरकार की यह योजान निश्चित रूप से किसानो को लाभ पहुंचाने का कार्य करेगी। पीएम फसल बीमा योजना (PMFBY) के तहत देश के किसी भी किसान द्वारा बीमा का लाभ प्राप्त किया जा सकता है। इस योजना के सफल कार्यान्वयन के लिए के केंद्र सरकार द्वारा 8800 करोड़ रुपए खर्च किये जाने किम रणनीति पर काम किया जा रहा है। पीएम फसल बीमा योजना के तहत किसानो को खरीफ की फसल पर 2% जबकि रबी की फसल पर 1. 5% की दर से बीमा की राशि का भुगतान किया जायेगा।

प्रधानमत्री फसल बीमा योजना नयी घोषणा 2021

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के माध्यम से असम में राज्य स्तर पर दो दिवसीय अभिविन्यास प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया था। इस कार्यक्रम में चर्चा का विषय मौसम में बदलाव से असम के किसानों को हो रही परेशानी थी। जैसे- सूखा, बाढ़ और कीड़ों के कारण होने वाली कई अन्य समस्याएं। इन सभी समस्याओं से किसानों की फसल को नुकसान पहुंचा है। इस समस्या को देखते हुए कृषि मंत्री द्वारा एक महत्वपूर्ण घोषणा की गई है – प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, 31 जुलाई 2021 तक 5 लाख किसानों को पंजीकृत करने का लक्ष्य रखा गया है, जिसका पूरा कार्यभार सभी कृषि अधिकारियों को सौंपा गया है।

यूपी के 35000 किसानों ने कराया बीमा

इस योजना के तहत सूत्रों के अनुसार इस बात का पता चला है कि उत्तर प्रदेश के लखनऊ में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत करीब 35259 किसानों का बीमा कराया गया है, और इसके आलावा एवज में 3.27 करोड़ रुपए प्रीमियम का भुगतान किया गया है। अभी तक केवल 8411 किसानों ने इस योजना के तहत दावा किया है और बीमा कंपनियों द्वारा 5.78 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ लेने के लिए अब तक करीब 90 लाख रजिस्ट्रेशन हो चुके हैं, और पहले किसान क्रेडिट कार्ड से किसानों की बीमा राशि अपने आप काट ली जाती थी लेकिन अब ऐसा नहीं होगा।

31 जुलाई 2021 से पहले करें प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में आवेदन

भारत सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार की कल्याणकारी योजनाएं शुरू की जाती हैं। इसी तरह, भारत सरकार द्वारा 2016 में किसानों को फसलों के नुकसान पर बीमा प्रदान करने के लिए प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना शुरू की गई थी। इस योजना के तहत प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसलों के नुकसान के खिलाफ बीमा प्रदान किया जाता है। इस योजना का लाभ अब तक देश के करोड़ों किसानों को मिल चुका है। लेकिन हाल ही में इस योजना से जुड़ी एक बड़ी खबर सामने आई है कि उत्तर प्रदेश के किसान 31 जुलाई 2021 तक इस योजना के तहत आवेदन करके 10 फसलों का बीमा करवा सकते हैं।

  • एग्रीकल्चर इंश्योरेंस कंपनी ऑफ़ इंडिया लिमिटेड के द्वारा इस योजना के अंतर्गत खरीफ सीजन की 10 फसलों को शामिल किया गया है।
  • इनमें धान ज्वार बाजरा मक्का उड़द मूंग अरहर तेल सोयाबीन और मूंगफली आदि शामिल है।
  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए उत्तर प्रदेश के किसान अगले 25 दिन के भीतर ही प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत अपनी फसल का बीमा करा सकते हैं।

Highlights of the PMFBY Yojana

नामप्रधानमंत्री फसल बीमा योजना
विभागकृषि और किसान कल्याण विभाग
आरम्भ की गईप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा
वर्ष2021
लाभार्थीदेश के किसान
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन
उद्देश्यदेश के किसानों को सशक्त बनाना
लाभ₹200000  तक का बीमा कवर
श्रेणीकेंद्र सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइटhttps://pmfby.gov.in

अधिक लाभार्थियों को लाभ पहुंचाने के लिए आरम्भ अभियान

हम सभी जानते हैं कि केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत देश के किसानों को उनकी फसलों को हुए नुकसान पर बीमा प्रदान किया जाता है। इस बीमा के माध्यम से किसानों को अपने आर्थिक संकट में काफी सुधार मिलता है। फसल बीमा योजना के तहत किसानों की अधिक से अधिक संख्या बढ़ाने के लिए सरकार द्वारा 1 जुलाई 2021 को अभियान शुरू किया गया है। अभियान के तहत अभियान खरे के सभी अधिसूचित क्षेत्रों के किसानों को इस योजना के तहत कवर किया जाएगा। साथ ही सरकार 75 पिछड़े वर्ग के जिलों पर विशेष ध्यान दे रही है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की प्रीमियम राशि

प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना के तहत आवेदन कर लाभ प्राप्त करने के लिए, किसानों को एक प्रीमियम राशि का भुगतान करना होता है। प्रधानमंत्री बीमा योजना की यह प्रीमियम राशि  अन्य फसल बीमा योजनाओं की तुलना में बहुत कम है जो की इस प्रकार है।

  • बीमा राशि का 2% प्रीमियम, खरीफ की फसल के लिए
  • बीमित राशि का 1.5% प्रीमियम, रबी की फसल के लिए
  • बीमा राशि का 5% प्रीमियम, वार्षिक वाणिज्यिक और बागवानी फसलों के लिए

11 जिलों में होगा मिर्च खेती पर बीमा

हम सभी लोग जानते हैं कि केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई फसल बीमा योजना के तहत किसानों को उनकी फसलों को हुए नुकसान पर बीमा कवर प्रदान किया जाता है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत विभिन्न फसलों को शामिल किया गया है। लेकिन हाल ही में सरकार द्वारा इस योजना के तहत मिर्च की फसल को भी शामिल किया गया है। देश के 11 प्रखंडों के क्षेत्रों में मिर्च की फसल का बीमा कराया जाएगा. इस बीमा के तहत किसानों को अधिक प्रीमियम राशि का भुगतान करना होगा। यह जानकारी जिला कृषि अधिकारी ने किसानों को दी है. लेकिन अगर इसे सरकार द्वारा लागू किया जाता है तो इसका लाभ बड़े पैमाने पर खेती करने वाले माचिस उत्पादक किसानों को मिलेगा. मिर्च की फसल को कवर करने वाले 11 ब्लॉकों की सूची निम्नलिखित है।

  • मनियर
  • सीयर
  • बांसडीह
  • बैरिया
  • मुरली छपरा
  • बेरूआरबादी
  • दुबहड़
  • सोहांव
  • बेलहरि
  • रसड़ा
  • नगरा

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए 31 जुलाई है अंतिम तारीख

हम सभी जानते है की प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को हमारे देश के किसानो को लाभ पहुचाने के लिए इस योजना को आरम्भ किया था। इस योजना को शुरू करने का मुख्य उदेश्य यह है की देश के उन सभी किसानो लाभ दिया जाए, जो अपनी आर्थिक रूप से कमज़ोर होने के कारण वह अपनी फसल में नहीं कर पाते थे। इस योजना के तहत किसानों की कई फसलों का बीमा किया जाएगा और कृषि एवं किसान कल्याण विभाग ने कहा है कि, फसल का बीमा करवाने की आखरी तारीख 31 जुलाई, 2021 है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के माध्यम से वर्ष 2021 के चलते खरीफ सीजन में धान, मक्का, बाजरा व कपास तथा रबी सीजन में गेहूं, जौ, चना, सरसों व सूरजमुखी आदि को फसलों का बीमा किया जाएगा।

किसानों के लिए स्वैच्छिक योजना

प्रधानमंत्री जी द्वारा शुरू की गई प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना हमारे देश के सभी किसानों के लिए स्वैच्छिक है। यदि किसान इस योजना में शामिल नहीं होना चाहते हैं, तो वे 24 जुलाई, 2021 तक अपने बैंकों को एक लिखित आवेदन करके योजना से बाहर हो सकते हैं। यदि किसान लोन से संबंधित बैंक में आवेदन नहीं करता है तो इस योजना के तहत, तब बैंक किसानों की फसलों का बीमा करने के लिए मान्य होगा, और केंद्र सरकार का यह भी कहना है कि गैर कर्जदार किसान ग्राहक सेवा केंद्र या बीमा कंपनी के प्रतिनिधि से अपनी फसल का बीमा करा सकता है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना अब तक किए गए 90000 करोड रूपए के दावों का भुगतान

13 जनवरी 2016 को शुरू की गई प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत, किसानों को प्राकृतिक आपदाओं से होने वाले फसलों के नुकसान के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है। इन आपदाओं में बाढ़, तूफान, तेज बारिश आदि शामिल है के कारण फसलों का नुकसान हो जाता है। ऐसी स्थिति में सरकार द्वारा किसानों को वित्तीय सहायता दी जाती है। भारतीय कृषि बीमा कंपनी इस योजना के कार्यभार को संभालती है। प्रति वर्ष लगभग 5.5 करोड़ किसान फसाल बीमा योजना के तहत, पंजीकृत होते हैं। अब तक इस योजना के अंतर्गत 90000 करोड़ रुपये के दावों का भुगतान आधार सीडिंग के जरिए निपटाया गया है। कोविद -19 लॉकडाउन के चलते, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत 8741.30 करोड़ रुपये 70 लाख किसानों को  प्रदान किए गए है।

  • इस योजना के तहत, अतिरिक्त प्रीमियम की राशि राज्य और भारत सरकार द्वारा दी जाती है और पूर्वोत्तर राज्यों में भारत सरकार 90% प्रीमियम राशि  प्रदान करती है।
  • प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना के तहत, बीमित राशि को 40700 रूपए कर दिया गया है, जो पहले 15,100 रूपए प्रति हेक्टेयर थी।
  • बुवाई से लेकर कटाई तक का पूरा समय योजना के अंतर्गत आता है। रोकी गयी  बुवाई और फसलों के बीच प्राकृतिक आपदाओं से होने वाले नुकसान को भी प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत शामिल किया गया है। इस योजना को लचीला बनाने के लिए इसमें समय-समय पर सुधार किए गए हैं।

जल्दी ही इन 100 जिलों को मिलेगा फसल बीमा का मुआवजा

केंद्र सरकार ने फसल का मुआवजा देने के लिए एक नया कदम उठाया है। इस कदम के अनुसार नुकसान के लिए ड्रोन से निगरानी की जाएगी। यह अभियान शुरू में तो 100 जिलों में चलाया जाएगा परंतु यदि इसकी सफलता एवं अच्छे परिणाम मिलते हैं तो सरकार बाकी हिस्सों में भी ड्रोन की निगरानी को बढ़ाने की ओर काम करेगी। ड्रोन के द्वारा फसलों की निगरानी का सबसे बड़ा लाभ यह होगा कि यह समय बचाएगा। पहले बर्बाद फसलों के सर्वे के लिए टीम आती थी जो कि मुआयना कर कर अपनी रिपोर्ट पेश कर दी थी। इस मायने में काफी दिनों का समय लग जाता था। परंतु आज ही है सभी कार्य ड्रोन के माध्यम से बहुत आसानी से और जल्दी होगा। जल्दी परिणाम मिलने और रिपोर्ट तैयार होने का सबसे बड़ा लाभ यह होगा कि इससे किसानों को मुआवजा बहुत सही समय पर और कम समय में प्राप्त हो जाएगा। कहा जा रहा है कि यह ड्रोन बहुत हाईटेक होंगे और इनमें कई तरह के सेंसर लगे होंगे। यह फसलों की पूरी जानकारी रिकॉर्ड करके रियल डाटा कृषि विभाग को भेजता रहेगा अभी इस डॉन को लगाने की अनुमति केवल 1 वर्ष के लिए प्रदान की गई है। आगे इसके प्रभाव को देखते हुए इसे बढ़ाया यहां घटाया जा सकता है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत प्रीमियम राशि

गेहूं409.50 रुपए प्रति एकड़
जौ267.75 रुपए प्रति एकड़
चना204.75 रुपए प्रति एकड़
सरसो275.63 रुपए प्रति एकड़
सूरजमुखी267.75 रुपए प्रति एकड़
फसलप्रीमियम राशि
धान713.99 रुपए प्रति एकड़
मक्का356.99 रुपए प्रति एकड़
बाजरा335.99 रुपए प्रति एकड़
कपास1732.50 रुपए प्रति एकड़

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत दी जाने वाली रकम

फसलबीमित राशि
कपास34650.02 रुपया प्रति एकड़
गेहूं27300.12 रुपया प्रति एकड़
जौ17849.89 रुपया प्रति एकड़
चना13650.06 रुपया प्रति एकड़
सरसो18375.17 रुपया प्रति एकड़
सूरजमुखी17849.89 रुपया प्रति एकड़
धान35699.78 रुपया प्रति एकड़
मक्का17849.89 रुपया प्रति एकड़
बाजरा16799.33 रुपया प्रति एकड़

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2021

इस योजना का लाभ उठाने पर, लाभार्थी किसानों के बैंक खाते से प्रीमियम राशि काट ली जाएगी। सभी बैंकों को सरकार द्वारा प्रीमियम राशि में कटौती करने का निर्देश दिया गया है। वर्ष के अन्त अर्थात 31 दिसंबर 2020 से पहले, पहले ही प्रीमियम की राशि किसानों के खाते से काट ली जाएगी और फिर काटे गए प्रीमियम राशि की जानकारी 15 जनवरी 2021 तक पोर्टल पर उपलब्ध करा दी जाएगी। एग्रीकल्चर इंश्योरेंस कंपनी ऑफ इंडिया लिमिटेड द्वारा Pradhanmantri Fasal Bima Yojana की इस प्रक्रिया की पूरी जानकारी प्रदान की गयी है। सभी मध्य प्रदेश के बैंकों के नोडल कार्यालयों में प्रधानमंत्री आवास बीमा योजना के तहत, किसानों को वित्त के पैमाने का 1.5% प्रीमियम के रूप में देना होगा, जिससे भविष्य में होने वाले फसल के नुकसान की भरपाई इस बीमा के माध्यम से पूरी कर दी जाये।

  • सभी ऋणी किसानों का प्रीमियम बैंक द्वारा स्वचालित रूप से काट लिया जाएगा। अब इस योजना के तहत, ऋणी किसानों को सहमति पत्र देने की आवश्यकता नहीं होगी और सभी ऋणी किसान जो इस योजना के तहत लाभ प्राप्त नहीं करना चाहते हैं, उन्हें बैंक को असहमति का पत्र प्रस्तुत करना होगा।
  • इसके अतिरिक्त, सभी ऋणी किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ उठाने के लिए सहमति देना अनिवार्य होगा, तभी उनकी फसल का बीमा हो सकेगा। सरकार द्वारा शुरू की गयी इस योजना का लाभ उठाने के लिए, सभी किसानों को किसी भी राज्य स्तरीय सहकारी बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, वाणिज्यिक बैंक, वित्तीय संस्थान से संपर्क करना होगा।

जल संकट के चलते हरियाणा सरकार की नई पहल

जैसा कि आप जानते हैं जल संकट के कारण फसलों पर भी गहरा प्रभाव पड़ा है। परंतु इससे निपटने के लिए सरकारों के पास कोई अच्छी योजना नहीं है यदि है अभी तो वह है खेतों पर नहीं लागू हो पा रही है। परंतु कुछ ऐसी भी सरकारी हैं जो इस पर अच्छे तरीके से कार्य कर रही हैं। ऐसा ही कुछ हरियाणा सरकार ने भी किया है। या हम यह कहे कि हरियाणा भारत का पहला ऐसा राज्य बना है जहां पर सरकार ने किसानों को 126927 हेक्टेयर में धान की जगह अन्य फसलें लगाने के लिए मना लिया है। इतना ही नहीं, सरकारी पोर्टल पर इसके लिए रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया भी हो चुकी है एवं वेरीफिकेशन प्रक्रिया चल रही है। इसके लिए सरकार ने ऐसे किसानों को फसल बीमा योजना का लाभ भी प्रदान किया है। ऐसे 74446 किसान है जिन्हें फसल बीमा योजना का लाभ हरियाणा सरकार द्वारा प्रदान किया जा रहा है। सरकार का इस स्कीम को शुरू करने के पीछे मेरा पानी मेरी विरासत योजना के तहत कार्य करना था।

  • जिसमें सरकार ने जितना सोचा था उससे अधिक किसानों ने जल संकट के दुष्परिणाम को देखते हुए धान की जगह फसलों को लगाने का निर्णय ले लिया है।
  • इसके साथ ही ऐसा करने वाले किसानों को सरकार द्वारा ₹7000 प्रति एकड़ के हिसाब से प्रोत्साहन राशि भी दी जा रही है और सरकार धान की जगह मक्का बाजरा और दलहन की खेती करने वाले किसानों को इस बात की गारंटी भी दे रही है कि उनकी फसलों को सरकारी रेट यानी एमएसपी पर खरीदा जाएगा।

पीएम फसल बीमा योजना का बजट

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को शुरू करने के पीछे सरकार का उद्देश्य फसल को सुरक्षा प्रदान करना था। इस योजना में बुवाई से पहले से लेकर कटाई के बाद तक का समय कवर किया जाता है। इसके साथ ही योजना में रोकी गई बुवाई और मध्य मौसम प्राकृतिक आपदाओं से होने वाली हानि को भी कवर किया जाता है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत फसल के नुकसान होने पर आर्थिक सहायता दी जाती है। 13 जनवरी 2016 को इस योजना की शुरुआत की गई थी और अब वित्तीय वर्ष 2021 22 के लिए 16000 करोड़ रुपए का बजट इस योजना के लिए निर्धारित किया गया है। यदि हम इस बजट को पिछले वर्ष के बजट से कंपेयर करें तो इस वर्ष 305 करोड रुपए अधिक निर्धारित किए गए हैं। यह योजना कृषि क्षेत्र के विकास एवं विस्तार में सहायक सिद्ध होगी।

  • फसल बीमा योजना पूरे विश्व में सबसे बड़ी फसल बीमा योजना है और यदि हम इसके प्रीमियम की बात करें तो इस प्रीमियम के अनुसार यह तीसरी सबसे बड़ी योजना है। लगभग हर साल 5.5 करोड़ किसान इस योजना के अंतर्गत आवेदन करते हैं। के बाद इसमें बहुत से संशोधन किए गए हैं।
  • यदि आप इस योजना का लाभ ले रहे हैं एवं आप असल नुकसान की रिपोर्ट करना चाहते हैं तो इस योजना के अंतर्गत दिया है बहुत आसानी से किया जा सकता है। ऐप के माध्यम से कॉमन सर्विस सेंटर के माध्यम से या फिर निकटतम कृषि अधिकारी के माध्यम से फसल नुकसान के 72 घंटे के भीतर ही बहुत आसानी से यह रिपोर्ट कर सकते हैं। रिपोर्ट करने के बाद दावे की राशि को डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से किसान के खाते में पहुंचा दिया जाता है अब तक जितने भी किसान इस योजना के अंतर्गत नामांकित हुए हैं उनमें से 4% किसान छोटे एवं सीमांत किसान हैं।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना दिसंबर माह की अपडेट

केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गयी Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana के तहत प्राकृतिक आपदाओं से होने वाले नुकसान पर बीमा कवर प्रदान किया जाता है। अब सरकार द्वारा भी इस योजना के तहत वन्य जीवन क्षति को कवर करने का निर्णय लिया गया है। अब, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत, अगर जंगली जानवरों के कारण फसल को नुकसान होता है, तो सरकार द्वारा किसान को फसल पर नुकसान का कवर प्रदान किया जाएगा। यह सुविधा एडऑन कवरेज के रूप में प्रदान की जाएगी और कवरेज पर यह ऐड किसानों के लिए वैकल्पिक होगा।

  • अगर किसानों को Pradhanmantri Fasal Bima Yojana के तहत वाइल्ड लाइफ कवर लेना है, तो प्रीमियम का भुगतान किसानों को ही करना होगा। हालाँकि राज्य सरकार इस कवरेज पर अतिरिक्त सब्सिडी प्रदान करने पर विचार कर रही है।
  • बीमा कंपनी और MoEFCC के परामर्श से सरकार द्वारा बोलियों के मूल्यांकन के लिए एक विस्तृत प्रोटोकॉल और प्रक्रिया तैयार की गई है।
  • वन अधिकारियों द्वारा यह भी बताया गया है कि राज्य ने पहले ही किसानों को फसल क्षति मुआवजा प्रदान किया था। अब विभिन्न राज्यों द्वारा प्राप्त सुझाव के अनुसार, Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana के दिशानिर्देशों में जंगली जानवरों से होने वाले नुकसान को भी शामिल किया गया है। महाराष्ट्र में फसल क्षति को रोकने के लिए गठित एक पैनल द्वारा भी इस कदम की सिफारिश की गई है।

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana November Update

हम जानते हैं कि प्राकृतिक आपदा के कारण किसानों को हुए नुकसान की भरपाई के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना शुरू की गई है। वर्तमान समय में, देशभर में भारी वर्षा हुई है और कहीं-कहीं सूखा पड़ा है, जिसके कारण फसल को बहुत नुकसान भी हुआ है। अगर फसल को कोई नुकसान होता है, तो 72 घंटों में शिकायत स्थानीय किसान हेल्पलाइन नंबर पर दर्ज करनी होगी। इसके अलावा, यह शिकायत फसल बीमा ऐप पर भी दर्ज की जा सकती है। यदि आप इसके बारे में अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो आप 18001801551 पर हेल्पलाइन नंबर एक पर संपर्क कर सकते हैं।

Overview of PMFBY Scheme 2021

योजना का नामपीएम फसल बीमा योजना
आरम्भ की गईमिनिस्ट्री ऑफ एग्रीकल्चर एंड फार्मर वेलफेयर द्वारा
आवेदन करने की आरम्भ तिथिचालू है
आवेदन करने की अंतिम तिथि31 जुलाई 2019
बीमा की राशि₹200000
लाभार्थीखेतिहर किसान
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन
उद्देश्यप्राकर्तिक आपदा की स्थिति में बीमा की राशि प्रदान करना
श्रेणीकेंद्र सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइटpmfby.gov.in/

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का उद्देश्य

भारत एक कृषि प्रधान देश है यहाँ की अर्थव्यवस्था मुख्य रूप से कृषि पर आधारित है। ऐसे में  प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसलों के नुकसान की स्थिति में किसानो के पास आत्महत्या/साहूकारों के ऋण लेने के अतिरिक्त अन्य कोई मार्ग नहीं रहता है। केंद्र सरकार द्वारा 8800 रूपये से अधिक के बजट के साथ शुरू की गयी प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY) के द्वारा किसानो को फसलों के नुकसान की स्थिति में बिना किसी चिंता के बीमा की राशि प्राप्त हो सकेगी।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में अब-तक जमा किया गया प्रीमियम

पिछले तीन वर्षों में, इस योजना ने 13,000 करोड़ रुपये का प्रीमियम जमा किया है, लेकिन जब प्राकृतिक आपदा आई, तो किसानों को लगभग 64,000 करोड़ रुपये के मुआवजे के रूप में प्रीमियम का 4 गुना अधिक मिला। ’तोमर ने कहा कि प्रीमियम शेयर में कोई बदलाव नहीं हुआ है। यह खरीफ फसल के लिए 2 प्रतिशत, रबी फसल के लिए 1.5 प्रतिशत और वाणिज्यिक और बागवानी फसलों के लिए अधिकतम 5 प्रतिशत है। तालाबंदी के दौरान इस योजना के तहत 8,090 करोड़ रुपये का दावा किया गया है।

Crops & Premium under PMFBY Scheme 2021

इस योजना में किसानो को खरीफ, रबी तथा वार्षिक वाणिज्यिक एवं बागवानी फसलो के लिए तालिके में दिए अनुसार बीमा राशि का भुगतान किया जायेगा।

क्र0स0फसलकिसान द्वारा देय बीमा राशि का प्रतिशत
1खरीफ2.0%
2रबी1.5%
3वार्षिक वाणिज्यिक एवं बागवानी फसले5%

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत गतिविधि कैलेंडर

गतिविधि कैलेंडरखरीफरबी
अनिवार्य आधार पर लोनी किसानों के लिए स्वीकृत ऋण।अप्रैल से जुलाई तकअक्टूबर से दिसम्बर तक
किसानों के प्रस्तावों की प्राप्ति के लिए कट ऑफ़ तारीख (ऋणदाता और गैर-ऋणदाता)।31 जुलाई31 दिसम्बर
उपज डेेटा प्राप्त करने के लिये कट आफ तारीखअतिंम फसल के एक महीने के भीतरअतिंम फसल के एक महीने के भीतर

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत रिवाइज्ड

प्रकारवर्ष 2016 के लियेवर्ष 2019 के लिये
किसान द्वारा देय प्रीमियम धनराशिरू 900रू 600
शतप्रतिशत नुकसान की दशा मे किसान को प्राप्त धन राशिरू 15000रू 30000

New Update of Pradhanmantri Fasal Bima Yojana

केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गयी Pradhanmantri Fasal Bima Yojana के अंतर्गत एक नई घोषणा की गयी है। इस घोषणा के तहत, केंद्र सरकार द्वारा खरीफ फसलों के बीमा की अंतिम तिथि 31 जुलाई 2020 घोषित की गई है। देश के वे इच्छुक लाभार्थी, जो इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, तो वे 31 जुलाई तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। जो लाभार्थी ऋणी बीमा सुविधा का लाभ नहीं उठाना चाहते हैं, तो उन्हें अंतिम तिथि से 7 दिन पहले अपनी बैंक शाखा को लिखित रूप में सूचित करना अनिवार्य है। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा शुरू की गयी Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana के तहत गैर-ऋणी किसान सीएससी, बैंक, एजेंट या बीमा पोर्टल पर स्वयं फसल बीमा कर सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत, किसानों को बुवाई के 10 दिनों के भीतर पीएमएफबीवाई आवेदन पत्र जमा करना अनिवार्य है। इस बीमा का लाभ तभी मिलना संभव हो सकेगा, जब आपकी फसल की हानि प्राकृतिक आपदा के कारण हुई हो।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY) के लाभ

  • किसी भी राज्य का किसान इस योजना के तहत फसलों के नुकसान की स्थिति में बिमा राशि का लाभ ले सकता है।
  • केंद्र सरकार की यह योजना किसी भी प्राकर्तिक आपदा से फसलों के नष्ट होने की स्थिति में फसलों के बीमा की राशि किसान को उपलब्ध कराने का कार्य करेगी।
  • इस योजना के तहत किसान द्वारा केवल प्राकर्तिक आपदा की स्थिति में ही लाभ प्राप्त किया जा सकता है।
  • किसान को फसलों के नुकसान की स्थिति में बीमा की राशि सीधे बैंक खाते में डीबीटी के माध्यम से ट्रांसफर की जाएगी।
  • फसल बीमा पॉलिसी के तहत किसान को खरीफ की फसल पर 2% , रबी की फसल पर 1.5% तथा वार्षिक वाणिज्यिक एवं बागवानी फसलो पर 5% की दर से बीमा के भुगतान किया जायेगा।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना पात्रता मानदंड

केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गयी फसक बीमा योजना के तहत आवेदन करने के लिए आपको दिए गए पात्रता मानदंडों को अनिवार्य रूप से पूरा करना होगा।

  • इस योजना के तहत देश के सभी किसान भाई ऑनलाइन मोड में आवेदन कर सकते है।
  • वह किसान भाई जो पहले ही किसी भी प्रकार की फसल बीमा योजना का लाभ ले रहे हैं वह इस योजना के लिए पात्र नहीं हैं।
  • किसान स्वयं की कृषि भूमि अथवा बटाईदार होने की स्थिति में भी फसल का बीमा करा के लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

Pradhanmantri Fasal Bima Yojana आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • बैंक खाते की जानकारी
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • फसल के सीजन की तारीख
  • खेत का खाता नंबर /खसरा नंबर के पेपर
  • किसान का एड्रेस प्रूफ (जैसे ड्राइविंग लाइसेंस ,पासपोट, वोटर ID कार्ड )
  • अगर खेत किराये पर लेकर खेती की गयी है तो खेत के मालिक के साथ इकरार की फोटो कॉपी

Some Important Dates for Applying for Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana

सरकार द्वारा शुरू की गयी Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana के अंतर्गत आप आवेदन करना चाहते हैं, तो खरीफ की फसल की अंतिम तिथि 31 जुलाई और रबी की फसल की अंतिम तिथि 31 दिसंबर है। इस योजना की अंतिम तिथि सीएससी केंद्र, पीएमएफबीवाई पोर्टल, बीमा कंपनी या कृषि अधिकारी से भी पूछी जा सकती है, जिससे कि आप समय पर इस योजना लाभ उठा सकते हैं।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2021 के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करे?

आपके द्वारा ऊपर दिए गए पात्रता मानदंडों को पूरा किये जाने की स्थिति में आप दिए गए चरणों के द्वारा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको कृषि एवं कल्याण विभाग, भारत सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुल जायेगा।
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको “Register” के बटन पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जायेगा।
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना
  • इस पेज पर आपसे कुछ जानकारी का विवरण माँगा जायेगा। आपको सभी पूछी गयी जानकारियों को दर्ज करके Create के बटन पर क्लिक कर लेना है।
  • अब आपको अपने लॉगिन आईडी और पासवर्ड की मदद से वेबसाइट में लॉगिन कर लेना है।
  • अब आपको अपने लॉगिन आईडी और पासवर्ड की मदद से वेबसाइट में लॉगिन कर लेना है। अब आपके सामने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की फॉर्म खुल जाएगी।
  • इस आवेदन फॉर्म में आपको सभी पूछी गयी जानकारियों को दर्ज करके सभी दस्तावेजों को निर्धारित स्थान में उपलोड कर लेना है।
  • अपने द्वारा दर्ज जानकारी की भली-भांति जांच के पश्चात् आप दिए गए Submit के बटन पर क्लिक कर दे।
  • इस प्रकार आपकी फसल बीमा योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी, जिसके सम्बन्ध में आपको अपनी स्क्रीन पर सक्सेसफुल का मैसेज दिखाई देगा

बताते चले की वह किसान जो प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत आवेदन करना चाहते वह सरकारी दफ्तरो जैसे बैंक बैंक/PACS/ जनसेवा केंद्र  बीमा एजेन्ट या सीधे बीमा कम्पनी से भी आवेदन कर सकता है। इस वर्ष खरीफ सीजन में खरीफ फसल के बीमा की अंतिम तिथि 31 जुलाई 2019 है। इस योजना से जुड़ी अधिक जानकारी के लिए आप आधिकारिक वेबसाइट पर भी जा सकते हैं

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऑनलाइन आवेदन की स्थिति की जांच कैसे करे?

आप फसल बीमा योजना आवेदन के सम्बन्ध में स्थिति की जांच कर सकते हैं, इसके लिए आपको दिए गए आसान से चरणों का पालन करना होगा।

  • सबसे पहले आपको कृषि एवं कल्याण विभाग, भारत सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुल जायेगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको Application Status सेक्शन पर क्लिक कर देना है। इस सेक्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जायेगा।
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना Application Status
  • इस पेज पर आपको Reciept Number दर्ज करके चित्र में दिए गए कॅप्टचा कोड को निर्धारित स्थान में दर्ज करके “Check Status” बटन पर क्लिक कर देना है।
  • अब आपके आवेदन की स्थिति आपकी कंप्यूटर और मोबाइल स्क्रीन पर दिखाई देगी।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऐप कैसे डाउनलोड करें?

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को सरकारी Android ऐप द्वारा लॉन्च किया गया है, जिसे आधिकारिक वेबसाइट या Google Play Store के माध्यम से डाउनलोड किया जा सकता है। प्रधानमंत्री आवास बीमा योजना ऐप के माध्यम से, किसान प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं, अपने आवेदन की स्थिति की जांच कर सकते हैं, जिसके लिए आपको किसी कार्यालय जाने की आवश्यकता नहीं होगी। इस प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऐप के माध्यम से आप अपने बीमा प्रीमियम की राशि की गणना कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें आधिकारिक वेबसाइट पर नहीं जाना होगा। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऐप का मुख्य उद्देश्य किसानों को प्रीमियम और बीमा राशि की राशि बताना है। यह ऐप किसान के डेटा का बैकअप देता है। आप नीचे दिए गए प्रक्रिया का पालन करके प्रधान मंत्री फ़ेसल बीमा योजना ऐप डाउनलोड कर सकते हैं-

  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऐप डाउनलोड करने के लिए सबसे पहले आपको अपने एंड्राइड मोबाइल के गूगल प्ले स्टोर में जाना है। इसके बाद आपके सामने गूगल प्ले स्टोर का होम पेज खुल जायेगा।
  • इस होम पेज पर आपको सर्च बार में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऐप दर्ज कर देना है। इसके बाद आपके सामने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऐप प्रदर्शित हो जाएगी।
  • अब आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऐप पर क्लिक कर देना है।
  • इसके बाद आपके सामने इंस्टॉल का बटन प्रदर्शित हो जायेगा। अब आपको इंस्टॉल के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • अब आपके मोबाइल में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऐप डाउनलोड हो जायेगा।
  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऐप डाउनलोड होने के बाद आप सफलतापूर्वक लॉगिन कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री फसल बीमा लाभार्थी सूची में नाम देखने की प्रक्रिया

जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना के लाभार्थियों की सूची देखना चाहते हैं, तो आपको नीचे दिए चरणों का पालन करना होगा-

आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जायेगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको “लाभार्थी सूची” के विकल्प पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।
  • इस पेज पर आपको राज्य, जिला, ब्लॉक आदि का चयन करने के बाद आपके सामने लाभार्थी सूची प्रदर्शित हो जाएगी।
  • इस प्रकार आप लाभार्थी सूची में अपना नाम देख सकते हैं।

बैंक के माध्यम से

  • सबसे पहले आपको अपने नजदीकी बैंक जाना है। इसके बाद आपके सामने एक काउंटर मिलेगा।
  • इसके बाद आपको संबंधित अधिकारी को अपना एप्लीकेशन नंबर प्रदान कर देना है।
  • अब आपको बैंक अधिकारी द्वारा मांगे गए दस्तावेजों को देना होगा।
  • इसके बाद आपको बैंक आधिकारी लाभार्थी सूची से सम्बंधित जानकारी प्रदान कर देगा।
  • इस प्रकार आप बैंक के माध्यम से लाभार्थी सूची में अपना नाम देख सकते हैं।

इन्शुरन्स प्रीमियम कैलकुलेट करने की प्रक्रिया

आप दिए गए आसान चरणों के द्वारा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की इन्शुरन्स प्रीमियम कैलकुलेट कर सकते है।

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुल जायेगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको मेन्यू में “Insurance Calculator” के विकल्प पर क्लिक करना है। इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जायेगा।
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना Insurance Calculator
  • इस पेज पर आपको अपनी फसल , साल ,स्कीम , स्टेट , डिस्ट्रिक्ट , क्रॉप आदि का चयन करना होगा।
  • सभी विकल्पों का चुनाव करने के बाद Calculate का बटन दबाये और सम्बंधित जानकारी  पर होगी।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में क्लेम करने की प्रक्रिया

यदि किसी किसान की फसल खराब हो गई है, तो आप नीचे दी गई प्रक्रिया का पालन करके बीमा राशि का दावा कर सकते हैं-

  • सबसे पहले, किसान की फसल को हुए नुकसान के बारे में बीमा कंपनी, बैंक या राज्य सरकार के अधिकारी को सूचित कर देना है।
  • इसके बाद किसान को टोल फ्री नंबर पर संपर्क करना है और उसे नुकसान की जानकारी 72 घंटे के भीतर देना अनिवार्य है।
  • अगर आपने बीमा कंपनी के अलावा किसी और को नुकसान के बारे में सूचित किया है, तो आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि वे इस जानकारी को जल्द से जल्द बीमा कंपनी को दे दें।
  • जब आपकी पूरी जानकारी बीमा कंपनी तक पहुंचती है, तब बीमा कंपनी 72 घंटों के भीतर हुए नुकसान की जानकारी का आकलन करने वाली नियुक्त करेगी।
  • अगले 10 दिनों के भीतर, आप फसल को हुए नुकसान का आकलन करेंगे और नुकसान का निर्धारण करेंगे।
  • इस सफल प्रक्रिया के बाद, बीमा कंपनी द्वारा बीमा राशि को आपके खाते में 15 दिनों के अंतर्गत स्थानांतरित कर दी जाएगी।

जिलेवार फार्मर डिटेल देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जायेगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको रिपोर्ट के सेक्शन से  “स्टेट वाइज फार्मर डिटेल्स” के विकल्प पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना District wise farmer details
  • इस पेज पर आपके सामने स्टेट वाइज फार्मर की जानकारी प्रदर्शित हो जाएगी।
  • आप जिस भी वर्ष की स्टेट वाइज फार्मर डिटेल्स चेक करना चाहते हैं, आप उसे डाउनलोड कर सकते हैं।

Note – जो किसान प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं, वे बैंक / PACS / जन सेवा केंद्र बीमा एजेंट जैसे सरकारी कार्यालयों से या सीधे बीमा कंपनी में आवेदन कर सकते हैं और इस वर्ष खरीफ फसल के बीमा की अंतिम तिथि है। 31 यह जुलाई 2019 है। इस योजना से संबंधित अधिक जानकारी के लिए आप आधिकारिक वेबसाइट पर भी जा सकते हैं।

शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जायेगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको “Technical Grievance” के विकल्प पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके सामने एक फॉर्म खुल जायेगा।
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना Grievance Registration
  • इस फॉर्म में आपको पूछी गयी जानकारी का विवरण जैसे- नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी और कमैंट्स को दर्ज कर देना है।
  • सभी आवश्यक जानकारी दर्ज करने के बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • इस प्रकार आप इस प्रक्रिया के माध्यम से अपनी शिकायत दर्ज कर सकते हैं।

फीडबैक दर्ज करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जायेगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको “फीडबैक” के विकल्प पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके सामने एक फॉर्म खुल जायेगा।
Submit Feedback
  • इस फॉर्म में आपको पूछी गयी जानकारी का विवरण जैसे- नाम ,मोबाइल नंबर ,ईमेल आईडी कमैंट्स, कैप्चा कोड आदि को दर्ज कर देना है।
  • सभी आवश्यक जानकारी  दर्ज करने के बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • इस प्रकार आप इस प्रक्रिया के माध्यम से अपना फीडबैक दे सकते हैं।

लॉगिन करने की प्रक्रिया

आप नीचे दिए गए आसान चरणों का पालन करके प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के ऑनलाइन पोर्टल पर साइन इन कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा| इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको साइन इन के बटन पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।
लॉगिन करने की प्रक्रिया
  • इस पेज पर आपको एक फॉर्म दिखाई देगा। इस फॉर्म में दिए गए बॉक्स में अपना मोबाइल नंबर पासवर्ड तथा कैप्चा कोड ध्यानपूर्वक भरे।
  • अंत में सभी जानकारी भरकर लॉगिन का बटन दबाएं। जैसे ही आप लोग इनका बटन दब आएंगे आप पोर्टल पर साइन इन हो जाएंगे।

ऑनलाइन पोर्टल से टेंडर डाउनलोड करने की प्रक्रिया

यदि आप प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए टेंडर डाउनलोड करना चाहते हैं तो इसके लिए नीचे दी गई चरण दर चरण प्रक्रिया का पालन करें।

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको डॉक्यूमेंट स्टेप के अंतर्गत दिए गए टेंडर के लिंक पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जायेगा।
टेंडर डाउनलोड करने की प्रक्रिया
  • इस पेज पर आपको सभी टेंडर की सूची दिखाई देगी। जिस टेंडर के बारे में आप जानकारी लेना चाहते हैं उसके ऊपर दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

सीएससी लोकेट करने की प्रक्रिया

सीएससी लोकेट करने के लिए नीचे दिए गए चरणों को ध्यान पूर्वक देखें।

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको सीएससी के टाइप के अंतर्गत सीएससी लोकेटर के विकल्प पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।
सीएससी लोकेट
  • अब अपने मोबाइल डिवाइस के अनुसार एप स्टोर गूगल प्ले का बटन दबाएं।अब एक नया पेज आपकी डिवाइस स्क्रीन पर खुल जाएगा, जहां आपको इंस्टॉल के बटन पर क्लिक करना है।
CSC Locator
  • इंस्टॉल का बटन दबाते ही सीएससी लोकेटर आपके डिवाइस में डाउनलोड होना शुरू हो जाएगा।
  • सक्सेसफुल डाउनलोड और इंस्टॉलेशन प्रोसीजर के बाद आप इस ऐप को ओपन करके इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

CSC login करने की प्रक्रिया

नीचे दिए गए आसान चरणों का पालन करके आप पीएमएफबीवाई पोर्टल पर आसानी से सीएससी लॉगइन कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको सीएससी के टाइप के अंतर्गत दिए गए सीएससी लॉगइन के विकल्प पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।
CSC Login
  • इस पेज पर आपको एक लॉगइन फॉर्म दिखाई देगा। इस फॉर्म में अपना यूजर नेम तथा पासवर्ड दर्ज करें।
  • जानकारी दर्ज करने के बाद साइन इन का बटन दबाएं और इस प्रकार आपके सीएससी लॉगइन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

गाइडलाइंस डाउनलोड करने की प्रक्रिया

आप दिए गए आसान चरणों के द्वारा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के ऑनलाइन पोर्टल से गाइडलाइंस डाउनलोड कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना है। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको डॉक्यूमेंट के टैब के अंतर्गत दिए गए गाइडलाइंस के विकल्प पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।
गाइडलाइंस डाउनलोड
  • इस पेज पर आपको गाइडलाइंस की पूरी सूची दिखाई देगी। अपनी आवश्यकता के अनुसार गाइडलाइन के सामने दिए गए डाउनलोड के लिंक पर क्लिक करें।
  • डाउनलोड का बटन दबाते ही गाइडलाइंस आपके डिवाइस में डाउनलोड हो जाएगी।

पीएमएफबीवाई पोर्टल डाटा डैशबोर्ड देखने की प्रक्रिया

पीएमएफबीवाई पोर्टल डाटा डैशबोर्ड देखने के लिए आपको नीचे दी गई चरण दर चरण प्रक्रिया का पालन करना होगा।

पीएमएफबीवाई पोर्टल डाटा डैशबोर्ड
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा। इस पेज पर आप अपना डैशबोर्ड देख सकते हैं।

बैंक ब्रांच डायरेक्टरी देखने की प्रक्रिया

बैंक ब्रांच डायरेक्टरी देखने के लिए नीचे दी गई प्रक्रिया ध्यानपूर्वक पढ़ें।

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको बैंक ब्रांच डायरेक्टरी के विकल्प पर क्लिक कर देना होगा। इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।
बैंक ब्रांच डायरेक्टरी
  • इस पेज पर आपको बैंक ब्रांच डायरेक्टरी से संबंधित सभी जानकारी दिखाई देगी। सर्च के बॉक्स में जाकर संबंधित बैंक का नाम दर्ज करें।
  • बैंक का नाम दर्ज करते ही संबंधित बैंक की जानकारी आपके कंप्यूटर स्क्रीन पर खुल जाएगी।
  • टेंडर आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर खुल जाएगा, आप डाउनलोड का बटन दबाकर इसे डाउनलोड भी कर सकते हैं और इसका प्रिंट ले सकते हैं।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत आने वाली बीमा कंपनियों के टोल फ्री नंबर

इन्शुरेंस कंपनी का नामटोल फ्री नंबर
एग्रिकल्चर इन्शुरेंस कंपनी1800 116 515
बजाज आलियंज इन्शुरेंस कंपनी1800 209 5959
भारती एक्सा जनरल इन्शुरेंस कंपनी1800 103 7712
चोलामंडलम MS जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 200 5544
फ्युचर जनराली इंडिया इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 266 4141
एचडीएफ़सी एर्गों जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 266 0700
आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 266 9725
इफको टोकियो जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 103 5490
नेशनल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 200 7710
न्यू इंडिया एशुरेंस कंपनी1800 209 1415
ओरिएंटल इन्शुरेंस1800 118 485
रिलायंस जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 102 4088 / 1800 300 24088
रॉयल सुंदरम जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 568 9999
एसबीआई जनरल इन्शुरेंस1800 123 2310
श्रीराम जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 3000 0000 / 1800 103 3009
टाटा एआईजी जनरल इन्शुरेंस कंपनी लिमिटेड1800 209 3536
यूनाइटेड इंडिया इन्शुरेंस कंपनी1800 4253 3333
यूनिवर्सल जनरल इन्शुरेंस कंपनी1800 200 5142  

Contact Helpline

इस योजना से जूसी किसी भी प्रकार की समस्या के समाधान के लिए एक हेल्पलाइन नंबर की शुरुआत की गयी है। आप इस टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर की सहायता से इस योजना के आवेदन अथवा आवेदन की स्थिति जानने के सम्बन्ध में अपनी शिकायत का निवारण प्राप्त कर सकते हैं।

  • फ़ोन नंबर – 01123382012
  • टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर – 01123381092

Important Download

यह भी पढ़े – कोविड 19 बजट, केंद्र सरकार का आत्मनिर्भर भारत अभियान पूरी जानकारी

हम उम्मीद करते हैं की आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से सम्बंधित जानकारी जरूर लाभदायक लगी होंगी। इस लेख में हमने आपके द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालो के जवाब देने की कोशिश की है।

यदि अभी भी आपके पास इस योजना से सम्बंधित सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। इसके साथ ही आप हमारी वेबसाइट को बुकमार्क भी कर सकते हैं।

Leave a Comment