[पंजीकरण] प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना: 80 करोड़ राशन कार्ड धारकों के लिए 3 महीने राशन की व्यवस्था

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना, Pradhan Mantri Garib Kalyan Anna Yojana, प्रधानमंत्री राशन सब्सिडी योजना पंजीकरण, PM Gareeb Kalyan Yojana Application Status, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना आवेदन पत्र की विस्तृत जानकारी आपको इस लेख में प्रदान की जाएगी।

वित्त मंत्री द्वारा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना की शुरुआत का ऐलान किया है। इस योजना को केंद्र सरकार द्वारा गरीब परिवारों के लिए कोरोना वायरस विपत्ति के समय में राहत पैकेज के ऐलान के साथ शुरू किया गया है। इस योजना के तहत केंद्र सरकार देश में 80 करोड़ गरीब राशन कार्ड धारको को गेंहू और चावल की व्यवस्था करेगी।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना

केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (Pradhan Mantri Garib Kalyan Anna Yojana) के तहत लगभग 80 करोड़ गरीब परिवारों को  हर महीने राशन कार्ड की सहायता से 2 रूपये प्रति किलो गेहू दिए जायेगा और चावल 3 रूपये प्रतिकिलो उपलब्ध कराया जायेगा।

इस योजना में प्रत्येक राशन कार्ड धारक परिवार को परिवार में प्रत्येक सदस्य के अनुसार सब्सिडी पर राशन (गेंहू एवं चावल) की व्यवस्था की जाएगी। अपने इस  आर्टिकल में हम आपको वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा शुरू की गयी प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना व जारी किये गए राहत पैकेज के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे।

केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना

देश में कोरोना वायरस के संक्रमण से आयी विपत्ति के समय केंद्र सरकार द्वारा राहत पैकेज की घोषणा की गयी है। इस पैकेज में देश की गरीब जनता और दिहाड़ी मजदूरों के लिए अनेको घोषणाएं की गयी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में NDA सरकार द्वारा गरीब परिवारों को आर्थिक सहायता देने के लिए राहत पैकेज की घोषणा की गयी है।

इसी क्रम में केंद्र सरकार द्वारा गरीब परिवारों के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना की शुरुआत की है। इसके तहत केंद्र 80 करोड़ से अधिक गरीब परिवारों को तीन महीनो तक सस्ती दरों पर राशन उपलब्ध कराएंगी। गरीब के घर में चूल्हे जलते रहे और उसे भूखे पेट सोने की नौबत ना आये इसके लिए इस राहत पैकेज में गेंहू और चावल देने की बात कही गयी है।

गरीब कल्याण अन्न योजना के प्रमुख तथ्य

योजना का नाम प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना
आरम्भ की गई केंद्र सरकार द्वारा
लाभार्थी देशभर के गरीब परिवार-
आवेदन की प्रक्रिया ———————-
उद्देश्य गरीब परिवारों को सहायता के रूप में अनाज उपलब्ध कराना
लाभ गरीब परिवारों को सब्सिडी पर अनाज
श्रेणी केंद्र सरकार की योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइट www.india.gov.in/

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का उद्देश्य

हमारे देश में कोरोना वायरस से लड़ाई के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोड द्वारा 21 दिनों के लिए पूरी तरह लॉक-डाउन का निर्णय लिया गया है। इसके तहत सभी नागरिको को 21 दिनों तक किसी आवश्यक कार्य न होने की स्थिति में घर से बाहर न निकलने की बात कही गयी है।

इस विपत्ति की घडी में पूरा देश कोरोना को हारने के लिए लड़ाई लड़ रहा है। ऐसे में दिहाड़ी मजदूर के लिए घर में खाने-पीने की समस्या को देखते हुए केंद्र सरकार ने अपने विशेष राहत पैकेज के तहत गरीब राशन कार्ड धारको के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (Pradhanmantri Ration Subsidy Yojana) की शुरुआत की है।

केंद्र सरकार के राहत पैकेज के महत्वपूर्ण तथ्य

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से केंद्र सरकार द्वारा सम्पूर्ण राष्ट में गरीबो के लाभ के लिए राहत पैकेज की घोषणा की गयी है। इस राहत पैकेज की प्रमुख घोषणाएं इस प्रकार हैं।

  • बुजुर्गों, दिव्यांगों और विधवाओं को कोरोना वायरस के लड़ाई के दौरान दो किस्तों में तीन महीने तक 1000 रूपये की अतिरिक्त राशि प्रदान की जाएगी। इसके माध्यम से तीन करोड़ से अधिक लाभार्थियों को लाभ देने की बात कही गयी है।
  • प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत महिला जनधन खाताधारकों को 3 महीने तक 500 रुपये राशि सीधे बैंक खाते में प्रदान की जाएगी।
  • वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा कहा गया है की यह सभी सहायता राशि DBT के माध्यम से लाभार्थियों के खाते में प्रदान की जाएगी।
  • प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत लाभ प्रदान कर चुकी सभी गृहणियों को तीन महीने तक मुफ्त सिलेंडर की व्यवस्था की गयी है।
  • मनरेगा के तहत काम करने वाले दिहाड़ी मजदूरों की मजदूरी को 180 रूपये से बढ़ाकर 202 रूपये करने का निर्णय लिया गया है।
  • देश की वित् मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने इस योजना के अंतर्गत देश के किसानों, मनरेगा मजदूर, गरीब विधवा, गरीब दिव्यांग और गरीब पेंशनधारक, जनधन योजना, उज्जवला के लाभार्थी, स्वयं सहायता समूह की महिलाएं, संगठित क्षेत्र के कर्मचारी और निर्माण में काम कर रहे लोगों के लिए एलान किया।
  • वित्त मंत्री ने इसके साथ ही BPL श्रेणी के गरीब परिवारों को 5 किलोग्राम गेंहू अथवा चावल और 1 किलोग्राम दाल मुफ्त देने की घोषणा की है।

केंद्र सरकार की राशन सब्सिडी योजना की विशेषताएं

  • वित्त मंत्रालय द्वारा इस राहत पैकेज में गरीब परिवारो के लिए अनेको योजनाओ की शुरुआत की है।
  • इसके तहत देश के 80 करोड़ लाभार्थियों को सब्सिडी पर राशन (गेंहू और चावल) देने की व्यवस्था की गयी है।
  • प्रधानमंत्री राशन सब्सिडी योजना के अंतर्गत देश 80 करोड़ लाभार्थियों को 3 महीने तक 7 किलो राशन सरकार द्वारा प्रदान  किया जायेगा ।
  • इसके साथ ही प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत लाभार्थी महिलाओ को तीन महीने तक मुफ्त सिलेंडर देने का प्रस्ताव है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण की कुछ अन्य महत्वपूर्ण घोषणाएं

केंद्र सरकार द्वारा 1.70 करोड़ के राहत पैकेज के तहत शुरू की गयी प्रधानमंत्री गरीब कल्याण की कुछ अन्य महत्वपूर्ण घोषणाएं इस प्रकार हैं।

गरीब कल्याण दिव्यांग पेंशन योजना

केंद्र सरकार द्वारा देश भर में लॉक-डाउन की स्थिति में  बुजुर्गों दिव्यांगों के लिए आने वाले 3 महीनों तक रु 1000 की अतिरिक्त पेंशन प्रदान करने का निर्णय लिया है। इसके तहत लाभार्थी राशि सीधे डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (DBT) के माध्यम से ट्रांसफर की जाएगी। 

दीनदयाल योजना की शुरुआत स्वयं सेवा समूह के लिए

केंद्र सरकार द्वारा महिला स्वयं सहायता समूह के अंतर्गत कार्यरत महिलाओं को ₹20 लाख तक का लोन उपलब्ध कराया जायेगा। इस योजना में कोरोना संकट के तहत संशोधन किया गया है अब इस योजना में ₹20 लाख तक का लोन उपलब्ध कराया जायेगा। पहले इसमें लोन की सीमा 10 लाख निर्धारित थी।

केंद्र सरकार देगी 3 माह का ईपीएफ

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार आने वाले तीन महीनो में इपीएफ कंट्रीब्यूशन करेगी। यह कंट्रीब्यूशन कर्मचारियों के EPF बैंक खाते में किया जायेगा। इसका लाभ उन सभी कंपनियों को मिलेगा जिनमें 100 या उससे अधिक कर्मचारी कार्य करते हैं तथा कर्मचारियों का वेतन कम से कम ₹15000 है।

एलपीजी बीपीएल गैस सब्सिडी योजना

राष्ट्रव्यापी लॉक-डाउन की स्थिति में केंद्र सरकार द्वारा हाल ही में 21 दिन का लॉक डाउन करने का निर्णय लिया गया है। इस लॉक-डाउन की अवधि में गरीबी रेखा से नीचे जीवन-यापन करने वाले परिवारों को तीन महीने तक मुफ्त गैस सिलेंडर उपलब्ध कराया जायेगा। इस योजना में लगभग 8.3 करोड़ परिवारों को लाभ पहुंचाया जायेगा।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में पंजीकरण कैसे करे?

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के द्वारा इस योजना के ऑनलाइन पंजीकरण के लिए किसी प्रकार का कोई मैन्युअल जारी नहीं किया गया है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के लिए कोई पंजीकरण प्रक्रिया निर्धारित नहीं है। देश के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना के अंतर्गत 2 रूपये प्रतिकिलो की दर से गेहू और 3 रूपये प्रतिकिलो की दर से चावल प्राप्त करना चाहते है तो वह राशन की दुकान पर जाकर अपने राशन कार्ड के ज़रिये प्राप्त कर सकते है।

इसके अतिरक्त उज्ज्वला योजना के तहत मुफ्त सिलेंडर प्राप्त करने एवं अन्य योजनाओ का लाभ भी पात्र नागरिको और परिवारों को घर बैठे प्रदान किये जाने की रूपरेखा तैयार की जा रही है। इस सम्बन्ध में वित्त मंत्रालय द्वारा आगे भी प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से दिशा-निर्देश करि किये जा सकते हैं। प्रधानमंत्री राशन सब्सिडी योजना मुख्य रूप से गरीब परिवारों को सब्सिडी पर राशन प्रदान करने के लिए शुरू की गयी है।

यह भी पढ़े – केंद्र सरकार द्वारा उज्ज्वला योजना के तहत दी जाने वाली सहायता

हम उम्मीद करते हैं की आपको प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न/राशन सब्सिडी योजना से सम्बंधित जानकारी जरूर लाभदायक लगी होंगी। इस लेख में हमने आपके द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालो के जवाब देने की कोशिश की है।

यदि अभी भी आपके पास इस योजना से सम्बंधित सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। इसके साथ ही आप हमारी वेबसाइट को बुकमार्क भी कर सकते हैं।

5 thoughts on “[पंजीकरण] प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना: 80 करोड़ राशन कार्ड धारकों के लिए 3 महीने राशन की व्यवस्था”

Leave a Comment