प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना (PMGKY) ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना, Pradhan Mantri Garib Kalyan Ann Yojana, प्रधानमंत्री राशन सब्सिडी योजना पंजीकरण, PMGKY 2020 Application Status, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना आवेदन पत्र की विस्तृत जानकारी आपको इस लेख में प्रदान की जाएगी। केंद्र सरकार द्वारा 26 मार्च 2020 को 21 दिन के लॉक डाउन को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना की शुरुआत की गयी है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा  कॉन्फ्रेंस के दौरान प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना की शुरुआत का ऐलान किया है। इस योजना को केंद्र सरकार द्वारा गरीब परिवारों के लिए कोरोना वायरस विपत्ति के समय में राहत पैकेज के ऐलान के साथ शुरू किया गया है। इस योजना के तहत केंद्र सरकार देश में 80 करोड़ गरीब राशन कार्ड धारको को गेंहू और चावल की व्यवस्था करेगी।

Table of Contents

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में की गयी नयी घोषणा

केंद्र सरकार की पीएम राशन सब्सिडी योजना के तहत लगभग 80 करोड़ गरीब परिवारों को हर महीने राशन कार्ड की सहायता से 2 रूपये प्रति किलो गेहू दिए जायेगा और चावल 3 रूपये प्रतिकिलो की दर से उपलब्ध कराया जायेगा। इस योजना के सफल कार्यान्वयन के लिए केंद्र सरकार ने  1.70 करोड़ की धनराशि आवंटित की है। वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने प्रेस कॉन्फ्रेंस  सम्बोधित करते हुए  विभिन्न प्रकार की कल्याणकारी योजनाओं की शुरुआत घोषणा की गयी है।

Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा अनलॉक के दूसरे चरण से ठीक पहले आज 30 जून को देश के नाम सम्बोधन में कई घोषणाएं की गयी हैं। इसके तहत इन सभी योजनाओ को आगे नवम्बर तक बढ़ाने का ऐलान किया गया है। गरीब कल्याण अन्न योजना के नवम्बर तक विस्तार से 90 हज़ार करोड़ रूपये से ज्यादा खर्च होने का अनुमान है। इस योजना में प्रत्येक राशन कार्ड धारक परिवार को परिवार में प्रत्येक सदस्य के अनुसार सब्सिडी पर राशन (गेंहू एवं चावल) की व्यवस्था की जाएगी।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत देश के 80 करोड़ से अधिक गरीब परिवारों को नवम्बर महीने तक यानि इन 5 महीनो तक 5 किलो गेहू या 5 किलो चावल मुफ्त में सरकार द्वारा मुहैया कराया जायेगा और इसके साथ ही देश के प्रत्येक गरीब परिवारों को हर महीने 1 किलो चना भी मुफ्त में दिया जायेगा। अपने इस  आर्टिकल में हम आपको वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा शुरू की गयी प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना व जारी किये गए राहत पैकेज के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे।

Pradhanmantri Garib Kalyan Yojana 3.0

भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा इस योजना के अनुसार प्रोत्साहन सहायता को आगे बढ़ाते हुए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का तीसरा फेज शुरू करने की तैयारी की जा रही है। कोरोना वायरस के कारण हुए लॉक डाउन की वजह से आ रही आर्थिक संकट से निपटने के लिए इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार के माध्यम से तीसरा प्रोत्साहन पैकेज लाने की तैयारी की जा चुकी है, जिसके अंतर्गत गरीब नागरिकों को आर्थिक सहायता देना बंद नहीं किया जायेगा।

केंद्र सरकार के आधार पर इस योजना के अंतर्गत तीसरे प्रोत्साहन पैकेज में देश के गरीब नागरिकों को अगले साल मार्च तक मुफ्त में अनाज आवंटित कराये जाने का प्रावधान किया जायेगा। केंद्र सरकार द्वारा नागरिकों की सुरक्षा के लिए इस योजना की अवधि को बढ़ाने की योजना बनायीं जा रही है। इस प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के माध्यम से केश ट्रांसफर स्कीम को भी शामिल किया जा सकते है। इस योजना के के मुताबिक तीसरे प्रोत्साहन पैकेज में सरकार 20 करोड़ जन धन खातों और 3 करोड़ गरीब वृद्धजन, विधवा, विकलांग को केश ट्रांसफर की जा सकते है।

पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना नई घोषणा

देश में कोरोना वायरस के संक्रमण से आयी विपत्ति के समय केंद्र सरकार द्वारा राहत पैकेज की घोषणा की गयी है। इस पैकेज में देश की गरीब जनता और दिहाड़ी मजदूरों के लिए अनेको घोषणाएं की गयी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में NDA सरकार द्वारा गरीब परिवारों को आर्थिक सहायता देने के लिए राहत पैकेज की घोषणा की गयी है। इसके तहत गरीब के घर में चूल्हे जलते रहे और उसे भूखे पेट सोने की नौबत ना आये इसके लिए इस राहत पैकेज में गेंहू और चावल देने की बात कही गयी है।

इसी क्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा 12 मई को 2020 को 20 लाख करोड़ रुपए के आत्मनिर्भर भारत पैकेज की घोषणा की गयी है। इस राहत पैकेज की घोषणा वित्त मंत्री निर्मला सीताराम द्वारा गुरुवार को दूसरे फैज में की गयी है। इसके तहत जिन परिवारों के पास अपने स्वयं के राशन कार्ड नहीं हैं उन्हें अब 5 Kg चावल/गेंहूं और 1kg चना प्रति परिवार के दर से दो महीने तक सरकार द्वारा उपलब्ध कराया जायेगा |

Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana 2.0 में आवंटित और वितरित अनाज की संख्या

हम जानते हैं कि Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana के माध्यम से देश के सभी गरीब राशन कार्ड धारको के परिवारों को सरकार के ज़रिये नवंबर तक 5 किलो गेहूँ या 5 किलो चावल मुफ्त में सरकार द्वारा आवंटित कराया जायेगा, तो आपको बता दे कि इन पांच महीनो के अंतर्गत सरकार द्वारा 201 लाख टन का अनाज मुहैया किया गया है और इनमे से राज्यों द्वारा 89.76 लाख टन अनाज उठाया जा चूका है।

इस योजना के अंतर्गत सभी राज्यों के माध्यम से गरीब लोगो को 60.52 लाख टन अनाज आवंटित किया गया है। इस योजना के अनुसार जुलाई माह में लाभार्थियों को 35.84 लाख टन अनाज आवंटित किया गया है और कुल लाभार्थियों की संख्या 71.68 करोड़ है। इसी तरह अगस्त के महीने में लाभार्थियों को 24.68 लाख टन अनाज आवंटित किया गया है और कुल लाभार्थियों की संख्या 49.36 करोड़ है।

PMGKY 2020 New Update

हम जानते हैं कि कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के कारण हुए लॉक डाउन के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा ईपीएफ अधिनियम 1952 के तहत सभी वर्गों के नागरिकों को Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana और आत्मनिर्भर भारत योजना का लाभ प्रदान करने की घोषणा की गयी थी। इस योजना के माध्यम से  इपीएफ तथा ईपीएस योगदान का वहन केंद्र सरकार द्वारा किया जायेगा।

देश के जो इच्छुक नागरिक इस PMGKY 2020 का लाभ उठाना चाहते हैं, तो आपको अपने एंपलॉयर्स की ईसीआर कर्मचारी भविष्य निधि कल्याण में जमा करना अनिवार्य है। इस योजना के माध्यम से लगभग 1 लाख 80000 लोग लाभान्वित किये जा सकेंगे। इस योजना के माध्यम से जून के महीने में 6 करोड 58 लाख तथा जुलाई के महीने में 5 करोड़ 60 लाख रुपए का लाभ प्रदान किया गया है।

पीएम राशन सब्सिडी योजना

हम जानते हैं कि हमारे देश के प्रधानमंत्री जी के द्वारा 12 मई को 2020 को 20 लाख करोड़ रुपए के आत्मनिर्भर भारत पैकेज की घोषणा देश के गरीब नागरिकों के लिए की गयी है। इस 20 लाख करोड़ रूपये के राहत पैकेज के दूसरे फेज की घोषणा हमारे देश की वित् मंत्री निर्मला सीतारमण जी के माध्यम से गुरुवार को की गयी है। इस राहत पैकेज के माध्यम से लॉक डाउन से हुई आर्थिक परेशानियों से बाहर निकला जा सकेगा।

देश के प्रधानमंत्री जी की इस घोषणा के अनुसार पीएम राशन सब्सिडी योजना के अंतर्गत देश के जिन प्रवासी मजदूरों के पास अपना राशन कार्ड नहीं है, उन मजदूर नागरिकों के परिवारों को भी अब 5 Kg चावल/गेंहूं और 1kg चना प्रति परिवार के दर से दो महीने तक सरकार द्वारा प्रदान किया जायेगा | इस योजना के माध्यम से देश के करीब 8 करोड़ प्रवासियों को लाभ होगा। इस योजना के लिए करीब 3500 करोड़ रुपए का बजट पास किया गया है, जिसका पूरा खर्च केंद्र सरकार उठाएगी।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना अपडेट

हम जानते हैं कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का आरंभ कोरोनावायरस के कारण किया गया था। इस योजना के माध्यम से 26 मार्च 2020 से 30 जून 2020 तक कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन में प्रतिमाह 80 करोड़ गरीबों को मुफ्त में 5 किलो राशन (चावल या फिर गेहूं) तथा 1 किलो दाल आवंटित की जा रही थी। केंद्र सरकार द्वारा अब इस योजना को बढ़ाकर 30 नवंबर तक के लिए लागू कर दिया गया है। 

इस प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के माध्यम से परिवार के सभी सदस्यों को 5 किलो गेहूं या चावल प्रदान किया जाएगा और 1 किलो दाल भी प्रदान की जाएगी। केंद्र सरकार द्वारा इस राशन को निशुल्क आवंटित किया जाएगा। इस योजना के तहत खाद्य आपूर्ति मंत्रालय के अनुसार अप्रैल तथा मई महीने में 75 करोड़ गरीबों को तथा जून में 73 करोड़ गरीबों को लाभ प्रदान किया गया था। इस योजना के कार्यान्वयन के लिए 90 हजार करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है।

गरीब कल्याण अन्न योजना के प्रमुख तथ्य

योजना का नाम प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना
आरम्भ की गई केंद्र सरकार द्वारा
लाभार्थी देशभर के गरीब परिवार-
आवेदन की प्रक्रिया ———————-
उद्देश्य गरीब परिवारों को सहायता के रूप में अनाज उपलब्ध कराना
लाभ गरीब परिवारों को सब्सिडी पर अनाज
श्रेणी केंद्र सरकार की योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइट www.india.gov.in/

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का लाभ लाभ उठाने के लिए ईसीआर की आवश्यकता

हमारे पुरे देश में कई सारे संस्थान ऐसे हैं, जिनके द्वारा ईसीआर के लिए डिक्लेरेशन भर दिया गया है, परन्तु कुछ संस्थान ऐसे भी हैं जिनके द्वारा अभी तक इसीआर जमा नहीं कराया गया है, जिसके कारण उन्हें इस प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। ऐसे सभी संस्थान जिनके द्वारा ईसीआर अभी तक फाइल नहीं किया गया है, वे जल्द से जल्द ईसीआर फाइल करके इस योजना का लाभ उठाने में सक्षम हो सकेंगे।

वे सभी सदस्य जिनके द्वारा यह योजना लागू होने से पहले ही ईसीआर फाइल चुके हैं, उन्हें भी इस योजना का लाभ प्रदान किया जायेगा। कुछ ऐसे सदस्य भी हैं जिनके द्वारा अपना आधार केवाईसी अपडेट नहीं किया गया है। विभाग के माध्यम से ऐसे सदस्यों से संपर्क करके अपना आधार अपडेट कराने की जानकारी प्रदान की जा रही है। वे सभी सदस्य जिनकी आधार केवाईसी अपडेट ना होने के कारण स्कीम का लाभ नहीं मिल पा रहा है, वे जल्द से जल्द अपना आधार केवाईसी अपडेट करवाकर योजना का लाभ उठा सकते हैं।

Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana के तहत स्थानांतरित धनराशि

वित्त मंत्रालय द्वारा बताया गया है कि Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana के माध्यम से लाभार्थियों के खाते में सीमित समय सीमा के अंतर्गत धनराशि प्रदान की जा रही है। अभी तक प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अनुसार डिजिटल पेमेंट के माध्यम से जन धन योजना, उज्ज्वला योजना, पीएम किसान योजना के अंतर्गत आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है, जिससे देश के सभी नागरिकों को किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा।

केंद्र सरकार द्वारा पीएम राशन सब्सिडी योजना के माध्यम से 28,256 करोड़ रुपये के बजट की धनराशि लाभार्थियों को प्रदान की जाएगी। इस योजना के माध्यम से केंद्र सरकार द्वारा तीन किस्तों में जैसे- माह अप्रैल, मई और जून के महीनों में लाभार्थी के खातों में धनराशि प्रदान की जाएगी। केंद्र सरकार द्वारा माह अप्रैल में पहली किस्त जारी की जा चुकी है। उज्जवला योजना के अंतर्गत करीब 7.15 करोड़ लाभार्थियों के खाते में 5,606 करोड़ रुपये की धनराशि स्थानांतरित की गयी हैं।

पीएम राशन सब्सिडी योजना के अंतर्गत मिलने वाला अनाज

इस पीएम राशन सब्सिडी योजना के माध्यम से देश के गरीब परिवार के सभी सदस्यों को 5 किलो गेहूं या चावल मुफ्त प्रदान किया जा रहा है। इस योजना के माध्यम से एक किलो चने की दाल भी मुफ्त प्रदान की जा रही है। प्रति माह प्रदान किया जाने वाला गेहूं या चावल, दाल हर परिवार को दिया जाता है। इस योजना के अंतर्गत अप्रैल में 93%, मई में 91% और जून में 71% लाभार्थियों को अनाज आवंटित किया जा चुका है। इसके लिए राज्यों द्वारा अब तक 116 लाख मीट्रिक टन अनाज केंद्र सरकार से लिया है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना नई अपडेट

देश के जो गरीब लोग कोरोना वायरस के कारण हुए लॉक डाउन की वजह से परेशानियों का सामना कर रहे है, जिसको देखते हुए केंद्र सरकार द्वारा देश के गरीब नागरिकों के बैंक खाते में आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए धनराशि प्रदान कर रही है। वित्त मंत्रालय द्वारा गुरुवार को बताया गया है कि 22 अप्रैल तक इस योजना के तहत 33 करोड़ से अधिक गरीबों को 31,235 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की गयी है।

इस राशन वितरण का काम Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana के अंतर्गत शुरू कर दिया गया है। शनिवार को शहर के कई इलाकों में इस पीएम राशन सब्सिडी योजना के तहत राशन का वितरण किया गया है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के माध्यम से मॉडल हाउस इलाके में ढाई सौ परिवारों को निशुल्क राशन प्रदान किया गया है, जिसके माध्यम से लॉक डाउन की स्थिति में सभी गरीब नागरिकों को परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा।

मोहाली जिले में किये गए लाभान्वित लाभार्थी

इस प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के माध्यम से राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, 2013 के तहत रविवार को मोहाली जिले में 7,000 लोगों को तीन महीने के लिए 15 किग्रा गेहूं और 3 किग्रा दाल आदि बिना शुल्क के राशन उपलध कराया जा चूका है। इस योजना के माध्यम से अब तक मोहाली जिले के 87000 लोगो को लाभान्वित किया जा चूका है। अगर आप भी इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, तो आप अपने राशन कार्ड के ज़रिये इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में दी जाने वाली सुविधाएँ

हमारे देश के गृह मंत्रालय द्वारा देश के सबसे गरीब लोगों की सहायता के लिए PMGKY 2020 योजना के तहत 1.7 लाख करोड़ के राहत पैकेज की घोषणा की गयी है। इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा किसानों के लिए पीएम किसान योजना द्वारा 2000 रुपए अप्रैल प्रथम सप्ताह में भेजें, राशन कार्ड धारक 80 करोड़ लोगों को 5 KG राशन मुफ्त, कोरोना वारियर्स जैसे- डॉक्टर, नर्स, कर्मचारी के लिए योजनाएं शुरू की हैं।

केंद्र सरकार द्वारा 50 लाख बीमा, जन धन योजना के माध्यम से 500 रुपए अगले तीन महीनों के लिए, विधवा, गरीब नागरिकों के लिए, विकलांग, वरिष्ठ नागरिक के लिए 1000 रुपए अगले तीन महीने के लिए, उज्जवला योजना के तहत गैस सिलेंडर अगले 3 महीनों के लिए मुफ्त, SHGs के तहत अतिरिक्त 10 लाख रुपए कोलैटरल लोन, कंस्ट्रक्शन वर्कर के लिए 31000 करोड़ रुपए के फण्ड रिलीज़, EPF के तहत सरकार को अगले तीन महीने के लिए 24% (12% + 12%) का भुगतान किया जाएगा।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का उद्देश्य

हमारे देश में कोरोना वायरस से लड़ाई के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोड द्वारा 21 दिनों के लिए पूरी तरह लॉक-डाउन का निर्णय लिया गया है। इसके तहत सभी नागरिको को 21 दिनों तक किसी आवश्यक कार्य न होने की स्थिति में घर से बाहर न निकलने की बात कही गयी है।

इस विपत्ति की घडी में पूरा देश कोरोना को हारने के लिए लड़ाई लड़ रहा है। ऐसे में दिहाड़ी मजदूर के लिए घर में खाने-पीने की समस्या को देखते हुए केंद्र सरकार ने अपने विशेष राहत पैकेज के तहत गरीब राशन कार्ड धारको के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (Pradhanmantri Ration Subsidy Yojana) की शुरुआत की है।

केंद्र सरकार के राहत पैकेज के महत्वपूर्ण तथ्य

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से केंद्र सरकार द्वारा सम्पूर्ण राष्ट में गरीबो के लाभ के लिए राहत पैकेज की घोषणा की गयी है। इस राहत पैकेज की प्रमुख घोषणाएं इस प्रकार हैं।

  • बुजुर्गों, दिव्यांगों और विधवाओं को कोरोना वायरस के लड़ाई के दौरान दो किस्तों में तीन महीने तक 1000 रूपये की अतिरिक्त राशि प्रदान की जाएगी। इसके माध्यम से तीन करोड़ से अधिक लाभार्थियों को लाभ देने की बात कही गयी है।
  • प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत महिला जनधन खाताधारकों को 3 महीने तक 500 रुपये राशि सीधे बैंक खाते में प्रदान की जाएगी।
  • वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा कहा गया है की यह सभी सहायता राशि DBT के माध्यम से लाभार्थियों के खाते में प्रदान की जाएगी।
  • प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत लाभ प्रदान कर चुकी सभी गृहणियों को तीन महीने तक मुफ्त सिलेंडर की व्यवस्था की गयी है।
  • मनरेगा के तहत काम करने वाले दिहाड़ी मजदूरों की मजदूरी को 180 रूपये से बढ़ाकर 202 रूपये करने का निर्णय लिया गया है।
  • देश की वित् मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने इस योजना के अंतर्गत देश के किसानों, मनरेगा मजदूर, गरीब विधवा, गरीब दिव्यांग और गरीब पेंशनधारक, जनधन योजना, उज्जवला के लाभार्थी, स्वयं सहायता समूह की महिलाएं, संगठित क्षेत्र के कर्मचारी और निर्माण में काम कर रहे लोगों के लिए एलान किया।
  • वित्त मंत्री ने इसके साथ ही BPL श्रेणी के गरीब परिवारों को 5 किलोग्राम गेंहू अथवा चावल और 1 किलोग्राम दाल मुफ्त देने की घोषणा की है।

केंद्र सरकार की राशन सब्सिडी योजना की विशेषताएं

  • वित्त मंत्रालय द्वारा इस राहत पैकेज में गरीब परिवारो के लिए अनेको योजनाओ की शुरुआत की है।
  • इसके तहत देश के 80 करोड़ लाभार्थियों को सब्सिडी पर राशन (गेंहू और चावल) देने की व्यवस्था की गयी है।
  • प्रधानमंत्री राशन सब्सिडी योजना के अंतर्गत देश 80 करोड़ लाभार्थियों को 3 महीने तक 7 किलो राशन सरकार द्वारा प्रदान  किया जायेगा ।
  • इसके साथ ही प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत लाभार्थी महिलाओ को तीन महीने तक मुफ्त सिलेंडर देने का प्रस्ताव है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण की कुछ अन्य महत्वपूर्ण घोषणाएं

केंद्र सरकार द्वारा 1.70 करोड़ के राहत पैकेज के तहत शुरू की गयी प्रधानमंत्री गरीब कल्याण की कुछ अन्य महत्वपूर्ण घोषणाएं इस प्रकार हैं।

गरीब कल्याण दिव्यांग पेंशन योजना

केंद्र सरकार द्वारा देश भर में लॉक-डाउन की स्थिति में  बुजुर्गों दिव्यांगों के लिए आने वाले 3 महीनों तक रु 1000 की अतिरिक्त पेंशन प्रदान करने का निर्णय लिया है। इसके तहत लाभार्थी राशि सीधे डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (DBT) के माध्यम से ट्रांसफर की जाएगी। 

दीनदयाल योजना की शुरुआत स्वयं सेवा समूह के लिए

केंद्र सरकार द्वारा महिला स्वयं सहायता समूह के अंतर्गत कार्यरत महिलाओं को ₹20 लाख तक का लोन उपलब्ध कराया जायेगा। इस योजना में कोरोना संकट के तहत संशोधन किया गया है अब इस योजना में ₹20 लाख तक का लोन उपलब्ध कराया जायेगा। पहले इसमें लोन की सीमा 10 लाख निर्धारित थी।

केंद्र सरकार देगी 3 माह का ईपीएफ

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार आने वाले तीन महीनो में इपीएफ कंट्रीब्यूशन करेगी। यह कंट्रीब्यूशन कर्मचारियों के EPF बैंक खाते में किया जायेगा। इसका लाभ उन सभी कंपनियों को मिलेगा जिनमें 100 या उससे अधिक कर्मचारी कार्य करते हैं तथा कर्मचारियों का वेतन कम से कम ₹15000 है।

एलपीजी बीपीएल गैस सब्सिडी योजना

राष्ट्रव्यापी लॉक-डाउन की स्थिति में केंद्र सरकार द्वारा हाल ही में 21 दिन का लॉक डाउन करने का निर्णय लिया गया है। इस लॉक-डाउन की अवधि में गरीबी रेखा से नीचे जीवन-यापन करने वाले परिवारों को तीन महीने तक मुफ्त गैस सिलेंडर उपलब्ध कराया जायेगा। इस योजना में लगभग 8.3 करोड़ परिवारों को लाभ पहुंचाया जायेगा।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में पंजीकरण कैसे करे?

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के द्वारा इस योजना के ऑनलाइन पंजीकरण के लिए किसी प्रकार का कोई मैन्युअल जारी नहीं किया गया है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के लिए कोई पंजीकरण प्रक्रिया निर्धारित नहीं है। देश के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना के अंतर्गत 2 रूपये प्रतिकिलो की दर से गेहू और 3 रूपये प्रतिकिलो की दर से चावल प्राप्त करना चाहते है तो वह राशन की दुकान पर जाकर अपने राशन कार्ड के ज़रिये प्राप्त कर सकते है।

इसके अतिरक्त उज्ज्वला योजना के तहत मुफ्त सिलेंडर प्राप्त करने एवं अन्य योजनाओ का लाभ भी पात्र नागरिको और परिवारों को घर बैठे प्रदान किये जाने की रूपरेखा तैयार की जा रही है। इस सम्बन्ध में वित्त मंत्रालय द्वारा आगे भी प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से दिशा-निर्देश करि किये जा सकते हैं। प्रधानमंत्री राशन सब्सिडी योजना मुख्य रूप से गरीब परिवारों को सब्सिडी पर राशन प्रदान करने के लिए शुरू की गयी है।

Important Download

यह भी पढ़े – COVID India Seva: Digital Grievance Solution, Real-Time Queries @CovidIndiaSeva

हम उम्मीद करते हैं की आपको प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न/राशन सब्सिडी योजना से सम्बंधित जानकारी जरूर लाभदायक लगी होंगी। इस लेख में हमने आपके द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालो के जवाब देने की कोशिश की है।

यदि अभी भी आपके पास इस योजना से सम्बंधित सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं। इसके साथ ही आप हमारी वेबसाइट को बुकमार्क भी कर सकते हैं।

25 thoughts on “प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना (PMGKY) ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म”

  1. अगर उज्बर में हमरा नाम ही ना हों तो किया करे bpl भी है पर रासन तो मिरता ही नी हमको मजदूरी करते थे लेकिन उन्होंने बो भी बंद हो गई अब किया करे सरकार भी लॉक daun हो गई कोन se mage

    Reply
  2. सर……हमारा रेशन कार्ड पिछले कुछ 6 महीनों से सर्वर लिंक के कारण बंद है तो क्या इस योजना का लाभ हम जैसे परिवार ले सकते क्या??? अगर इस योजना का लाभ हम ले सकते है तो हमें क्या करना पड़ेंगा.

    Reply
  3. Jaha dekho taha bas yahi dekhne ko mil raha hai ki inko itne rupay milenge itne inko leki mujhe or na hi mere maa ko ab tak 1 rupay ke bhi darsan hue ho
    Ha yaha ke amir log jo hai unko jarur mil raha hai ye sab par ham garibo ko nhi
    Pradhan mantri ji agar aap subidhae de rahe hai to ye bhi dekhiye ki kya mere garib bhai bahno ko ye mil bhi raha hai

    Reply
  4. Village asadgarh post nardoli district kasganj up sir hmare gaun ka dealer sabhi ko 5kg rashan kam deta h aur 1kg dal bhi nhi dee h kisee ko bhi sir kuchh karen main kya karun

    Reply
  5. sir mai PMUY labharthi hoo garibi ke karan maine kabhi cylender refill nahi karaya agency 184 rupees mang rahe hai aur mere khate me pm garib yojna ujjwala ka paisa bhi nahi aaya samadhan kare plz.

    Reply
  6. It’s actually a cool and helpful piece of info. I am
    glad that you shared this helpful information with us.

    Please stay us up to date like this. Thank you for sharing.

    Reply
  7. सर मेरा राशन कार्ड बना है अनतोदय वाला
    पर फ्री सलेनडर नही मिला है

    Reply

Leave a Comment